BREAKING NEWS
  • ठांय-ठांय के बाद यूपी पुलिस ने इस तरह से की अनोखी घुड़सवारी, देखें वीडियो- Read More »

पेटीएम (Paytm) के करोड़ों यूजर्स को इस सुविधा से मिल रहा बड़ा फायदा

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : August 09, 2019 10:45:55 AM
पेटीएम (Paytm)- फाइल फोटो

पेटीएम (Paytm)- फाइल फोटो (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

पेटीएम (Paytm) के करोड़ों यूजर्स को कंपनी की नई सुविधा से बड़ा फायदा मिल रहा है. दरअसल, डिजिटल पेमेंट प्लेटफार्म पेटीएम (Paytm) ने अपने यूजर्स के लिए पेमेंट (Payment) से जुड़ी एक खास सेवा शुरू की है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कंपनी की नई पेमेंट (Payment) सुविधा के तहत यूजर्स अब ऑफलाइन स्टोर्स पर किसी भी क्यूआर कोड (QR Code) को स्कैन करके भुगतान कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें: Gold Price Today: हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन सोने-चांदी में कैसी रहेगी चाल, जानें एक्सपर्ट की राय

दूसरे कंपनियों के क्यूआर कोड को स्कैन करके भुगतान संभव
भीम यूपीआई, गूगल पे के क्‍यूआर कोड (QR Code) को भी स्कैन करके भुगतान किया जा सकता है. कंपनी की इस सेवा में क्यूआर कोड को आसानी से रीड करने के लिए तैयार किया गया है. बता दें कि मौजूदा समय में ज्यादातर छोटे दुकानदार इसका इस्तेमाल करते हैं. अब ग्राहक इसे स्कैन करके भुगतान कर सकते हैं. वहीं ऐसी उम्मीद लगाई जा रही है कि पेटीएम की इस पहल से ग्राहकों के साथ-साथ छोटे दुकानदारों को भी फायदा मिलने की संभावना है.

यह भी पढ़ें: ​​​​​Petrol Diesel Rate: खुशखबरी, पेट्रोल-डीजल हो गए सस्ते, जानिए आज के ताजा रेट

पेटीएम (Paytm) के वरिष्ठ उपाध्यक्ष दीपक एब्बोट के मुताबिक हम हमेशा अपने यूजर्स के लिए नियमों में लचीलापन रखने में विश्वास करते हैं. कंपनी चाहती है कि यूजर्स के पास यह अवसर होना चाहिए कि वे भुगतान के किसी भी ऑप्शन का चयन कर सकें. उनका कहना है कि पेटीएम UPI से अब अधिक से अधिक यूजर्स जुड़ रहे हैं. हम अपने यूजर्स के लिए नई-नई चीजों को जोड़ने का प्रयास जारी रखेंगे.

यह भी पढ़ें: जम्मू-कश्मीर के इस बैंक पर होगा मोदी सरकार का कब्जा, जानें क्यों

बता दें कि जब से सरकार द्वारा डिजिटल भुगतान को प्रोत्साहित करने के लिए इस तरह के सभी भुगतानों पर शून्य शुल्क का प्रस्ताव आया है, तब से ऑफलाइन भुगतान पर भी फोकस बढ़ा है. पेटीएम का कहना है कि 2019-20 की पहली तिमाही में पेटीएम क्यूआर के माध्यम से 25 करोड़ रुपये से अधिक के मासिक लेनदेन दर्ज किए गए हैं.

First Published: Aug 09, 2019 10:45:55 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो