BREAKING NEWS
  • दिनेश कार्तिक ने खुद ही मारी पैरों पर कुल्हाड़ी, किस्मत अच्छी थी BCCI ने कर दिया माफ- Read More »
  • खुशखबरी! कच्चे तेल में आग के बीच सस्ता हुआ सोना और चांदी, जानें आज का रेट - Read More »
  • विदेश मंत्री एस जयशंकर का बड़ा बयान- POK भारत का हिस्सा है- Read More »

यूपी पुलिस ने हनी ट्रैप जाल का किया पर्दाफाश, दो महिला समेत 4 गिरफ्तार

IANS  |   Updated On : August 10, 2018 11:35:01 PM

गाजियाबाद:  

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद जिले में लोगों को हनी ट्रैप में फंसाकर दुष्कर्म के मामले में फंसाने की धमकी देकर ब्लैकमेल करने वाले गिरोह का पदार्फाश करते हुए थाना इंदिरापुरम पुलिस ने गैंग के सरगना व दो महिलाओं समेत कुल चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपियों के पास से एक कार व मोबाइल फोन बरामद किया है। इस गैंग की महिलाएं युवकों को फोन कर पहले प्रेम जाल में फंसाती और फिर दुराचार जैसे मामले में फंसाने की धमकी देकर ब्लैकमेल करते और लाखों रुपये की वसूली करते। 

एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस गिरोह के सम्बन्ध में एक शख्स ने बीती 3 अगस्त को इंदिरापुरम थाने में आईपीसी की धारा 386/506 के तहत मुकदमा दर्ज कराया था।

जांच में जुटी पुलिस टीम ने शुक्रवार को चेकिंग के दौरान काला पत्थर रोड अभयखंड के पास से कार सवार गिरोह के सरगना हरकेश उर्फ देव निवासी चांदहट थाना चांदहट जनपद पलवल हरियाणा और निवेश सिरोही निवासी दलपतपुर मुक्तेश्वरा थाना औरंगाबाद जनपद बुलन्दशहर को गिरफ्तार किया। उन्होंने बताया कि इन दोनों के साथ दो महिलाओं को भी गिरफ्तार किया गया है। 

और पढ़ें: मध्य प्रदेश: मूक-बधिर छात्राओं से रेप के बाद टूटी शिवराज सरकार की नींद, छात्रावासों के हर महीने निरीक्षण का दिया निर्देश

पुलिस अधिकारी ने बताया कि पकड़ा गया गिरोह शातिर किस्म का गिरोह है, जो अमीर लोगों के मोबाईल नम्बर हालिस करता है। फिर उस नम्बर पर गैंग की महिला सदस्य काल करतीं है और धीरे-धीरे उनको अपने जाल में फंसाती है।

व्यक्ति के उनके झांसे में आने के बाद गिरोह के सदस्य और महिला उन लोगों को दुराचार जैसे मामले में फंसाने की धमकी देकर ब्लैकमेल करते हैं और उसके एवज में उनसे बड़ी रकम ऐंठ लेते हैं। आरोपी इतने शातिर है कि ब्लैकमेल नहीं होने वाले लोगों के खिलाफ धारा 376 के तहत दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करा देते थे और लाखों रुपये लेकर फैसला कर लेते थे। ये लोग पुलिस को झांसा देने के लिए मुकदमे में अपना फर्जी नाम पता दर्शाते थे। चारों आरोपियों को जेल भेजा गया है। 

First Published: Aug 10, 2018 11:33:38 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो