2जी मामले में बढ़ेंगी सरकार की मुश्किलें, 10,000 करोड़ रुपये का नोटिस भेजने की तैयारी में वीडियोकॉन

वीडियोकॉन टेलिकम्यूनिकेशन, 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन में सीबीआई अदालत से मिली क्लीन चिट के बाद सरकार को 10 हज़ार करोड़ रुपये का कंपनसेशन क्लेम भेजने की तैयारी कर रही है।

  |   Updated On : December 24, 2017 11:32 AM
2जी मामले 10,000 करोड़ रु का नोटिस भेजने की तैयारी में वीडियोकॉन (फाइल फोटो)

2जी मामले 10,000 करोड़ रु का नोटिस भेजने की तैयारी में वीडियोकॉन (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

2जी मामले में सीबीआई की विशेष अदालत के फैसले के बाद सरकार की मुसीबतें बढ़ सकती है। इस मामले में कंपनियों के रद्द किए गए आवंटित स्पेक्ट्रम के चलते अब कंपनियां सरकार को मुआवजे के लिए नोटिस थमा सकती है।

सूत्रों के मुताबिक वीडियोकॉन टेलिकम्यूनिकेशन, 2जी स्पेक्ट्रम आवंटन में सीबीआई अदालत से मिली क्लीन चिट के बाद सरकार को 10 हज़ार करोड़ रुपये का कंपनसेशन क्लेम भेजने की तैयारी कर रही है।

मामले से जुड़े एक शीर्ष अधिकारी ने कहा, 'वीडियोकॉन कम्यूनिकेशन सरकार को कम से कम 10 हज़ार करोड़ का कंपनसेशन स्यूट (मुआवजा नोटिस) भेजने की तैयारी कर रही है। नुकसान का अनुमानित आंकलन 10 हज़ार करोड़ रुपये से ज़्यादा का है और कंपनी दावा ठोंकने के लिए अंतिम रकम पर काम कर रही है।'

सीबीआई अदालत ने साल 2008 के 2जी स्पेक्ट्रम आंवटन मामले में 21 दिसंबर 2017 को मामले से जुड़े दूरसंचार मंत्री ए राजा समेत सभी आरोपियों को क्लीन चिट दे दी थी। 

मुकेश अंबानी का नया लक्ष्य, दुनिया की टॉप 20 कंपनियों में शुमार होगी रिलायंस

इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने साल 2012 में ए राजा के कार्यकाल में आंवटित किए गए 122 2जी स्पेक्ट्रम लाइसेंस रद्द कर दिए थे। जिसमें से 15 लाइसेंस वीडियोकॉन के थे। कंपनी ने दूरसंचार परमिट (अनुमति) खरीदने के लिए लगभग 1500 करोड़ रुपये का भुगतान किया था।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद वीडियोकॉन ने स्पेक्ट्रम नीलामी में भाग लिया और 1800 मेगाहर्ट्ज बैंड की परमिट हासिल किया, जिसे उस वक्त 2जी स्पेक्ट्रम कहा जाता था। कंपनी ने नवंबर 2012 में छह सर्किल बिहार, यूपी (ईस्ट), यूपी (वेस्ट), हरियाणा, मध्य प्रदेश और गुजरात के लिए 2,221.44 करोड़ रुपये खर्चे थे। 

GST की नई दरों के MRP स्टीकर लगाने की समयसीमा बढ़ी, सरकार रखेगी कारोबारियों पर नज़र

सूत्र ने जानकारी दी, 'वीडियोकॉन कम्यूनिकेशन्स को टेलीकॉम सर्विस के कारोबार के लिए 25,000 करोड़ रुपये का बिज़नेस लोन लेना पड़ा था। टेलीकॉम लाइसेंस के रद्द होने पर कंपनी को बड़ा नुकसान झेलना पड़ा था।'

इसके बाद कंपनी स्पेक्ट्रम नीलामी में ऊंची कीमतों के चलते कारोबार में नहीं टिक सकी थी और बाद में 2012 में खरीदे सभी स्पेक्ट्रम भारती एयरटेल को नीलाम किए गए थे।

यह भी पढ़ें: WATCH: विराट और अनुष्का मुंबई के लिए हुए रवाना, रिसेप्शन में शामिल होंगे खेल और बॉलीवुड जगत के सितारे

कारोबार से जुड़ी ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

First Published: Sunday, December 24, 2017 09:05 AM

RELATED TAG: 2g Spectrum Case After Clean Chit From Cbi Court Videocon Tele Plans To File Rs 10k Cr Damage Claim To Govt,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो