ITR: नौकरी करने वालों के लिए इनकम टैक्स रिटर्न फॉर्म भरना बेहद जरूरी, ये हैं बड़े फायदे

News State Bureau  |   Updated On : April 06, 2019 08:41:52 AM
फाइल फोटो

फाइल फोटो (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

नए फाइनेंशियल ईयर की शुरुआत हो चुकी है. नए फाइनेंशियल ईयर में नौकरी करने वाले लोगों को वित्‍त वर्ष 2018-19 का इनकम टैक्‍स रिटर्न भरना है. Income Tax Department (आयकर विभाग) ने नए ITR फॉर्म को जारी कर दिया है. बता दें कि ITR फॉर्म में नौकरी करने वाले लोगों को अपनी सालाना आय की जानकारी देनी पड़ती है. रिटर्न फॉर्म भरने के कई फायदे लोगों को मिलते हैं. क्या हैं वो फायदे आइये जान लेते हैं.

यह भी पढ़ें: देर से शुरू की नौकरी, फिर भी रिटायरमेंट पर बन जाएंगे करोड़पति, बस करना होगा ये काम

ITR भरने का सबसे बड़ा फायदा लोन लेने के समय मिलता है. जो भी व्यक्ति ITR भरता है उसे होम लोन या कार लोन आसानी से मिल जाता है. बता दें कि ITR दाखिल करने से आपकी आय साबित होती है. बैंक आपके ITR को देखकर आपकी वित्तीय स्थिति का आकलन लगा लेते हैं. बैंक होम लोन या कार लोन के लिए ग्राहकों से 2 से 3 साल का इनकम टैक्स रिटर्न मांगते हैं. वहीं सरकारी विभागों में कॉन्ट्रैक्ट हासिल करने के लिए भी इनकम टैक्स रिटर्न देना ज़रूरी है. अगर आप किसी सरकारी विभाग में कॉन्ट्रैक्ट हासिल करना चाहते हैं तो आपको 5 साल का ITR देना होगा.

यह भी पढ़ें: Investment: टैक्स सेविंग म्यूचुअल फंड (ELSS) क्या है. इससे कैसे बचा सकते हैं टैक्स, जानिए पूरा गणित

विदेश जाने के लिए ज़रूरी वीजा लेने के लिए भी ITR की जानकारी मांगी जाती है. ITR जमा करने पर आपको आसानी से वीजा मिलने की संभावना बढ़ जाती है. वहीं इनकम टैक्‍स रिटर्न फाइल करने से इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के जुर्माने या नोटिस का खतरा नहीं रहता है. नौकरी पेशा लोगों के लिए सबसे ज़रूरी और अहम बात ये है कि जिन लोगों ने अपनी कंपनी को Investment डॉक्यूमेंट नहीं दिया है और तनख्वाह कट गई है. ऐसे लोग ITR फाइल करके अपना पैसा हासिल कर सकते हैं. इनकम टैक्‍स रिटर्न के जरिए इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट स्रोत पर कर कटौती यानि TDS क्लेम करने का मौका देता है.

First Published: Apr 06, 2019 08:41:45 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो