Luka Chuppi Movie Review : कॉमेडी के फुल डोज से भरी कार्तिक-कृति की 'लुका-छुपी' का पढ़ें रिव्यू

News State Bureau  | Reported By : Vikas Radheshyam |   Updated On : March 01, 2019 12:33:56 PM
Luka Chuppi में कार्तिक आर्यन और कृति सेनन (फोटो: Twitter)

Luka Chuppi में कार्तिक आर्यन और कृति सेनन (फोटो: Twitter) (Photo Credit : )

मुंबई:  

Luka Chuppi Movie Review: कार्तिक आर्यन और कृति सेनन की फिल्म 'लुका छुपी' आज (1 मार्च) को सिनेमाघरों में रिलीज हो गई है. 'लुका छुपी' एक कॉमेडी ड्रामा फिल्म है. कार्तिक और कृति की फिल्म लिव इन रिलेशनशिप पर बेस्ड है. चलिए, आपको इस रिव्यु के जरिए बताते हैं कि क्या यह फिल्म आपका मनोरंजन कर पाएगी या नहीं?

कहानी

फिल्म की कहानी मथुरा के रहने वाले पत्रकार गुड्डू (कार्तिक आर्यन) और उनके कैमरा मैन मित्र अब्बास (अपारशक्ति खुराना) से होती है. वहीं, उनके जिंदगी में रश्मि (कृति सैनन) की एंट्री होती है, जो खुद भी पत्रकार बनने का सपना सजाए होती है. गुड्डू को पहली नजर में ही रश्मि से प्यार हो जाता है और कहानी के आगे बढ़ते ही रशमि भी गुड्डू को अपना दिल दे बैठती है.

ये भी पढ़ें: #OneDay: अनुपम खेर ने क्यों कहा- 'नौकरी से रिटायर हुआ हूं, जिंदगी से नहीं...' ?

जब गुड्डू (कार्तिक) रश्मि (कृति) को शादी के लिए पूछता है तो रश्मि पहले लीव इन रिलेशनशिप में आने की शर्त रखती है. इसके बाद ही शुरू होती है, उनके प्यार की कहानी, जिसमे बेहद ड्रामा, इमोशन और सियापा से गुजारना पड़ता है... तो क्या गुड्डू रश्मि से शादी कर पाते हैं या नहीं? यह जानने के लिए आपको पूरी फिल्म देखनी होगी.

अभिनय

कार्तिक आर्यन और कृति सैनन ने इस फिल्म में बेहद शानदार अदाकारी की है. फिल्म में पंकज त्रिपाठी की कॉमेडी टाइमिंग आपको हंसने पर मजबूर कर देगी. वहीं, अपारशक्ति खुराना कार्तिक आर्यन के दोस्त का रोल निभा रहे हैं. सपोर्टिंग कास्ट फिल्म का मजबूत आधार स्तंभ साबित हुई है. सभी की कॉमिक टाइमिंग गजब की है.

निर्देशन

निर्देशक लक्ष्मण उतेकर ने अपनी फिल्म के जरिए लिव इन जैसे बेहद ही सामयिक विषय को बहुत ही खूबसूरती से उठाया है. फिल्म बहुत ही लाइट मोमेंट्स के साथ शुरू होती है. फर्स्ट हाफ में ज्यादा कुछ घटता नहीं, मगर सेकंड हाफ में कहानी कई मजेदार टर्न्स और ट्विस्ट के साथ आगे बढ़ती है. निर्देशक ने शादी और लिव इन के बहाने मोरल पुलिसिंग पर भी कटाक्ष किया है, मगर बहुत ही हल्के-फुलके अंदाज में. फिल्म जेंडर इक्वॉलिटी, कास्ट सिस्टम और छोटे शहर की सोच को भी छूती है.

ये भी पढ़ें: बेटी के TV डेब्यू की खबरों पर भड़कीं श्वेता तिवारी, सोशल मीडिया पर बचाई ये सच्चाई

संगीत

फिल्म का संगीत कई संगीतकारों ने मिलकर दिया है और उनका यह प्रयास सफल साबित हुआ है. फिल्म में 'कोका कोला', 'तू लौंग मैं इलाइची' समेत कई दमदार गाने हैं.

आप अगर अपने वीकेंड को कॉमेडी के रंग में रंगना चाहते हैं, तो इस फिल्म को मिस न करें.

First Published: Mar 01, 2019 12:30:01 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो