श्रीसंत के काउंटी क्रिकेट खेलने के खिलाफ बीसीसीआई, SC ने कहा- जल्द करें फैसला

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने मंगलवार को पूर्व टेस्ट गेंदबाज शांताकुमारन श्रीसंत की अजीवन प्रतिबंध को हटाने की अपील का विरोध किया है।

  |   Updated On : May 15, 2018 09:19 PM
शांताकुमारन श्रीसंत (IANS)

शांताकुमारन श्रीसंत (IANS)

नई दिल्ली:  

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने मंगलवार को पूर्व टेस्ट गेंदबाज शांताकुमारन श्रीसंत की अजीवन प्रतिबंध को हटाने की अपील का विरोध किया है।

श्रीसंथ ने काउंटी क्रिकेट खेलने के लिए बीसीसीआई से आजवीन प्रतिबंध में छूट मांगी थी।

सर्वोच्च अदालत में बीसीसीआई की तरफ से दलील देते हुए सीनियर वकील पराग त्रिपाठी ने मुख्य न्यायाधीश दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली पीठ को बताया कि बोर्ड ने आईपीएल 2013 स्पॉट फिक्सिंग मामले में श्रीसंत को बरी किए जाने फैसले के खिलाफ अपील की है। 

पराग ने अदालत को बताया कि जांच में पाया गया था कि श्रीसंत सट्टेबाजों के संपर्क में थे। त्रिपाठी ने कहा कि यह सिर्फ कानून का मसला नहीं है बल्कि बीसीसीआई के नियमों का भी सवाल है। 

वहीं श्रीसंत की तरफ से दलील दे रहे सीनियर वकील सलमान खुर्शीद ने पूर्व गेंदबाज को शानदार क्रिकेट खिलाड़ी बताया और अदालत से अपील करते हुए उन्हें इंग्लैंड में बाकी बचे तीन महीनों के लिए काउंटी क्रिकेट खेलने की इजाजत देने की मांग की है। 

शीर्ष अदालत ने दिल्ली उच्च न्यायालय से कहा कि वह उसके समक्ष तीन महीने से श्रीसंत को बरी करने के खिलाफ की गई अपील को जुलाई के अंत तक खारिज करे। अदालत ने कहा कि वह खिलाड़ी के क्रिकेट खेलने की उत्सुकता को समझती है। 

दिल्ली पुलिस ने आईपीएल-2013 में श्रीसंत की टीम राजस्थान रॉयल्स के साथी अजित चंडिला और अंकित चव्हाण को गिरफ्तार किया था।

श्रीसंत ने इसके बाद केरल उच्च न्यायालय के बीसीसीआई द्वारा उन पर लगाए गए अजीवन प्रतिबंध को बनाए रखने के खिलाफ सर्वोच्च न्यायालय में अपील की थी। 

और पढ़ें: IPL 2018: मैच के बाद धोनी को मिला 'खास' सैल्यूट, वायरल हुआ ये वीडियो

First Published: Tuesday, May 15, 2018 09:11 PM

RELATED TAG: Sreesanth, County Cricket, Supreme Court, Indian Premier League, Ipl,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो