Lok Sabha Election 2019 : केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह के बारे में एक नजर

News State Bureau  |   Updated On : March 14, 2019 04:32:53 PM
केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह (फाइल फोटो)

केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

राधा मोहन सिंह का जन्म 1 सितंबर 1949 को हुआ था. वर्तमान में केंद्रीय कृषि मंत्री हैं. इनका संसदीय क्षेत्र पूर्वी चंपारण है. राधा मोहन सिंह 9वीं, 11वीं, 13वीं, 15वीं और 16वीं लोकसभा चुनाव में सांसद बने. वे 2006 से 2009 तक बिहार में बीजेपी के प्रदेशाध्यक्ष भी रहे. 2009 और 2014 में लगातार दो बार सासंद निर्वाचित हुए. छात्र राजनीति के बाद वे जनसंघ और बाद में बीजेपी से जुड़ गए. बीजेपी किसान मोर्चे से भी वे जुड़े रहे और कई किसान समितियों में शामिल हैं. उन्होंने अपनी शिक्षा बाबा साहिब भीमराव आंबेडकर बिहार यूनिवर्सिटी से प्राप्त की है. उनके पिता का नाम बैद्यनाथ सिंह और माता का नाम जय सुंदरी देवी है. उनका विवाह श्रीमती शांति देवी से हुआ. उनके एक बेटा और एक बेटी हैं.

यह भी पढ़ें - Lok Sabha Election 2019 : आइए जानते हैं सोनिया गांधी की संसदीय क्षेत्र रायबरेली के बारे में

2008 में हुए परिसीमन के बाद पूर्वी चंपारण संसदीय क्षेत्र मोतिहारी के नाम से जाना जाता था. शुरुआत में इस सीट पर कांग्रेस का कब्जा रहा है. आपातकाल के बाद हुए चुनाव में जनता पार्टी (JANTA PARTY) ने जीत दर्ज की थी. उसके बाद यह सीट बीजेपी (BJP) के लिए सुरक्षित हो गई. यहां सबसे पहले लोकसभा का चुनाव 1952 में हुआ था. उस चुनाव में कांग्रेस ने जीत दर्ज की थी. 1952 से लेकर 1971 तक इस सीट पर कांग्रेस का कब्जा रहा. कांग्रेस के विभूति मिश्रा को मोतिहारी की जनता लगातार 5 बार सांसद चुनी. 1975 में इंदिरा गांधी ने पूरे देश में आपातकाल लगा दिया. जिससे देश में कांग्रेस के प्रति जनता में आक्रोश था. इसका फायदा जनता पार्टी को मिला. 1977 में इस लोकसभा सीट पर जनता पार्टी को जीत मिली.

यह भी पढ़ें -Lok Sabha Election 2019 : आइए जानते हैं केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह के संसदीय क्षेत्र पूर्वी चंपारण के बारे में

1980 में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के कमला मिश्र मधुकर ने लाल सलाम को बुलंद किया. 1984 में कांग्रेस ने फिर से वापसी की. प्रभावति गुप्ता सांसद बनीं. 1989 में बीजेपी ने राधामोहन सिंह को चुनाव लड़ने का मौका दिया. राधामोहन सिंह पार्टी की उम्मीद पर खरा उतरते ही जीत दर्ज की. 1991 में कमला मिश्र ने फिर से सांसद चुने गए. 1996 में राधा मोहन सिंह ने फिर से कमल खिलाया. 1998 में राधा मोहन सिंह (AGRICULTURE MINISTER RADHA MOHAN SINGH).को आरजेडी की रमा देवी ने हरा दिया, लेकिन 1999 में राधा मोहन सिंह फिर से चुनाव जीत गए. 2004 में यहां का गणित बदल गया. आरजेडी के ज्ञानेंद्र कुमार ने राधा मोहन सिंह को हरा दिया. लेकिन परिसीमन के बाद इस सीट पर बीजेपी जीतती आ रही है. 2004 और 2009 के लोकसभा चुनाव में राधा मोहन सिंह ने जीत दर्ज की. 2014 में मोदी सरकार में उन्हें कृषि मंत्री बनाया गया.

First Published: Mar 14, 2019 04:32:44 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो