BREAKING NEWS
  • Rupee Open Today 18th Oct 2019: अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया कमजोर, 3 पैसे नरमी के साथ खुला भाव- Read More »
  • क्‍या विधानसभा चुनावों में कांग्रेस ने मान ली हार? चुनाव प्रचार से सोनिया-राहुल ने क्‍यों पीछे खींच पांव- Read More »
  • पशुधन से बढ़ेगा देश का धन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) का नया मिशन- Read More »

वाराणसी से चुनाव लड़ेंगे नरेंद्र मोदी, कांग्रेस कार्यकर्ताओं की मांग- प्रियंका दें चुनौती

News State Bureau  |   Updated On : January 24, 2019 08:33:28 PM
वाराणसी से चुनाव लड़ेंगे मोदी

वाराणसी से चुनाव लड़ेंगे मोदी (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एक बार फिर से यूपी के वाराणसी सीट से ही चुनाव लड़ने जा रहे हैं. हालांकि फ़िलहाल यह साफ़ नहीं है कि नरेंद्र मोदी गुजरात के वडोदरा सीट से भी चुनाव लड़ेंगे या नहीं. बीजेपी सूत्रों का कहना है कि वड़ोदरा से चुनाव लड़ने को लेकर स्थिति बाद में साफ़ होगी. बता दें कि 2014 लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी दोनों सीटों से चुनाव लड़े थे और जीते भी थे.

वहीं दूसरी तरफ प्रियंका गांधी वाड्रा के सक्रिय राजनीति में उतरने के बाद कांग्रेस कार्यकर्ता मांग कर रहे हैं कि वाराणसी में पीएम मोदी के सामने उन्हें चुनावी मैदान में उतारा जाए. ज़ाहिर है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को उन्हें पार्टी महासचिव नियुक्त किया एवं उत्तर प्रदेश-पूर्व की जिम्मेदारी सौंपी है. कांग्रेस का तर्क है कि प्रियंका को वाराणसी से उतारने के बहाने न केवल पीएम मोदी को कड़ी चुनौती मिलेगी बल्कि हिंदी प्रदेश यूपी और बिहार में कांग्रेस को बड़ा जनाधार मिल सकता है.

गौरतलब है कि पाटीदार नेता हार्दिक पटेल भी वाराणसी से चुनाव लड़ने का मूड बना रहे हैं. ऐसे में 2019 लोकसभा चुनाव वाराणसी के लिए बेहद मज़ेदार होने वाला है.

बता दें कि 2014 लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल भी वाराणसी से नरेंद्र मोदी के ख़िलाफ़ चुनाव लड़े थे. तब केजरीवाल को नरेंद्र मोदी ने 3.37 लाख़ वोटो से शिकस्त दी थी. मोदी को 5 लाख़ 16 हज़ार 593 वोट मिले थे जबकि केजरीवाल को महज़ 1 लाख़ 79 हज़ार 739 वोट से संतोष करना पड़ा था. वहीं कांग्रेस, एसपी और बीएसपी की ज़मानत ज़ब्त हो गई थी. 

इस बार आम आदमी पार्टी ने पहले ही स्पष्ट कर दिया है कि दिल्ली पर ध्यान केंद्रित करना चाहते हैं इसलिए वो वाराणसी से चुनाव नहीं लड़ेंगे. इसी बीच राहुल गांधी की नई घोषणा ने इस बार के चुनाव को और भी रोमांचक बना दिया है.

पार्टी के एक बयान के अनुसार प्रियंका गांधी फरवरी के पहले हफ्ते में अपनी नयी जिम्मेदारी संभालेंगी. 47 वर्षीय नेता मुख्य हिंदीभाषी राज्य उत्तर प्रदेश में अपने भाई राहुल की मदद करेंगी जो 1980 के दशक के मध्य तक पार्टी का मजबूत गढ़ रहा था.

साल 2014 में वाराणसी से चुनाव लड़ने वाले कांग्रेस उम्मीदवार अजय राय प्रियंका गांधी को पूर्वी यूपी की कमान दिए जाने को लेकर ख़ुशी ज़ाहिर करते हुए कहा, "कांग्रेस के युवा कार्यकर्ता 'काशी की जनता करे पुकार, प्रियंका गांधी हो सांसद हमार" का नारा लगाते हुए लहुरबीर क्षेत्र में अभी से मार्च कर रहे हैं. कांग्रेस कार्यकर्ता उन्हें मंदिरो का शहर वाराणसी लोकसभा क्षेत्र से चुनाव जीताने के लिए अभी से कोशिश में लग गए हैं. अगर प्रियंका यहां से चुनाव लड़ेंगी तो उसका असर पड़ोसी राज्यों पर भी पड़ेगा.

ज़ाहिर है कि वाराणसी लोकसभा सीट पूर्वी उत्तर प्रदेश में है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की गोरखपुर संसदीय सीटें भी इसी क्षेत्र में आती हैं.

First Published: Jan 24, 2019 08:25:34 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो