INDvsAUS: 5 हजारी क्लब में शामिल हुए चेतेश्वर पुजारा, राहुल द्रविड़ के साथ बना अजब इत्तेफाक

इस आंकड़े को छूते ही भारत की नई वॉल चेतेश्वर पुजारा (Cheteswer Pujara) की तुलना पुरानी वॉल राहुल द्रविड़ से की जाने लगी और ऐसा करते ही एक दुर्लभ इत्तेफाक का खुलासा हुआ.

News State Bureau  |   Updated On : December 07, 2018 09:42 AM
चेतेश्वर पुजारा (Cheteswer Pujara) और राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid)

चेतेश्वर पुजारा (Cheteswer Pujara) और राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid)

नई दिल्ली:  

भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच एडिलेड में खेले जा रहे पहले टेस्ट मैच में टीम इंडिया की पहली पारी समाप्त हो गई है. पहली पारी में जहां भारतीय पारी ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाजों के सामने लड़खड़ाते हुए नजर आ रही थी वहीं भारत की नई दीवार चेतेश्वर पुजारा (Cheteswer Pujara) ने मुश्किल समय में क्रीज पर टिककर भारत के लिए 123 रनों की पारी खेली और टीम इंडिया को 250 रनों के सम्मानजनक स्कोर पर ला खड़ा कर दिया. चेतेश्वर पुजारा (Cheteswer Pujara) ने ऑस्ट्रलिया में अपना पहला और करियर का 16वां शतक जड़ा, इस दौरान उन्होंने अपने टेस्ट करियर के 5000 रन भी पूरे किये.

इस आंकड़े को छूते ही भारत की नई वॉल चेतेश्वर पुजारा (Cheteswer Pujara) की तुलना पुरानी वॉल राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) से की जाने लगी और ऐसा करते ही एक दुर्लभ इत्तेफाक का खुलासा हुआ.

चेतेश्वर पुजारा (Cheteswer Pujara) ने यहां तक पहुंचने के लिए 108 पारियां खेलीं. यह भारत की ओर से पांचवां सबसे तेज आंकड़ा है. पांच हजार रन पूरे करते ही चेतेश्वर पुजारा (Cheteswer Pujara) की राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) के साथ तुलना फिर शुरू हो गई. चेतेश्वर पुजारा (Cheteswer Pujara) भी राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) की तरह तीसरे नंबर पर बल्लेबाजी करते हैं और यह भी संयोग है कि राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने भी 108 पारियों में ही अपने 5000 टेस्ट पूरे किए थे.

और पढ़ें: IND vs AUS 1st Test: टेस्ट क्रिकेट में 5000 रन बनाने वाले 12वें भारतीय बने पुजारा, लगाया 16वां शतक

इतना ही नहीं जब आंकड़ों को और खंगाला गया तो पता चला कि राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) और चेतेश्वर पुजारा (Cheteswer Pujara) दोनों ने ही टेस्ट क्रिकेट में अपने 3000 रन (67 पारियों), 4000 रन (84 पारियों) में पूरे किए.

गौरतलब है कि भारत के लिए सबसे तेज 5000 टेस्ट रन पूरे करने की बात है तो सुनील गावसकर 95 पारियों के साथ टॉप पर हैं. वहीं वीरेंदर सहवाग 99, सचिन तेंदुलकर 103 और विराट कोहली 105 पारियों, का नंबर इसके बाद आता है.

वहीं चेतेश्वर पुजारा (Cheteswer Pujara) ने मैच के बाद संवाददाता सम्मेलन में कहा, 'मैं इस पारी को टेस्ट में अपनी शीर्ष-5 पारियों में रखता हूं. मैं नहीं कह सकता कि यह सर्वश्रेष्ठ थी. मेरी टीम के खिलाड़ियों ने मेरी पारी को काफी सराहा और कहा कि यह मेरी सर्वश्रेष्ठ पारियों में से एक है.'

चेतेश्वर पुजारा (Cheteswer Pujara) ने कहा, 'तीसरा सत्र मुश्किल था. लेकिन मैं सेट था और अपने शॉट खेल सकता था. हमने सात विकेट खो दिए थे. मैं और अश्विन अच्छा खेल रहे थे और हमारे बीच साझेदारी भी अच्छी हो रही थी. जब अश्विन का विकेट गिरा तो मुझे लगा कि मुझे तेजी से रन बनाने होंगे. मैं जानता था कि इस विकेट पर मैं किस तरह के शॉट खेल सकता हूं. मैं दो सत्र खेल चुका था. मौसम को देखते हुए हालांकि तीसरा सत्र मुश्किल था. मौसम गर्म थी हालांकि हम भारत में इस तरह के मौसम के आदि हैं.'

और पढ़ें: Watch Video: देखें कैसे उस्मान ख्वाजा के इस शानदार कैच ने विराट कोहली को भेजा पवेलियन  

चेतेश्वर पुजारा (Cheteswer Pujara) रन आउट होकर पवेलियन लौटे. उन्हें इस बात की निराशा है लेकिन चेतेश्वर पुजारा (Cheteswer Pujara) ने कहा कि उनके लिए वह रन लेना जरूरी था. 

चेतेश्वर पुजारा (Cheteswer Pujara) के मुताबिक, 'रन आउट होना निराशाजनक था लेकिन मुझे वह एक रन लेना पड़ा क्योंकि सत्र की आखिरी दो गेंदें बची थीं. मुझे लगा था कि मुझे स्ट्राइक पर रहना चाहिए.'

उन्होंने कहा, 'मैं ईमानदारी से कहूं तो पहले दो सत्र में हम अच्छी बल्लेबाजी कर सकते थे. उन्होंने भी अच्छी गेंदबाजी की. मैं जानता था कि मुझे धैर्य के साथ खेलने की जरूरत है और खराब गेंद का इस्तेमाल करना है. उन्होंने भी अच्छी जगहों पर गेंदबाजी की, लेकिन हमारा ऊपरी क्रम अच्छी बल्लेबाजी कर सकता था. हम गलतियों से सीखेंगे.'

चेतेश्वर पुजारा (Cheteswer Pujara) का मानना है कि भारत का यह स्कोर अच्छा है जो आस्ट्रेलिया के परेशानी में डाल सकता है क्योंकि विकेट पर बल्लेबाजी करना आसान नहीं है. 

और पढ़ें: IND vs AUS: टेस्ट सीरीज में पहली बार जीत के सपने को पूरा कर सकती है भारतीय टीम 

उन्होंने कहा, 'मैं कहूंगा कि यह अच्छा स्कोर है क्योंकि विकेट में अच्छी खासी स्पिन है. हमारे पास अश्विन हैं. यह बल्लेबाजी के लिए आसान विकेट नहीं है. पहले दो सत्रों में मैं गेंदबाजी कर रहा था तो पता चला कि यह बल्लेबाजी के लिए आसान विकेट नहीं है. मैं गेंदबाजों से अपना अनुभव साझा करूंगा.'

चेतेश्वर पुजारा (Cheteswer Pujara) के बारे में अक्सर कहा जाता है कि वह विदेशों में अच्छी बल्लेबाजी नहीं कर पाते हैं और भारत में ही अधिकतर रन बनाते हैं. 

इस पर चेतेश्वर पुजारा (Cheteswer Pujara) ने जबाव देते हुए कहा, 'मेरे लिए यह अच्छी पारी रही है. यहां मैं कहना चाहूंगा कि लोग बाग कहते हैं कि मैंने भारत में ज्यादा रन बनाए हैं, लेकिन आपको साथ ही यह देखना होगा कि हमने भारत में ज्यादा टेस्ट भी खेले हैं. ऐसे में जाहिर सी बात है कि मैं भारत में ज्यादा रन बनाऊंगा. एक समय था जब मैं विदेशों में अच्छा नहीं कर रहा था, लेकिन मुझे अभी भी लगता है कि मैं हर परस्थिति में अच्छा कर सकता हूं. मुझे काउंटी क्रिकेट खेलने से फायदा हुआ है.'

Watch Video: IND vs AUS: एडिलेड में जीत के साथ इतिहास बदलने उतरेगी विराट सेना

First Published: Friday, December 07, 2018 07:05 AM

RELATED TAG: India Vs Australia, Cheteshwar Pujara, Cheteshwar Pujara 5000, Cheteshwar Pujara Record, Cheteshwar Pujara Cricket, Rahul Dravid, India Vs Australia 1st Test,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो