त्‍योहार से पहले महंगाई की मार: टेलीफोन-स्मार्टवॉच जैसे सामान होंगे महंगे, जानें क्‍यों

वित्त मंत्रालय ने गुरुवार को दूरसंचार उपकरण समेत कई वस्तुओं पर कस्टम ड्यूटी बढ़ाकर 10 से 15 प्रतिशत कर दी है. ऐसा चालू खाता घाटे को कम करने के लिए किया गया है.

News State Bureau  |   Updated On : October 12, 2018 10:01 AM
अरुण जेटली (फाइल फोटो)

अरुण जेटली (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

वित्त मंत्रालय ने गुरुवार को दूरसंचार उपकरण समेत कई वस्तुओं पर कस्टम ड्यूटी बढ़ाकर 10 से 15 प्रतिशत कर दी है. ऐसा चालू खाता घाटे को कम करने के लिए किया गया है. वित्त मंत्रालय ने टेलीफोन सेट (सेल्यूलर और वायरलेस नेटवर्क दोनों शामिल है) पर कस्टम ड्यूटी 10 से 20 प्रतिशत तक इजाफा किया है.

वहीं स्मार्ट वॉच, ऑप्टिकल ट्रांसपोर्ट उपकरण, पैकेट ऑप्टिकल ट्रांसपोर्ट उत्पाद या स्विच (POTP या POTS), ऑप्टिकल ट्रांसपोर्ट नेटवर्क (OTN) उत्पादों, सॉफ्ट स्विचेस और वॉयस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल (VOIP) पर 10 प्रतिशत कस्टम ड्यूटी लगाई गई है.

और पढ़ें : stock market: शेयर बाजार में तगड़ी गिरावट, सेंसेक्‍स 760 अंक टूट कर बंद

कैरियर ईथरनेट स्विच, पैकेट ट्रांसपोर्ट नोड (PTN) उत्पादों, मल्टीप्रोटोकॉल लेबल स्विचिंग ट्रांसपोर्ट प्रोफाइल (MPLS-TP) उत्पादों और मल्टिपल इनपुट/मल्टिपल आउटपुट (MIMO) पर भी 10 प्रतिशत कस्टम ड्यूटी में इजाफा किया गया है.

बता दें कि कस्टम ड्यूटी बढ़ाने का ये दूसरा राउंड है. इससे पहले सरकार ने 26 सितंबर को फ्रिज और एसी समेत 19 लग्जरी आइटम्स पर 2.5 से 10 फीसदी तक बेसिक कस्टम ड्यूटी बढ़ाई थी. कस्टम ड्यूटी बढ़ाकर सरकार गैर जरूरी आइटम्स के इंपोर्ट को कम करना चाहती है.

और पढ़ें : डॉलर के मुकाबले रुपए में गिरावट, 9 पैसे टूटकर बंद

First Published: Friday, October 12, 2018 07:22 AM

RELATED TAG: Finance Ministry, Modi Government, Custom Duty, Customs Duty Hike, Telephone Set, Cellular Networks,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो