लड़की से गैंगरेप के 12 आरोपी गए जेल, सच आया सामने तो सजा पर उठे सवाल

News State Bureau  |   Updated On : July 29, 2019 12:20:44 PM
गैंगरेप के आरोपी रिहा होने पर खुशियां मनाते हुए.

गैंगरेप के आरोपी रिहा होने पर खुशियां मनाते हुए. (Photo Credit : )

ख़ास बातें

  •  साइप्रस घूमने आए थे इजरायली लड़के और ब्रिटिश लड़की.
  •  लड़की ने एक होटल में गैंगरेप करने का 12 लड़कों पर लगाया आरोप.
  •  प्रारंभिक जांच में पुलिस ने लड़कों को पाया निर्दोष. लड़की गिरफ्तार.

नई दिल्ली.:  

साइप्रस के एक होटल में दर्जन भर युवकों द्वारा गैंग रेप का आरोप लगाने वाली ब्रितानी मूल की लड़की को स्थानीय पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. 19 साल की लड़की ने साइप्रस के लोकप्रिय पर्यटक स्थल आइया नापा स्थित एक होटल में 12 इजरायली किशोरों पर गैंग रेप का आरोप लगाया था. हालांकि पुलिस ने प्रारंभिक जांच में गैंगरेप के आरोप को झूठा पाया और गिरफ्तार सात इजरायली किशोरों को रिहा कर दिया. 5 किशोर पहले ही अदालती सुनवाई में रिहा किया जा चुके थे.

यह भी पढ़ेंः कर्नाटक में फिर "खिला कमल', बीएस येदियुरप्‍पा ने विधानसभा में जीता विश्‍वास मत


झूठे आरोप लगाने में लड़की गिरफ्तार
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, पुलिस ने झूठे बयान देने के आरोप में 'पीड़ित लड़की' को रविवार को गिरफ्तार कर लिया. लड़की ने कहा था कि वह एक लड़के के साथ सहमति से संबंध बना रही थी, तभी उसके 11 अन्य दोस्त आ गए. सभी ने उसके साथ बारी-बारी रेप किया. लड़की ने कहा था कि आधी रात के वक्त वह लड़के के कमरे में गई थी, जहां गैंगरेप किया गया. सभी आरोपी लड़के इजरायली थे. पुलिस ने सभी को गिरफ्तार कर लिया था.

यह भी पढ़ेंः कुलदीप बिश्नोई के पास 200 करोड़ रुपये विदेशी धन, CBDT के छापे में हुआ खुलासा

अदालत ने किशोरों को किया रिहा
हालांकि गुरुवार को 5 आरोपी लड़कों को छोड़ दिया गया. बाद में अन्य सात को भी छोड़ दिया गया. वहीं, गिरफ्तार किए जाने के बाद अब लड़की को कोर्ट में पेश किया जाएगा. सभी 12 आरोपी लड़कों की उम्र 15 से 20 साल के बीच थी. पुलिस ने मामले में डीएनए जांच कराने का फैसला किया था. जेल से छूटने के बाद आरोपी लड़के खुशी मनाते देखे गए. बताया जाता है कि एक आरोपी लड़का यह साबित करने में सफल रहा था कि घटना के वक्त वह अपनी गर्लफ्रेंड के साथ था.

यह भी पढ़ेंः जेआरडी टाटा ने 5 दशक में 95 से ज्यादा कंपनी खड़ी करने का बनाया था कीर्तिमान

किशोरों ने अपनी रिहाई सच की जीत बताई
रिहाई पर छूटने के बाद इजरायली युवकों ने अंततः सच की जीत को श्रेय दिया. स्थानीय चैनल से बातचीत में लड़कों ने कहा कि लड़की को अब ऊपर वाला सजा देगा. उन्होंने कहा कि हम सभी इजरायली लोगों से अपील करते हैं कि वह यहां आते वक्त सावधानी बरतें और इस तरह की लड़कियों के फरेब में नहीं आएं. गौरतलब है साइप्रस का पर्यटन उद्योग मुख्यतः ब्रिटिश और इजरायली पर्यटकों से ही चलता है.

First Published: Jul 29, 2019 12:20:44 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो