रोचक तथ्य

अन्य खबरें

लगातार उठापटक देखती रही है झारखंड के मुख्यमंत्रियों की कुर्सी

सन 2000 में अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार ने बिहार को दो हिस्सों में बांट दिया. एक हिस्सा बिहार ही रहा वहीं दूसरा हिस्सा झारखंड के रूप में जाना गया. नया राज्य के बनने के साथ ही वहां पर राजनीति भी बेहद तेज हो गई.

ADR Report- कैप्टन अभिमन्यु 170 करोड़ के मालिक, रोहतास सबसे अमीर

हरियाणा के विधानसभा चुनाव में ताल ठोक रहे प्रत्याशियों में करोड़पतियों का बोलबाला है. चुनाव में खड़े हुए 481 प्रत्याशी करोड़पति हैं. नामांकन का विश्लेषण करने वाली संस्था एडीआर ने हरियाणा चुनाव को लेकर अपनी रिपोर्ट जारी की है.

राेचक तथ्‍यः हरियाणा विधानसभा चुनाव, हथियारों के शौकीन नेताओं में सबसे ज्‍यादा कांग्रेसी

हरियाणा विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Election) में कुल 1158 उम्‍मीदवार ताल ठोंक रहे हैं. चुनाव मैदान में उतरे नेताओं का हथियारों का शौक जानकर आप हैरान रह जाएंगे.

हरियाणा के रण में देखें किस पार्टी ने दिया सबसे ज्‍यादा अनपढ़ों को टिकट

बीजेपी और कांग्रेस के एक तिहाई से ज्‍यादा उम्‍मीदवार ग्रेजुएट, सभी दलों ने LLB डिग्रीधारकों को दी तरजीह तो अनपढ़ों को भी दिया मौका.

महाराष्ट्र विधानसभा चुनावः नांदेड़ में 135 उम्मीदवार, यहां सबसे कम

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव (Maharashtra Assembly Election 2019) में इस बार कुल 5,534 उम्मीदवार ताल ठोंक रहे हैं.

हरियाणा विधानसभा चुनावः कैप्‍टन अभिमन्‍यु ही नहीं पत्‍नी और बच्‍चे भी गहनों से लदे

नारनौंद से चुनाव लड़ रहे बीजेपी नेता एवं प्रदेश के वित्त मंत्री कैप्टन अभिमन्यु की पूंजी 78 करोड़ बढ़ गई है.

हरियाणा विधानसभा चुनावः 12 चुनाव और 14 गुनी हो गई महिला प्रत्‍याशियों की संख्या

1967 में पहली बार हरियाणा में विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Election) हुए और कुल 8 मिला प्रत्‍याशी ही मैदान में मुकाबले के लिए खड़ी हुईं.

रोचक तथ्‍य: ये हैं हरियाणा विधान सभा चुनाव में सबसे कम वोटों से जीतने वाले उम्‍मीदवार

21 अक्‍टूबर को दोनों राज्‍यों में वोट डाले जाएंगे और 24 को इसके नतीजे तय करेंगे कि इस बार दीवाली किसकी मनेगी.

देश के सबसे लंबे समय तक PM बने रहने का इनके नाम है रिकॉर्ड, क्‍या नरेंद्र मोदी तोड़ पाएंगे

दुनिया के लोकतांत्रिक देशों का सिरमौर कहे जाने वाले भारत ने आजादी के बाद यानि वर्ष 1947 से लेकर 2019 तक देश को 14 प्रधानमंत्री दिए.

मोदी की TSuNaMo में खुद अपना रिकॉर्ड नहीं बचा पाए नरेंद्र मोदी, इस लिस्‍ट से हुए बाहर

लोकसभा चुनाव 2019 में मोदी की सुनामी (Tsunami) या यूं कहें सुनमो (TsuNaMo) से खुद पीएम नरेंद्र मोदी भी नहीं बच पाए.

प्रचंड जीत के बाद भी पीएम नरेंद्र मोदी इन नेताओं की नहीं कर पाए बराबरी

इस बार 17 उम्‍मीदवार ऐसे रहे जिन्‍हें मतदाताओं ने झोली भरकर वोट दिया. उनकी जीत का मार्जिन 5 लाख से ऊपर है. इनमें 15 सांसद बीजेपी के हैं.

न्यूज़ फीचर

मुख्य खबरें

वीडियो

फोटो