BREAKING NEWS
  • Aus Vs Pak: पांच बार की विश्‍व चैंपियन ऑस्ट्रे‍लिया का मुकाबला पाकिस्‍तान से थोड़ी देर में- Read More »
  • अलवर रेप और हत्‍या मामला : पॉक्‍सो कोर्ट ने आरोपी को सुनाई सजा-ए-मौत- Read More »
  • Bharat Box Office Collection Day 1: सलमान खान की 'भारत' ने बॉक्स ऑफिस पर ऐसे मचाया धमाल, पाए इतने करोड़- Read More »

अब केंद्र करेगा नक्सल हिंसा से विस्थापित आदिवासियों की घर वापसी का रास्ता तय

News State Bureau  | Reported By : आदित्य |   Updated On : May 17, 2019 10:52 AM

नई दिल्ली:  

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के दक्षिण बस्तर में 2005-06 में नक्सली हिंसा और इसके विरोध में उठे सलवा जुड़ूम आंदोलन के दौरान पड़ोसी राज्यों में विस्थापित हुए आदिवासियों का मामला केंद्र सरकार तक पहुंच गया है. विस्थापितों की छत्तीसगढ़ में वापसी की कोशिशों में लगी एक संस्था ने 623 विस्थापित आदिवासी परिवारों की सूची केंद्रीय आदिम जाति कल्याण (ट्राइबल) मंत्रालय को सौंपी है. इसके बाद केंद्र सरकार ने सूची में शामिल परिवारों की पहचान करने, उन्होंने किन परिस्थितियों में पलायन किया, क्या वे वापस बस्तर जाना चाहते हैं, आदि तथ्यों की जांच करने को कहा है. आदिवासियों (Tribals) को वनाधिकार कानून के तहत वापस उनके मूल गांवों में लाने की कोशिश की जाएगी.

यह भी पढ़ें- गर्भवती नक्सली को जंगल में छोड़कर चले गए साथी, पुलिस ने दिखाया मानवीय चेहरा

बस्तर (Bastar) के तीन जिलों दंतेवाड़ा, सुकमा और बीजापुर में सलवा जुड़ूम आंदोलन का प्रभाव रहा. सुकमा और बीजापुर जिलों की सीमा तेलंगाना से जुड़ी है. जुड़ूम के दौरान नक्सलियों ने बदला लेने के लिए आदिवासियों पर हमले किए. कोंटा इलाके के दरभागुड़ा में जुड़ूम समर्थकों से भरा ट्रक उड़ा दिया था. एर्राबोर समेत अन्य जुड़ूम कैंपों पर हमले किए.

यह भी पढ़ें- नक्सली हमले में मारे गए विधायक भीमा मंडावी की पत्नी बोलीं- 'पति के सपनों को पूरा करने के लिए चुनाव लड़ूंगी'

जुड़ूम समर्थक भी इस दौरान अंदरूनी गांवों में जाकर ग्रामीणों को परेशान करते थे. दो पाटों के बीच फंसे आदिवासियों ने तब बॉर्डर पार आंध्र और तेलंगाना (Telangana) के जंगलों में शरण ली. पड़ोसी राज्यों में बस्तर के कितने विस्थापित हैं, इसका सही आंकड़ा न छत्तीसगढ़ के पास है न तेलंगाना और आंध्र सरकार के पास. केंद्रीय ट्राइबल मंत्रालय के इस मामले में दखल से अब विस्थापितों की घर वापसी का रास्ता तय हो सकता है.

यह वीडियो देखें- 

First Published: Friday, May 17, 2019 10:52 AM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Chhattigarh, Chhattigarh Tribals, Displaced Tribals, Bastar, Sukma, Bijapur, Central Government, Naxal Violence,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

अन्य ख़बरें

Newsstate Whatsapp

न्यूज़ फीचर

वीडियो

फोटो