गाजियाबाद पुलिस ने कांस्टेबल की हत्या के 11 साल पुराने मामले को सुलझाया

एसएसपी ने कहा कि सात सितम्बर को अपराध शाखा ने शहर के पुराने बस स्टैंड से दो मामूली चोरों को हिरासत में लिया था।

  |   Updated On : September 08, 2018 08:44 PM
(सांकेतिक चित्र)

(सांकेतिक चित्र)

गाजियाबाद:  

गाजियाबाद पुलिस ने शनिवार को एक कांस्टेबल की हत्या के 11 साल पुराने मामले को सुलझाने का दावा करते हुए पांच लोगों को गिरफ्तार किया। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) वैभव कृष्णा ने कहा कि 2007 में कांस्टेबल इकरार लापता हो गए थे। पुलिस ने मामला दर्ज किया था लेकिन वह इकरार का पता लगाने में नाकाम रही थी। मामले को अपराध शाखा को सौंप दिया गया था।

एसएसपी ने कहा कि सात सितम्बर को अपराध शाखा ने शहर के पुराने बस स्टैंड से दो मामूली चोरों को हिरासत में लिया था।

आरोपी मेघू से पूछताछ में खुलासा हुआ कि उसने अपने भाई पवन और तीन साथियों के साथ मिलकर इकरार और उनके सहायक को मौत के घाट उतार दिया था क्योंकि कांस्टेबल ने 'उनसे पैसे वसूले थे।'

और पढ़ें: शीना बोरा मर्डर केस: CBI की स्पेशल कोर्ट ने खारिज की इंद्राणी की जमानत याचिका

एसएसपी ने कहा कि आरोपियों ने उनके शवों को तेज बहाव वाले नाले में फेंक दिया था। उन्होंने इकरार की घड़ी समेत सभी सामान अपने पास रख लिए थे।

उन्होंने कहा कि इकरार की घड़ी, एक देसी पिस्तौल और एक अन्य अपराध से जुड़ा एप्पल आईफोन बरामद किया गया है।

First Published: Saturday, September 08, 2018 08:32 PM

RELATED TAG: Ghaziabad, Murder, Ghaziabad Police, Uttar Pradesh,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो