सरकार के बाद अब RBI की सफाई, कहा - देश में नहीं है नकदी संकट, नोटों सेे भरा है खजाना

आरबीआई ने कहा है कि देश में नकदी की कोई समस्या नहीं है। केंद्रीय बैंक की तरफ से जारी बयान में कहा गया है, 'आरबीआई के खजाने में पर्याप्त नकदी है। सभी चार छपाई घर में नोटों की छपाई के काम को तेज कर दिया गया है।'

  |   Updated On : April 17, 2018 08:25 PM
भारतीय रिजर्व बैंक (फाइल फोटो)

भारतीय रिजर्व बैंक (फाइल फोटो)

ख़ास बातें
  •  वित्त मंत्रालय के बाद देश के कुछ हिस्सों में जारी नकदी संकट को लेकर आरबीआई ने सफाई दी है
  •  आरबीआई ने कहा कि देश में नकदी की कोई समस्या नहीं है और खजाना नोटों से भरा हुआ है

नई दिल्ली :  

वित्त मंत्रालय के बाद देश के कुछ हिस्सों में जारी नकदी संकट को लेकर भारतीय रिजर्ब बैंक (आरबीआई) ने सफाई दी है।

आरबीआई ने कहा है कि देश में नकदी की कोई समस्या नहीं है। केंद्रीय बैंक की तरफ से जारी बयान में कहा गया है, 'आरबीआई के खजाने में पर्याप्त नकदी है। सभी चार छपाई घर में नोटों की छपाई के काम को तेज कर दिया गया है।'

बैंक ने कहा कि देश के कुछ हिस्सों में नकदी की समस्या की वजह एटीएम में पैसे डालने में आ रही दिक्कते हैं और साथ ही देश में एटीएम में नए नोट के मुताबिक ट्रे को बदलने का काम अभी भी जारी है।

आरबीआई ने कहा कि वह इन दोनों स्थितियों की निगरानी कर रहा है।

आरबीआई ने कहा कि वह स्थिति की निगरानी कर रहा है और उन इलाकों में नकदी की आपूर्ति तेज की जाएगी जहां अचानक से नकदी निकासी में तेजी आई है।

आरबीआई से पहले सरकार ने भी इस मामले में सफाई देते हुए इस समस्या को दूर करने का आश्वासन दिया है।

सरकार ने कहा कि वह 500 रुपये के नोटों की छपाई को पांच गुणा बढ़ाने का फैसला कर चुकी है।

आर्थिक मामलों के सचिव एस सी गर्ग ने कहा, 'हम रोजाना 500 रुपये के 500 करोड़ नोट छापते हैं। अब हमने इसे पांच गुणा बढ़ाने का फैसला लिया है। अगले कुछ दिनों में हम रोजाना 500 रुपये के 2500 करोड़ नोट छापेंगे। एक महीने में करीब 70,000-75,000 करोड़ नोटों की आपूर्ति होगी।'

इससे पहले सोमवार को महाराष्ट्र, बिहार और गुजरात से नोटों की कमी की बात सामने आई थी। वहीं कई दक्षिणी राज्यों में भी लोगों को नकदी संकट की स्थिति का सामना करना पड़ रहा है।

विपक्षी दलों की तरफ से इस मामले को उठाने के बाद वित्त मंत्री ने सफाई दी थी। ट्विटर पर जेटली ने कहा कि देश में पर्याप्त मात्रा में नकदी उपलब्ध है और वह बैंकों में भी मौजूद है।

नकदी संकट को थोड़े दिनों की समस्या बताते हुए जेटली ने कहा कि देश के कुछ हिस्सों में कुछ 'अचानक और असाधारण' वजह से संकट की स्थिति पैदा हुई है, जिसे जल्द ही दूर कर लिया जाएगा।

गौरतलब है कि 8 नवंबर 2016 को नोटबंदी के बाद देश भर में नकदी की किल्लत हो गई थी औऱ लोगों को घंटों बैंकों और एटीएम की कतार में खड़े रहने के बावजूद पैसे नहीं मिलते थे।
वहीं वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ला ने कहा कि सरकार ने नकदी संकट की समस्या के समाधान के लिए कमेटी का गठन किया है और इस मामले को 2-3 दिनों में सुलझा लिया जाएगा।

और पढ़ें: नोटबंदी के बाद नकदी संकट, 500 के नोटों की छपाई 5 गुणा बढ़ाएगी सरकार

First Published: Tuesday, April 17, 2018 08:11 PM

RELATED TAG: Rbi, Cash Crunch, Cash Crisis, Currency Shortage In Country, Finance Ministry,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो