सीबीएसई बोर्ड परीक्षा को लेकर आई ये बड़ी अपडेट, अभी जानें नहीं तो हो जाएंगे परेशान

News State Bureau  |   Updated On : February 14, 2020 03:14:02 PM
सीबीएसई बोर्ड

सीबीएसई बोर्ड (Photo Credit : File Photo )

नई दिल्ली:  

सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board 2020) की परीक्षाएं 15 फरवरी 2020 से शुरू है. ऐसे में सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकंडरी एजुकेशन ने दसवीं-बारहवीं के छात्रों को लेकर एक अहम नोटिस जारी किया है. इस नोटिस में छात्रों को आंसर शीट पर रोल नंबर के इंस्ट्रक्शंस जारी किए गए हैं. बता दें कि इस बार रोल नंबर 7 डिजिट के बजाय 8 डिजिट के होंगे हालांकि आंसरशीट में रोल नंबर के लिए 7 कॉलम ही दिए होंगे. ऐसे में छात्र रोल नंबर को लेकर कन्फ्यूज हो सकते हैं कि पहली डिजिट को कॉलम से बाहर लिखा जाए या अंतिम डिजिट को. बता दें कि छात्रों के रोल नंबर 1 या 2 से शुरू होंगे. ऐसे में को रोल नंबर की पहली डिजिट कॉलम से बाहर लिखनी है उसके बाद दूसरी डिजिट से रोल नंबर को कॉलम में भरना है.

यह भी पढ़ें: CBSE Exam 2020: सीबीएसई बोर्ड 2020 परीक्षा कल से, इन बातों का रखें ख्याल

सीबीएसई बोर्ड के लेटेस्ट अपडेट के अनुसार, सीबीएसई बोर्ड ने इस बार रिजल्ट पर Fail या कंपार्टमेंट शब्द न लिखने के बारे में विचार विमर्श चल रहा है. माना जा रहा है कि इससे बच्चों पर बुरा मनोवैज्ञानिक असर पड़ता है जिस वजह से सीबीएसई ने अपने सभी Principal को पत्र लिखकर इस बारे में उनकी राय मांगी है. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि सीबीएसई 12वीं की परीक्षाएं 15 फरवरी 2020 से शुरू होकर 30 मार्च 2020 तक जबकि 10वीं की परीक्षाएं 15 फरवरी 2020 से शुरू होकर 20 मार्च तक चलेंगी.
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अभी तक सीबीएसई जो रिजल्ट जारी करता है उनमें उत्तीर्ण और अनुत्तीर्ण दोनों ही परीक्षार्थी शामिल होते हैं. इसके अलावा वे विद्यार्थी भी शामिल होते हैं जो एक या दो विषय में फेल हो जाते हैं और उन्हें कंपार्टमेंटल परीक्षा में शामिल होना होता है. लेकिन अब जो छात्र अनुत्तीर्ण हो जायेंगे, उन्हें अंक पत्र तो दिये जायेंगे लेकिन उसमें फेल या कंपार्टमेंट शब्द नहीं लिखा रहेगा.
यह भी पढ़ें: भारतीय रेलवे ने शेयर की दुनिया के सबसे ऊंचे रेल ब्रिज 'चिनाब' की तस्वीरें
इन बातों का रखें ख्याल-

  • एडमिट कार्ड ले जाना न भूलें.
  • एग्जाम सेंटर्स पर 30 - 45 मिनट पहले पहुंचें.
  • एग्जाम सेंटर्स पर बैठने से पहले देख लें कि आपके आस-पास कोई कागज का टुकड़ा वगैरह तो नहीं गिरा है.
  • अपना जेब चेक कर लें कि कहीं कोई कागज वगैरह तो नहीं पड़ा है.
  • इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स परीक्षा में ले जाना मना है.
  • परीक्षार्थी परीक्षा में जाने से पहले अपने एडमिट कार्ड पर अपने अभिभावक के हस्ताक्षर जरूर करा लें.
  • साथ ही एडमिट कार्ड की फोटोकॉपी करके भी एक घर पर रख लें, जिससे प्रवेश पत्र खोने की स्थिति में विकल्प मौजूद रहे.

CBSE Board Class 10th 2019 Analysis
आइये पिछले साल यानी की 2019 में सीबीएसई का रिजल्ट कैसा था-

  • 2019 में 18,27,472 छात्रों ने सीबीएसई बोर्ड की परीक्षा में शामिल हुए.
  • 2019 में सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board class 10th exams) में 10वीं की परीक्षाएं 21 फरवरी से 29 मार्च तक आयोजित की गईं.
  • CBSE क्लास 10 में 91.1 फीसदी छात्र सफल हुए.
  • CBSE क्लास 10 में कुल ऐसे बच्चे रहे जिन्होंने 500 में से 497 नंबर्स स्कोर किए. जबकि 25 ऐसे छात्र रहें जिन्होंने 500 में से 498 नंबर हासिल किया.
  • CBSE 10th में Siddhant Pengoriya और Divyansh Wadhwa ने टॉप किया
  • Siddhant Pengoriya ने 500 में से 499 नंबर्स स्कोर किए.
  • Siddhant Pengoriya लोटस वैली इंटर स्कूल, नोएडा के स्टूडेंट हैं.
  • Divyansh Wadhwa ने भी 500 में से 499 नंबर्स स्कोर किए.
  • Divyansh Wadhwa बाल भारती पब्लिक स्कूल, नोएडा के स्टूडेंट हैं.
  • CBSE 10th में लड़कियों का पासिंग परसेंटेज 92.45 रहा. जबकि कुल 90.14 लड़के पास हुए.
  • CBSE 10th की परीक्षा में कुल 1761078 छात्रों ने परीक्षा दी जिसमें से 1604428 छात्र सफल हुए.

यह भी पढ़ें: मोदी सरकार (Modi Government) को बड़ा झटका, जनवरी में थोक महंगाई (WPI) में भी बढ़ोतरी
CBSE Board Class 12th 2019 Analysis

आइये पिछले साल यानी की 2019 में सीबीएसई का रिजल्ट कैसा था-

  • 2019 में 18,27,472 छात्रों ने सीबीएसई बोर्ड की परीक्षा में शामिल हुए.
  • सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board class 12th exams) में 12वीं की परीक्षाएं 15 फरवरी से 3 अप्रैल तक आयोजित की गईं.
  • CBSE क्लास 12 में 83.4 % फीसदी छात्र सफल हुए.
  • इस साल सीबीएसई बोर्ड (CBSE Board class 12th exams) में 12वीं की परीक्षाएं 15 फरवरी से 3 अप्रैल तक आयोजित की गईं.
  • 12वीं की परीक्षा में डीपीएस गाजियाबाद की हंसिका शुक्‍ला और एसडी पब्‍लिक स्‍कूल,मुजफ्फरनगर की करिश्‍मा अरोड़ा ने TOP किया है. दोनों ने ही परीक्षा में 499 नंबर्स स्कोर किए.
  • सीबीएसई 12वीं बोर्ड में 88.70 फीसदी लड़कियां पास होने में सफल रहीं.
  • जबकि 2019 में लड़कों का पासिंग पर्सेंटेज 79.4 फीसदी रहा.
  • सीबीएसई के मुताबिक लड़कों की तुलना में 9 फीसदी अधिक लड़कियां पास हुईं हैं.
  • CBSE के 12वीं कक्षा के परीक्षा परिणामों में त्रिवेंद्रम क्षेत्र ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया है, और वहां 98.2 फीसदी विद्यार्थी उत्तीर्ण रहे हैं.
  • चेन्नई क्षेत्र में उत्तीर्ण प्रतिशत 92.93 रहा है, जबकि दिल्ली क्षेत्र का उत्तीर्ण प्रतिशत 91.87 रहा है.
  • इस बार 1.70 करोड़ कॉपी का मूल्यांकन सीबीएसई ने किया है इन कॉपी को 3 हजार मूल्यांकन केन्द्रों पर जांचा गया है.

यह भी पढ़ें: निर्भया केस: सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की राष्ट्रपति के फैसले के खिलाफ दायर दोषी विनय की अर्जी
सीबीएसई बोर्ड के बारे में (About CBSE Board)
केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) शीर्ष बोर्ड है जो भारत में माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक शिक्षा के विकास और प्रसार को देखता है. बोर्ड उस लंबे इतिहास का हिस्सा रहा है जिसने भारत में स्कूल-स्तरीय शिक्षा के विकास को देखा है. CBSE ने अंतिम आकार लिया जो आज 1952 में आज संचालित हो रहा है. वर्तमान में, CBSE, CBSE 10 वीं बोर्ड परीक्षा और CBSE 12 वीं बोर्ड परीक्षा जैसी वार्षिक परीक्षाओं का आयोजन करता है, साथ ही व्यावसायिक पाठ्यक्रमों के लिए प्रवेश परीक्षा भी आयोजित करता है.

First Published: Feb 14, 2020 02:35:24 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो