गाजियाबाद में एनकाउंटर का दौर जारी, बिल्डर एसपी सिंह की हत्या में शामिल एक आरोपी गिरफ्तार

बिल्डर एसपी सिंह की हत्या करने वाले एक बदमाश की मुखबिरी मिलने पर गाजियाबाद पुलिस ने जाल बिछाकर उसे पकड़ लिया।

  |   Reported By  :  Himanshu Sharma   |   Updated On : December 16, 2017 07:52 AM
एनकाउंटर में आरोपी घायल (न्यूज स्टेट)

एनकाउंटर में आरोपी घायल (न्यूज स्टेट)

गाजियाबाद:  

दिल्ली से सटे गाजियाबाद में लगातार दिन एनकाउंटर जारी है। शुक्रवार देर रात बिल्डर एसपी सिंह की हत्या करने वाले एक बदमाश की मुखबिरी मिलने पर गाजियाबाद पुलिस ने जाल बिछाकर उसे पकड़ लिया।

साहिबाबाद इलाके की वजीराबाद रोड के पास शालीमार गार्डन में पुलिस और बदमाशों का आमना-सामना हुआ। यहां पर सैफ नाम का बदमाश अपने एक साथी जखी के साथ बाइक पर आया था। लेकिन पहले से उसका इंतजार कर रही पुलिस ने उसे रोका तो सैफ ने पुलिस पर फायर कर दिया। पुलिस ने भी जवाबी फायर किया, जिसमें सैफ के पैर में गोली लगी।

हालांकि इस दौरान उसका साथी जखी फरार हो गया। पुलिस ने सैफ की पिस्टल बरामद कर ली है। सैफ को अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है। मौके पर उसकी बाइक भी मौजूद थी। मुठभेड़ में लोकेंद्र नाम का एक पुलिसकर्मी भी घायल हुआ है। वह भी अस्पताल में भर्ती है ।

बिल्डर एस पी सिंह की हत्या में वांटेड

घायल बदमाश 9 नवंबर को हुई शालीमार इलाके के बिल्डर एस पी सिंह की हत्या के मामले में वांटेड है। इसके कुछ साथी पहले ही पकड़े गए हैं। 2 दिन पहले भी इसका एक साथी मुश्ताक एनकाउंटर में पुलिस की गोली का शिकार हुआ था, और उसे पकड़ लिया गया था।

इसे भी पढ़ें: बीजेपी सांसद ने लगाई एसडीएम को फटकार, बोलीं- बाराबंकी में जीना मुश्किल कर दूंगी

योगी सरकार के आने के बाद बढ़े एनकाउंटर

राज्य के मुख्यमंत्री योगी ने कहा था कि बदमाशों को यमराज तक पहुंचाएंगे। ऐसा लगता है कि गाजियाबाद पुलिस मुख्यमंत्री के इस बयान को पूरा करने में जुट गई है। 

गाजियाबाद में पिछले 3 दिनों में 3 एनकाउंटर हुए हैं। जिनमें तीन बदमाश पकड़े गए हैं और इसमें तीन पुलिसकर्मी घायल हुए हैं।

गाजियाबाद के उप पुलिस कप्तान हरि नारायण सिंह से लगातार एनकाउंटर की वजह पूछे जाने पर उन्होंने कहा, 'पुलिस तो कोशिश करती है कि बदमाश को बिना गोली मारे पकड़ा जाए। लेकिन बदमाश पुलिस पर फायर कर देते हैं।'

साहिबाबाद की ही बात करें तो करीब 2 महीने में 5 एनकाउंटर यहां किए हो चुके हैं। जबकि पूरे गाजियाबाद में दर्जन भर से ज्यादा एनकाउंटर पुलिस कर चुकी है। 

हालांकि एक एनकाउंटर में पुलिस की थ्योरी पर सवाल भी उठे थे । लेकिन पुलिस का यह कहना है कि बदमाशों की असली जगह सलाखों के पीछे हैं, चाहे उसके लिए उन्हें गोली मारकर ही क्यों ना पकड़ा जाए। 

इसे भी पढ़ें: प्रद्युम्न केस: नाबालिग आरोपी की जमानत याचिका खारिज, सामने आई कई चौंकाने वाली बातें

First Published: Saturday, December 16, 2017 06:11 AM

RELATED TAG: Sp Singh Murder Case,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो