भोपाल में दिग्विजय सिंह की 'ड्यूटी' में तैनात पुलिस कर्मी गले में पहने नजर आए 'केसरिया' पट्टा, जानें फिर क्या हुआ

News State Bureau  |   Updated On : May 08, 2019 02:27:45 PM
भोपाल में  दिग्विजय सिंह के रोड-शो में सादी वर्दी में तैनात पुलिस

भोपाल में दिग्विजय सिंह के रोड-शो में सादी वर्दी में तैनात पुलिस (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  कुछ पुलिस कर्मियों ने माना उन्हें जबरन केसरिया पट्टा पहनने को कहा गया.
  •  डीआईजी भोपाल ने कहा पुलिसवाले नहीं पहन सकते किसी भी रंग का पट्टा.
  •  कंप्यूटर बाबा दे रहे हैं भोपाल से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह को समर्थन.

नई दिल्ली.:  

सरकारी मशीनरी के दुरुपयोग को लेकर एक बार फिर मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार घिर गई. बुधवार को भोपाल से कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह के रोड-शो में सादी वर्दी में पुलिस कर्मियों के गले में केसरिया पट्टा देखकर बवाल खड़ा हो गया. विवाद तब बढ़ा जब 'ड्यूटी' पर तैनात कुछ पुलिस कर्मियों ने स्वीकार किया कि उन्हें जबरन केसरिया पट्टा गले में डालने को कहा गया है.

यह भी पढ़ेंः कांग्रेस को बड़ा झटका, पीएम नरेंद्र मोदी व बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह के खिलाफ अर्जी पर SC का सुनवाई से इन्‍कार

पुलिस ने कहा मानक प्रक्रिया का ही पालन किया
हालांकि पुलिस अधिकारियों का यही कहना रहा कि सादी वर्दी में पुलिस कर्मियों की तैनाती एक मानक प्रक्रिया है. यही नहीं, वे यह भी तर्क देते नजर आए कि वास्तव में सादी वर्दी में पुलिस वालों की तैनाती शाम को बीजेपी प्रत्याशी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के रोड-शो को लेकर की गई ड्रिल थी. हालांकि विवाद बढ़ता देख भोपाल के डीआईजी को बयान जारी करना पड़ा कि पुलिस कर्मी किसी भी रंग का पट्टा घारण नहीं कर सकते हैं.

यह भी पढ़ेंः 'चौकीदार चोर है' पर राहुल गांधी ने फिर बिना शर्त मांगी माफी, SC से बोले- अब मामले को बंद कर दीजिए

कंप्यूटर बाबा दे रहे हैं दिग्विजय सिंह को समर्थन
गौरतलब है कि बुधवार को कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह को समर्थन देने के लिए साधू-संतों का जमावड़ा लगा था. दिग्विजय सिहं का मुकाबला बीजेपी की प्रज्ञा सिंह ठाकुर से है. ऐसे में कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह को समर्थन देने के लिए नामदेव त्यागी उर्फ कंप्यूटर बाबा खासतौर पर भोपाल में मौजूद थे. उन्होंने साथी साधू-संतों से कहा कि बीजेपी ने राम मंदिर को राजनीतिक अस्त्र बतौर इस्तेमाल कर समाज को सिर्फ बेवकूफ ही बनाया है.

यह भी पढ़ेंः 'चौकीदारों का गांव है, यहां चोरों का आना वर्जित है', किसने लगाए पीएम मोदी के 'गांव' में पोस्टर

शिवराज सिंह सरकार में राज्य मंत्री थे कंप्यूटर बाबा
सोमवार को कंप्यूटर बाबा ने कांग्रेस प्रत्याशी दिग्विजय सिंह की जीत के लिए यज्ञ करने की बात भी कही थी, हालांकि इन्हीं कंप्यूटर बाबा को भूतपूर्व शिवराज सिंह सरकार ने राज्य मंत्री का दर्जा दिया था. यह अलग बात है कि विधानसभा चुनाव में बीजेपी से टिकट नहीं मिलने पर कंप्यूटर बाबा ने बीजेपी के खिलाफ खुलेआम बगावत कर दी. बाद में लोकसभा चुनाव में वह कांग्रेस के समर्थन में उतर आए.

First Published: May 08, 2019 02:26:43 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो