BREAKING NEWS
  • Jharkhand Poll: पहले चरण की 13 सीटों में से इन 5 सीटों पर दिलचस्प होगा मुकाबला- Read More »
  • Srilanka Presidentia Election: भारत के लिए राहत की खबर, पूर्व रक्षा मंत्री गोटाबया राजपक्षे ने जीता - Read More »
  • VIRAL VIDEO : विराट कोहली से मिलने के लिए कैसे बाड़ फांद गया फैन, यहां देखिए- Read More »

जानें अपने अधिकार

अन्य खबरें

जानें अपने अधिकार: परिवार देगा रोटी, कपड़ा, मकान क्योंकि भरण-पोषण आपका हक़

क्या आपको पता है भरण-पोषण के अधिकार के तहत देश के सभी नागरिकों को उनके परिवार से रोटी, कपड़ा और मकान पाना उनका क़ानूनी हक़ है।

जाने अपने अधिकार: आत्मरक्षा में की गई हत्या अपराध नहीं

भारतीय दण्ड संहिता 96 से लेकर 106 तक की धाराओं में हर एक व्यक्ति को आत्मरक्षा का अधिकार दिया गया है। लेकिन हां वो सिर्फ आत्मरक्षा होनी चाहिए, प्रतिरोध या उसे दी जाने वाली सज़ा नहीं।

जानें अपने अधिकार: बच्चों को शिक्षा उपलब्ध कराना सरकार की ज़िम्मेदारी

भारत में शिक्षा की उपलब्धता को वंचित समाज तक पहुंचाने में 'मुफ़्त और अनिवार्य शिक्षा के अधिकार' ने पिछले कई सालों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

जानें अपना अधिकार: ट्रैफ़िक में चालान कटने पर नक़द पैसा देना ज़रूरी नहीं

मोटर वेहिकल एक्ट-1988 के सेक्शन 206(2) के अनुसार, अगर आप मौके पर जुर्माना नहीं दे पाते हैं या नहीं देना चाहते हैं, तो इसके लिए आप स्वतंत्र हैं।

जानें अपने अधिकार: पिता की संपत्ति में बेटी को है बराबरी का हक़

हिंदू उत्तराधिकार (संशोधन) अधिनियम 2005 के अधिनियम की नई धारा 6 के मुताबिक बेटे और बेटियों को संपत्ति पर बराबरी का अधिकार है।

जानें अपना अधिकार: ग़रीबों को न्याय के लिए सरकारी खर्च पर वकील रखने का हक़

इसमें न्यायपालिका यह सुनिश्चित करती है कि गरीबों और कमजोर वर्गों के लिए निशुल्क कानूनी सहायता मुहैया कराई जाए। यह अधिकार संविधान के अनुच्छेद 39 ए के तहत दिया गया है।

लिव इन रिलेशनशिपः क़ानून इसकी इजाज़त देता है या नहीं

देश के युवाओं में लिव इन रिलेशनशिप को लेकर अब भी पूरी तरह से जागरुकता नहीं आई है। कई बार लोग इसे क़ानून अपराध मानते हैं लेकिन ऐसा नहीं है।

जानें अपना अधिकार: 'ज़ीरो FIR' के तहत महिलाएं किसी भी थाने में दर्ज़ करा सकती हैं शिकायत

सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार कोई भी शिकायतकर्ता/ महिला किसी भी पुलिस स्टेशन पर शिकायत दर्ज करवा सकती है और पुलिस स्टेशन इसके लिए मना नहीं कर सकता।

जानें अपना अधिकार: ख़राब क्वालिटी की वजह से हुए नुकसान के ख़िलाफ़ कर सकते हैं शिकायत

अगर कोई उपभोक्ता राष्ट्रीय उपभोक्ता आयोग के निर्णय के ख़िलाफ़ अपील करना चाहता है तो वो सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाख़िल करा सकता है।

जानें आपका अधिकार: सूर्यास्त के बाद नहीं हो सकती महिला की गिरफ्तारी

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के मुताबिक सूर्यास्त के बाद और सूर्योदय से पहले किसी भी महिला को गिरफ़्तार नहीं किया जा सकता है।

न्यूज़ फीचर

मुख्य खबरें

वीडियो

फोटो