BREAKING NEWS
  • Ayodhya Case : सुन्‍नी वक्‍फ बोर्ड ने कहीं और जगह मांगी जमीन - Read More »
  • घोर लापरवाही! अस्पताल में 5 घंटे तक बेड पर पड़ा रहा शव, आंखों को खाती रहीं चींट‍ियां- Read More »
  • छोटा राजन का भाई उतरा महाराष्ट्र के चुनावी रण में, इस पार्टी ने दिया टिकट - Read More »

लोकसभा चुनाव में हार के बाद आज 'इस्‍तीफों का शनिवार', राहुल गांधी, ममता बनर्जी के बाद अब इनकी बारी

DRIGRAJ MADHESHIA  |   Updated On : May 26, 2019 06:04:02 AM
राहुल-ममता-कमलनाथ

राहुल-ममता-कमलनाथ (Photo Credit : )

नई दिल्‍ली:  

लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजों के बाद आज इस्‍तीफों का शनिवार रहा. अपनी पार्टी को मिली करारी हार के बाद इस्‍तीफा देने की पेशकश का सिलसिला जारी है. राहुल गांधी ने जहां CWC की बैठक में अध्‍यक्ष पद छोड़ने की पेशकश की तो वहीं चुनाव के दौरान मोदी-शाह को बार-बार आंख दिखाने वाली पश्‍चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने इस्तीफे की पेशकश कर दी. शाम-शाम होते-होते खबर मध्‍य प्रदेश से कमलनाथ की आ गई. कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने राहुल गांधी को अपना इस्तीफा भेज दिया. बता दें उत्‍तर प्रदेश कांग्रेस अध्‍यक्ष राज बब्‍बर पहले ही राहुल को अपना इस्‍तीफा सौंप चुके हैं.

राहुल ने ली हार की जिम्‍मेदारी

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) में करारी हार के बाद कांग्रेस की वर्किंग कमेटी (Congress Working Committee) में मंथन जारी था. इसी बीच राहुल गांधी ने इस्तीफे (Rahul Gandhi Resign) की पेशकश की.राहुल गांधी ने लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) में हार की जिम्मेदारी लेते हुए अपनी मां सोनिया गांधी (Sonia Gandhi) के सामने इस्तीफे (Resign) की पेशकश की है. हालांकि इस्तीफे की पेशकश के साथ ही राहुल की मान-मुनव्वल भी शुरू हो गई.

सोनिया गांधी ने राहुल गांधी को इस फैसले को लेकर समझाया. केके वेणुगोपाल और मनमोहन सिंह ने राहुल गांधी से अपना इस्तीफा वापस लेने को कहा. राहुल गांधी ने जब इस्तीफा पेश किया तो कांग्रेस वर्किंग कमेटी (congress working committee) के सदस्यों ने पूछा कि क्या वह अध्यक्ष पद के लिए कोई और नाम प्रतावित करना चाहेंगे. बाद में प्रेस कांफ्रेंस में कांग्रेस नेता रणदीप सुरजेवाला ने कहा, 2019 के लोकसभा चुनाव परिणाम को कांग्रेस सरकार विनम्रता से स्वीकार करती है. CWC की बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने हार की जिम्मेदारी लेते हुए अध्यक्ष पद से इस्तीफा देने की पेशकश की लेकिन CWC ने यह कहते हुए उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया कि, कांग्रेस को राहुल की जरूरत है इसलिए उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं किया गया.

ममता के तेवर ढीले

ममता बनर्जी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि मैं मुख्यमंत्री के रूप जारी नहीं रखना चाहती. मैं अब मुख्यमंत्री नहीं रहूंगी. ममता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में इस्तीफे की पेशकश कर दी है. लोकसभा चुनाव में करारी हार के बाद ममता बनर्जी ने यह कदम उठाई हैं. वहीं बीजेपी ने इस चुनाव में बंगाल में बड़ी सेंध लगाई है. 42 में से 18 सीट पर शानदार जीत दर्ज की है. इस हार की वजह से ममता बनर्जी बौखला गई हैं.

लोकसभा चुनाव में बंगाल में तृणमूल कांग्रेस का प्रदर्शन अच्छा नहीं रहा. 2104 के लोकसभा चुनाव में टीएमसी ने 34 सीटों पर जीत दर्ज की थी. वहीं इस बार संख्या घटकर सिर्फ 22 सीटों पर ही जीत दर्ज कर सकी. वहीं बीजेपी ने 18 सीटों पर जीत दर्ज की. वाम दल तीसरे स्थान पर आया. बीजेपी का जानाधार बढ़ने से हैरान तृणमूल कांग्रेस खेमा बंट गया है. हालांकि, टीएससी का वोट प्रतिशत इस बार बढ़ा है. उसे 2014 के 39 प्रतिशत के मुकाबले इस बार 43 प्रतिशत वोट मिले.

और अब कमलनाथ भी

लोकसभा चुनाव 2019 (Lok Sabha Elections 2019) में बीजेपी को पूर्ण बहुमत मिला है. बीजेपी को 303 सीटें मिली हैं. एनडीए को कुल मिलाकर 353 सीटें मिली हैं. वहीं कांग्रेस को 52 सीटें मिली हैं. कांग्रेस की इस करारी है से पार्टी के अंदर कलह मची है.

यह भी पढ़ेंः नरेंद्र मोदी का नया NARA, जानिए क्‍या है इसका अर्थ

पार्टी के अंदर मची इस कलह के बाद सबसे पहले कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अपने इस्तीफे की पेशकश की. लेकिन कांग्रेस वर्किंग कमेटी ने राहुल गांधी का इस्तीफा स्वीकार नहीं किया. लेकिन अब मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष कमलनाथ ने राहुल गांधी को अपना इस्तीफा भेज दिया है.

First Published: May 25, 2019 08:23:45 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो