BREAKING NEWS
  • गाजियाबाद में बीजेपी नेता बीएस तोमर की गोली मारकर हत्या, इलाके में तनाव का माहौल- Read More »
  • राजधानी भोपाल में मॉब लिंचिंग, बच्चा चोरी के शक में भीड़ ने युवक को बेरहमी से पीटा- Read More »
  • शादी से नाखुश मां ने की अपनी ही बेटी को कोर्ट परिसर से अगवा करने की कोशिश, पुलिस पकड़कर ले गई थाने- Read More »

Dhadak Movie Review: जाह्नवी कपूर और ईशान खट्टर की क्यूट केमिस्ट्री जीत लेगी दिल, लेकिन रह गई ये कमी...

News State Bureau  |   Updated On : July 20, 2018 12:55 PM
जाह्नवी कपूर और ईशान खट्टर (फाइल फोटो)

जाह्नवी कपूर और ईशान खट्टर (फाइल फोटो)

रेटिंग
स्टार कास्ट
जाह्नवी कपूर, ईशान खट्टर, आशुतोष राणा
डायरेक्टर
शशांक खेतान
प्रोड्यूसर
करण जौहर, हीरू जौहर, अपूर्व मेहता
जॉनर
ड्रामा/रोमांस

मुंबई:  

जाह्नवी कपूर और शाहिद कपूर के ईशान खट्टर की मूवी 'धड़क' शुक्रवार को रिलीज हो गई है। इस फिल्म का दर्शकों को बेसब्री से इंतजार था, क्योंकि श्रीदेवी की बेटी जाह्नवी इस फिल्म से अपने करियर की शुरुआत कर रही हैं, जबकि ईशान की यह दूसरी फिल्म है। वहीं, 'हम्प्टी शर्मा की दुल्हनियां' और 'बद्रीनाथ की दुल्हनियां' जैसी फिल्में बना चुके डायरेक्टर शशांक खेतान से भी दर्शकों को काफी उम्मीदे हैं।

ये है फिल्म की कहानी

इस मूवी की कहानी शुरू होती है, राजस्थान के उदयपुर शहर से। पार्थवी (जाह्नवी कपूर) राज परिवार से ताल्लुक रखती हैं। उसके कॉलेज में साथ पढ़ने वाले मधुकर (ईशान खट्टर) को पहली नजर में ही पार्थवी से प्यार हो जाता है। दोनों के बीच इश्क परवान चढ़ता है। प्यार भरी नोंक-झोंक और हल्की-फुल्की कॉमेडी के साथ फिल्म की कहानी धीरे-धीरे आगे बढ़ ही रही होती है कि पार्थवी के पिता ठाकुर रतन सिंह (आशुतोष राणा) को इस बारे में पता चल जाता है। ईशान की जाति की वजह से ठाकुर रतन सिंह को उनका प्यार मंजूर नहीं होता है और इसका खामियाजा सभी को भुगतना पड़ता है।

ऐसे में पार्थवी और मुधकर उदयपुर से भाग जाते हैं। फिर मुंबई और नागपुर होते हुए कोलकाता में अपना आशियाना बसा लेते हैं। फिल्म का आखिरी हिस्सा आपको झकझोर देगा, लेकिन आगे की कहानी जानने के लिए आपको सिनेमाघर का रुख करना होगा।

ये भी पढ़ें: श्रीदेवी की बेटी का डेब्यू, नई जोड़ी का आगाज.. इसलिए देखने जाएं 'धड़क'

कलाकारों की अदाकारी

जाह्नवी कपूर की यह पहली फिल्म है, जबकि ईशान इसके पहले 'बियोन्ड द क्लाउड्स' में शानदार एक्टिंग कर चुके हैं। पहले बात करते हैं जाह्नवी की एक्टिंग की, क्योंकि फैंस उनकी तुलना श्रीदेवी से कर रहे हैं। जाह्नवी का किरदार मिजाज से जिद्दी और बेखौफ है, काफी हद तक उन्होंने अपने किरदार के साथ न्याय भी किया है, लेकिन फिल्म की शुरुआत में बेहद अपरिपक्व नजर आती हैं।

ईशान की बात करें तो उन्होंने साबित कर दिया है कि एक्टिंग के मामले में वह किसी एक्टर से कम नहीं हैं। गुस्सा, प्यार, कॉमेडी जैसे इमोशंस उन्होंने बखूबी दिखाए हैं। यह भी कह सकते हैं कि शाहिद कपूर के भाई के रूप में मिलने वाली पहचान को वह जल्द ही बदल देंगे। कई सीन्स में तो वह जाह्नवी की कमियों को भी पूरा करते दिखाई देते हैं। हालांकि, दोनों की क्यूट केमिस्ट्री आपको जरूर पसंद आएगी।

वहीं, ठाकुर रतन सिंह के रूप में आशुतोष राणा का जवाब नहीं है। उनके लिए यह किरदार निभाना आसान था, लेकिन खास बात यह है कि कम वक्त में भी वह दर्शकों पर अपनी छाप छोड़ने में कामयाब रहे हैं।

फिल्म का डायरेक्शन

'धड़क' मराठी ब्लॉकबस्टर मूवी 'सैराट' का रीमेक है। 4 करोड़ के बजट में बनी 'सैराट' 2016 में रिलीज हुई थी और बॉक्स ऑफिस पर कई रिकॉर्ड तोड़ते हुए 110 करोड़ रुपये का कलेक्शन किया था। नागराज मंजुले ने एक शानदार मूवी बनाई, जो दर्शकों की कसौटी पर खरी उतरी थी। इसका हिंदी रीमेक बनाने की कमान शशांक खेतान ने संभाली। वह आलिया भट्ट और वरुण धवन जैसे परिपक्व एक्टर्स के साथ 'हम्प्टी शर्मा की दुल्हनियां' और 'बद्रीनाथ की दुल्हनियां' जैसी हिट फिल्म बना चुके हैं। उन्होंने 'धड़क' के साथ भी पूरा न्याय किया है। राजस्थान के एक छोटे-से शहर में उन्होंने कहानी को खूबसूरती से पिरोया है।

ये भी पढ़ें: मीरा के साथ भाई ईशान खट्टर की 'धड़क' देखने पहुंचे शाहिद, रेखा-माधुरी भी रहीं मौजूद

जुबां पर चढ़ जाएंगे गानें

'धड़क' का संगीत जानी-मानी म्यूजिक कंपोजर की जोड़ी अजय-अतुल ने दिया है। दोनों 'सैराट' से जुड़े हैं, इसीलिए सभी गानों के हिंदी रीमेक को बखूबी बनाया गया है। 'झिंगाट', 'पहली बार' और 'धड़क' का टाइटल ट्रैक पहले ही लोगों की जुबां पर चढ़ चुका है।

खटकती हैं ये कमियां

- 'धड़क' की सबसे बड़ी कमी है, एक्टर्स का खराब राजस्थानी बोलना। कई बार तो ऐसा लगता है कि जाह्नवी और ईशान राजस्थानी बोलते-बोलते हरियाणवी बोलने लगते हैं। शशांक खेतान ने इस गलती को नजरअंदाज कर दिया, लेकिन यह बात दर्शकों को खटक रही है।

- शशांक ने इस फिल्म में पूरा फोकस सिर्फ जाह्नवी और ईशान पर किया है। उन्होंने आशुतोष राणा जैसे बेहतरीन कलाकार को भी स्क्रीन पर कम स्पेस दिया। उन्हें अन्य कलाकारों को भी थोड़ा ज्यादा समय देना चाहिए था।

- फिल्म का पहले भाग में जाह्नवी और ईशान की केमिस्ट्री को स्क्रीन पर काफी देर तक दिखाया गया, जिसे देखकर ऐसा लगता है कि सीन्स को खींचा जा रहा है। दूसरा भाग प्रिडिक्टेबल है। यह भी कह सकते हैं कि दोनों किरदार दर्शकों से जुड़ने में पूरी तरह से सफल नहीं हो पाए हैं।

- 'सैराट' फिल्म में भारत की जाति व्यवस्था पर फोकस किया गया था, जबकि 'धड़क' में जाह्नवी और ईशान की लव स्टोरी पर ज्यादा ध्यान दिया गया है।

क्यों देखने जाएं फिल्म?

- श्रीदेवी अपनी बेटी को बड़े पर्दे पर देखने के लिए बेताब थीं। फिल्म की स्क्रिप्ट चुनने से लेकर एक्टिंग की बारीकियां सिखाने तक, वह सब कुछ करती थीं। फैंस जाह्नवी में श्रीदेवी की छाप देखते हैं और यह उनकी पहली फिल्म है।

- पुराने जमाने से लेकर अब तक, फिल्म इंडस्ट्री में बहुत जोड़ियां बनी हैं। फिर चाहे वह शाहरुख खान-काजोल, रणबीर-कैटरीना हो या फिर वरुण धवन-आलिया भट्ट, फैंस रील लाइफ में जोड़ियों को पसंद करने लगते हैं और फिर उन्हें हमेशा साथ देखना चाहते हैं। जाह्नवी और ईशान की जोड़ी पहली बार बड़े पर्दे पर नजर आएगी।

- दूसरी तरफ 'हम्प्टी शर्मा की दुल्हनियां' और 'बद्रीनाथ की दुल्हनियां' जैसी फिल्म बनाने वाले डायरेक्टर शशांक खेतान ने इस मूवी का निर्देशन किया है। ट्रेलर में रोमांस, डांस, एक्शन, कॉमेडी और प्यार-मोहब्बत को शानदार तरीके से दिखाया गया है, इसीलिए इस फिल्म को देखने के लिए सिनेमाघर जाना तो बनता है...।

ये भी पढ़ें: ईशान-जाह्नवी की 'धड़क' से सोनम और अनिल कपूर दंग, दिया पहला रिव्यू

First Published: Friday, July 20, 2018 11:30 AM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Dhadak, Jhanvi Kapoor, Ishaan Khattar,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

अन्य ख़बरें

Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

वीडियो

फोटो