कोहली की टीम इंडिया के खिलाड़ियों को नसीहत, विदेश में भी दिखाना होगा दम

पांच वनडे मैचों की सीरीज में गुरुवार को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज का पहला मैच हारने के बाद कोहली ने कहा, 'अभी तक, हमारी कोशिश अपने प्रदर्शन में निरंतरता बनाए रखने की है।'

IANS  |   Updated On : September 29, 2017 11:55 PM
विराट कोहली (फाइल फोटो)

विराट कोहली (फाइल फोटो)

ख़ास बातें
  •  ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज जीत चुकी है कोहली
  •  कोहली ने कहा- लगातार अच्छा प्रदर्शन करने की जरूरत
  •  कोहली के अनुसार टीम युवा है और इसलिए विदेशों में भी प्रदर्शन पर गौर करने की जरूरत

नई दिल्ली:  

टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने अपनी टीम से कहा है कि वह घर में मिली सफलता से संतुष्ट न हो। कोहली ने कहा कि टीम को घर में मिली सफलता को विदेश में दोहराने की जरूरत है।

पूर्व बल्लेबाज सुनील गावस्कर के हाल में टीम इंडिया की तारीफ पर जब कोहली से सवाल किया गया तो उन्होंने कहा, 'यह हमारे लिए अच्छी तारीफ है। हमारी क्षमताओं के लिए भारत के एक महान खिलाड़ी से इस तरह की तारीफ सुनना अच्छा लगता है क्योंकि उन्होंने बीते वर्षो में भारत की कई टीमें देखी हैं।'

कोहली ने कहा, 'लेकिन, हमें लंबा सफर तय करना है। टीम युवा है। हम अभी घर में खेल रहे हैं। अगर हम इस फॉर्म को उन जगहों पर जारी रख सकें जहां की स्थितियों से अपरिचित हों तो फिर हम खुश हो सकते हैं।'

यह भी पढ़ें: फीफा अंडर 17 वर्ल्ड कप: भारत की टीम में मणिपुर से 8 खिलाड़ी, राज्य सरकार सभी को देगी 5 लाख रुपये

बताते चलें कि सुनील गावस्कर ने हाल ही में कहा था कि मौजूदा टीम भारत की सबसे महान एकदिवसीय टीम बन सकती है।

पांच वनडे मैचों की सीरीज में गुरुवार को ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सीरीज का पहला मैच हारने के बाद कोहली ने कहा, 'अभी तक, हमारी कोशिश अपने प्रदर्शन में निरंतरता बनाए रखने की है।'

उन्होंने कहा, 'हम जो अभी कर रहे हैं, इससे हमें प्ररेणा मिलती है और लगातार इस तरह के प्रदर्शन करने का विश्वास मिलता है।'

भारत ने पिछले 18 महीनों में अपने घर में अभी तक अपने सभी विपक्षियों को मात दी, लेकिन यह बात घर से बाहर उसके प्रदर्शन के बारे में नहीं कही जा सकती।

भारतीय टीम को चौथे वनडे मैच में ऑस्ट्रेलिया ने 21 रनों से मात दी थी।

हार पर भारतीय कप्तान ने कहा, 'जब हार्दिक और केदार खेल रहे थे, हमें लगा कि यह उनके लिए सही परिस्थति है। इससे वह सीख सकते हैं कि मैच को कैसे निकालना है। उन्होंने साझेदारी करते हुए अच्छा काम किया।'

यह भी पढ़ें: सीओए ने बिहार क्रिकेट संघ से मांगा सबूत, कहा-लोढ़ा समिति से जुड़े कार्यों के दस्तावेज जमा कराये

कोहली ने कहा, 'इस मैच से हमने कुछ सकारात्मक बातें सीखीं, लेकिन यह पिच ऐसी थी कि यहां एक टीम को दूसरी टीम से बेहतर बल्लेबाजी करनी थी।'

कोहली ने अपने तेज गेंदबाज उमेश यादव और मोहम्मद शमी का बचाव किया। इन दोनों गेंदबाजों ने चौथे मैच में काफी रन खर्च किए थे। इन दोनों को भुवनेश्वर कुमार और जसप्रीत बुमराह के स्थान पर अंतिम एकादश में जगह मिली थी।

कोहली ने कहा, 'हम सीरीज पहले ही जीत चुके हैं और ऐसे में आपको बाकी खिलाड़ियों को भी मौका देना होता है। आपको अपनी बेंच स्ट्रेंथ को परखना होता है, साथ ही आपको खिलाड़ियों को समय देना होता है।'

यह भी पढ़ें: मुंबई भगदड़: पिता से बेटी के आखिरी शब्द, 'पापा आप आगे जाइए, मैं आ जाऊंगी'

कोहली ने कहा, 'मेरा मानना है कि उमेश ने अच्छी गेंदबाजी की, शमी ने भी अच्छी गेंदबाजी की। उमेश ने चार विकेट लिए। यह विकेट बल्लेबाजों के लिए था।'

कोहली के मुताबिक, 'आपके गेंदबाजों का हर दिन अच्छा नहीं होता। आप कुछ कोशिश करते हैं, कुछ पाना चाहते हैं। अगर वह काम नहीं करता तो दूसरी योजना बनानी पड़ती है और दोबारा कोशिश करनी होती है। यही मैं और पूरी टीम मानती है।'

First Published: Friday, September 29, 2017 11:45 PM

RELATED TAG: Virat Kohli, India Vs Australia, Team India,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो