बीसीसीआई ने नाडा से क्रिकेटरों के डोप टेस्ट की मांग ठुकराई

जौहरी ने चिट्टी में लिखा, 'यहां इसका जिक्र करना जरूरी है कि बीसीसीआई राष्ट्रीय खेल महासंघ नहीं है। साथ ही नाडा को घरेलू या अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंटों में भारतीय क्रिकेटरों के डोपा जांच का अधिकार नहीं है।'

  |   Updated On : November 10, 2017 05:22 PM
बीसीसीआई (फाइल फोटो)

बीसीसीआई (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने भारत की एंटी-डोपिंग बॉडी नाडा से क्रिकेटरों की जांच के प्रस्ताव ठुकरा दिया है।

नाडा को 8 नवंबर के प्रमुख नवीन अग्रवाल को लिखी चिट्ठी में बीसीसीआई सीईओ राहुल जौहरी ने साफ किया है कि नाडा को क्रिकेटरों की जांच करने की जरूरत नहीं है, क्योंकि बोर्ड का डोपिंग-रोधी सिस्टम मजबूत है। साथ ही बीसीसीआई ने यह भी हवाला दिया है कि वह नेशनल स्पोर्ट्स फेडरेशन (एनएसएफ) नहीं है।

जौहरी ने चिट्टी में लिखा, 'यहां इसका जिक्र करना जरूरी है कि बीसीसीआई राष्ट्रीय खेल महासंघ नहीं है। साथ ही नाडा को घरेलू या अंतर्राष्ट्रीय टूर्नामेंटों में भारतीय क्रिकेटरों के डोपा जांच का अधिकार नहीं है।'

यह भी पढ़ें: वीरेंद्र सहवाग को नई जिम्मेदारी, नाडा के एंटी-डोपिंग पैनल के बने सदस्य

बीसीसीआई ने अपने जवाब में सुप्रीम कोर्ट के प्रशासकीय समिति के निर्देशों का भी हवाला दिया है।

बीसीसीआई ने साथ ही कहा है कि वह स्वायत्त बॉडी है और अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) से सम्बद्ध है। बीसीसीआई के मुताबिक, इसलिए वह केवल आईसीसी के नियमों का पालन करने के लिए बाध्य है।

जौहरी ने नाडा के साथ-साथ खेल सचिव को भी चिट्टी लिखकर जवाब भेजा है, जिन्होंने ऑक्टूबर में बीसीसीआई को नाडा के साथ सहयोग करने को कहा था।

यह भी पढ़ें: 'पद्मावती' की रिलीज के खिलाफ दायर याचिका पर सुनवाई से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

First Published: Friday, November 10, 2017 05:14 PM

RELATED TAG: Bcci, Nada, Supreme Court,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो