Year Ender 2018 : बैंक जितना भी फायदा नहीं दे पाए म्‍युचुअल फंड, जानें क्‍यों

Vinay Kumar Mishra  |   Updated On : December 25, 2018 04:13:46 PM
Mutual Fund (फाइल फोटो)

Mutual Fund (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

नई दिल्‍ली:  

Mutual Fund : देश में निवेश का बड़ा विकल्‍प बन कर उभर रहे म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) ने वर्ष 2018 में निवेशकों को काफी निराश किया है. अगर कुछ म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) स्‍कीम को छोड़ दिया जाए तो ज्‍यादातर म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) ने इस साल निराश ही किया है. ज्‍यादातर म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) स्‍कीम ने तो निगेटिव रिटर्न ही दिया है. इसका मलतब हुआ कि अगर किसी निवेशक ने इस साल के शुरू में पैसा लगाया होगा तो वह नुकसान में ही है.म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) की कई कैटेगरी की स्‍कीम में तो लोगों को सेविंग बैंक अकाउंट (Savings bank account) के बराबर भी ब्‍याज (Interest) नहीं मिला है. हालांकि सिर्फ एक कैटेगरी ऐसी रही है जिसने तगड़ा रिटर्न दिया है और यह एक साल की बैंक एफडी (Bank FD) से करीब 4 गुना तक ज्‍यादा है. आइये देखते हैं म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) की सभी कैटेगरी की टॉप 3 स्‍कीम.

इस साल बढ़ा म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) में निवेश
साल 2018 में नवंबर तक म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) इंडस्ट्री का कुल एसेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) बढ़कर 24 लाख करोड़ रुपये पहुंच गई है. इस साल अब तक म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) की एएमयू (AMU) 3 लाख करोड़ रुपये बढ़ी है. एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (Amfi) के अनुसार एएमयू (AMU) ​इस साल नवंबर के अंत तक सालाना आधार पर 13 फीसदी बढ़कर 24 लाख करोड़ रुपये हो गई है. दिसंबर 2017 के अंत तक इंडस्ट्री का कुल एएमयू (AMU) 21.26 लाख करोड़ रुपये थी. हालांकि वर्ष 2018 के दौरान नए निवेशकों की संख्या 1.3 करोड़ बढ़ी है.

और पढ़ें : Year Ender 2018 : रुपये-पैसे से जुड़े बदले ये नियम, जान लें नहीं हो पड़ सकते हैं दिक्‍कत में

जानें कैटेगरी के हिसाब से म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) स्‍कीम का रिटर्न

Multi Cap म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund)
इस कैटेगरी में म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) ने साधारण रिटर्न ही दिया है. टॉप 3 स्‍कीम में दो ने ही फायदा दिया है. इसी से अंदाजा लगाया जा सकता कि म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) की इस कैटेगरी में निवेश करने वालों के लिए वर्ष 2018 अच्‍छा नहीं रहा है.

1. Axis MCF - DP (G) ने दिया 7.4 फीसदी का रिटर्न
2. UTI Equity Fund - Direct (G) ने दिया 3.3 फीसदी का रिटर्न
3. ICICI Prudential Multicap Fund - D (G) ने दिया -0.3 फीसदी का रिटर्न

Large Cap म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund)
म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) की इस कैटेगरी का प्रदर्शन भी अच्‍छा नहीं रहा है. इस कैटेगरी की सबसे अच्‍छी स्‍कीम का रिटर्न बैंक एफडी (Bank FD) से कम रहा है. इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि निवेशकों के लिए यह कैटेगरी अच्‍छी नहीं रही.
1. Axis Bluechip Fund - D (G) ने दिया 6.7 फीसदी का रिटर्न
2. CR Bluechip Equity Fund - D (G) ने दिया 2.7 फीसदी का रिटर्न
3. JM Large Cap Fund - D (G) ने दिया 1.5 फीसदी का रिटर्न

और पढ़ें : 45 की उम्र में शुरू करें निवेश, बन जाएंगे करोड़पति

Large & Mid Cap म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund)
म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) की इस कैटेगरी की केवल टॉप की स्‍कीम ने ही पॉजिटिव रिटर्न दिया है. बाकी का रिटर्न निगेटिव ही रहा है. यानी म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) की इस कैटेगरी में निवेश करने वालों को घाटा ही हुआ है.
1. Sundaram Large and Mid Cap Fund - D (G) ने दिया 0.3 फीसदी का रिटर्न
2. Invesco Growth Opportunities - D (G) ने दिया -0.2 फीसदी का रिटर्न
3. Edelweiss Large & Mid Cap - D (G) ने दिया -3.5 फीसदी का रिटर्न

Mid Cap म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund)
म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) की इस कैटेगरी का हाल भी अच्‍छा नहीं रहा है. यहां पर केवल एक ही स्‍कीम का रिटर्न पॉजिटिव रहा है, बाकी स्‍कीम ने निगेटिव रिटर्न ही दिया है. इसलिए इस कैटेगरी में निवेश करने वाले ज्‍यादातर निवेशकों को घाटा ही हुआ है.
1. Axis Mid Cap Fund - Direct (G) ने दिया 3.5 फीसदी का रिटर्न
2. Invesco India Midcap - D (G) ने दिया -5.2 फीसदी का रिटर्न
3. Franklin (I) Prima - Direct (G) ने दिया -8.1 फीसदी का रिटर्न

और पढ़ें : Post Office ने दी नेटबैंकिंग की सुविधा, ऐसे करें एक्‍टिव

Small Cap म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund)
म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) की इस कैटेगरी में निवेश करने वालों को घाटा ही हुआ है. इस कैटेगरी की किसी भी स्‍कीम ने पाॅजिटिव रिटर्न नहीं दिया है. यानी म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) की इस कैटेगरी में निवेश करने वालों को घाटा ही हुआ है.
1. HDFC Small Cap Fund - Direct (G) ने दिया -7.2 फीसदी का रिटर्न
2. Axis Small Cap Fund - Direct (G) ने दिया -8.2 फीसदी का रिटर्न
3. Sundaram Small Cap - Series IV-DP-G ने दिया -13.0 फीसदी का रिटर्न

और पढ़ें : Alert : 1 जनवरी से आप ATM से नहीं निकाल पाएंगे पैसा, जान लें कारण

टैक्‍स सेविंग (ELSS) म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund)
म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) की टैक्‍स सेविंग स्‍कीम्‍स ने भी निवेशकों को इस साल निराश ही किया है. इस कैटेगरी की सबसे अच्‍छी स्‍कीम का रिटर्न 2.8 फीसदी ही रहा है. यह रिटर्न बैंकों के सेविंग बैंक अकाउंट (Savings bank account) में मिलने वाले ब्‍याज (Interest) से कम रहा है.
1. Axis Long Term Equity - Direct (G) ने दिया 2.8 फीसदी का रिटर्न
2. CR Equity Tax Saver Fund - D (G) ने दिया 1.8 फीसदी का रिटर्न
3. ICICI Pru Long Term Equity-Tax Svng-DP-G ने दिया 0.3 फीसदी का रिटर्न

और पढ़ें : Mutual Fund : 500 रुपये से शुरू करें निवेश, बचा सकते हैं Income Tax भी

Dividend Yield म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund)
म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) इस कैटेगरी में किसी भी स्‍कीम का रिटर्न पॉजिटिव नहीं रहा है. यानी अगर किसी ने म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) की इस कैटेगरी की स्‍कीम में पैसा लगाया है तो उसे निगेटिव रिटर्न ही मिला है.
1. UTI Dividend Yield Fund -Direct (G) ने दिया -0.5 फीसदी का रिटर्न
2. Principal Dividend Yield-Direct (G) ने दिया -5.3 फीसदी का रिटर्न
3. Templeton (I) Equity Income - Dir (G) ने दिया -8 फीसदी का रिटर्न

और पढ़ें : ये है करोड़पति बनने की सरकारी गारंटी, जल्‍द शुरू करें निवेश

Contra म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund)
म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) की इस कैटेगरी की स्‍कीम ने भी निवेशकों को निराश ही किया है और काफी कम रिटर्न दिया है. बल्‍कि एक को छोड़ कर देखा जाए तो सभी म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) स्‍कीम ने निगेटिव रिटर्न दिया है.
1. Kotak India EQ Contra Fund - D (G) ने दिया 1.8 फीसदी का रिटर्न
2. Invesco India Contra - Dir (G) ने दिया -2.8 फीसदी का रिटर्न
3. SBI Contra Fund - Direct (G) ने दिया -15.3 फीसदी का रिटर्न

Focused म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund)
म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) की इस कैटेगरी ने भी अच्‍छा रिटर्न नहीं दिया है. इस कैटेगरी की ज्‍यादातर स्‍कीम ने निगेटिव रिटर्न ही दिया है.
1. Sundaram Select Focus -Direct (G) ने दिया 1.2 फीसदी का रिटर्न
2. Axis Focused 25 Fund - Direct (G) ने दिया 1.6 फीसदी का रिटर्न
3. Principal Focused Multicap Fund - D (G) ने दिया -1.8 फीसदी का रिटर्न

और पढ़ें : ऐसे शुरू करें बच्‍चे के नाम निवेश, बन जाएगा करोड़पति

Value म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund)
म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) की इस कैटेगरी का हाल सबसे बुरा है. इस कैटेगरी की सभी स्‍कीम ने निगेटिव रिटर्न ही दिया है. यानी अगर किसी ने इस कैटेगरी में पैसा लगाया है तो उन लाेगों को घाटा ही हुआ है.
1. Quantum Long Term Equity Value - D (G) ने दिया -0.6 फीसदी का रिटर्न
2. ICICI Pru Value Fund - Sr 5-DP (G) ने दिया -1.7 फीसदी का रिटर्न
3. UTI Value Opportunities Fund - D (G) ने दिया -2.3 फीसदी का रिटर्न

और पढ़े : ये हैं बिना Loan के Car लेने का तरीका, 2 लाख रुपए पड़ेगी सस्‍ती

म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) सबसे अच्‍छा रिटर्न देने वाली कैटेगरी

Sectoral/Thematic म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund)
म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) की इस कैटेगरी ने सबसे अच्‍छा रिटर्न दिया है. इस कैटेगरी की टॉप स्‍कीम का रिटर्न 28.2 फीसदी रहा है. इसके अलावा भी इस कैटेगरी की कई स्‍कीम ने अच्‍छा रिटर्न दिया है.
1. Tata Digital India Fund - Direct (G) ने दिया 28.2 फीसदी का रिटर्न
2. SBI Technology Opportunities - D (G) ने दिया 20.1 फीसदी का रिटर्न
3. ICICI Pru Technology Fund - D (G) ने दिया 19.3 फीसदी का रिटर्न
(नोट : म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) के रिटर्न के ये आंकड़े 24 दिसंबर 2018 तक के अपडेट हैं.)

गिरावट के जानकारों ने बताए ये कारण
फाइनेंशियल एडवाइजर फर्म बीपीएन फिनकैप के डायरेक्‍टर एके निगम के अनुसार पिछले 3 माह के दौरान काफी शेयर बाजार में काफी गिरावट आई है. ऐसे में म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) का रिटर्न निगेटिव दिख रहा है. हालांकि निगम का मानना है कि यह दौर हर माह निवेश करने वालों यानी सिस्‍टमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान यानी सिप (SIP) माध्‍यम से म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) में पैसा लगाने वालों को बाद में अच्‍छा फायदा मिलेगा. इसका सबसे बड़ा कारण है कि ऐसे निवेशकों की म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) स्‍कीम की नेट आसेट वैल्‍यू (NAV) की ऐवरेजिंग काफी अच्‍छी हो गई होगी, जिसका फायदा बाद में अच्‍छा रिटर्न के रूप में मिलेगा. निगम के अनुसार म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) में निवेश का सबसे अच्‍छा तरीका सिप (SIP) है न कि एक बार में पूरा पैसा लगाना.

और पढ़ें : Mutual Fund : जानें कैसे करते हैं निवेश, बन गए 1 लाख रुपए 5 साल में 3 लाख

म्‍युचुअल फंड (Mutual Fund) से जुड़े शब्‍द

एनएवी (NAV) (Net Asset Value) : जब भी म्यूचुअल फंड (Mutual fund) की बात होती है तब एक टर्म जो बार-बार प्रयोग में आती है, वह है- NAV. एक म्यूचुअल फंड (Mutual fund) कई जगह पैसे निवेश करता है इसलिए अगर किसी समय फंड से पैसा वापस लेना है तो यह उसकी NAV पर निर्भर करता है. अगर बेचना न भी हो तो फंड में पैसे के बारे में जानने के लिए इसका प्रयोग किया जा सकता है. किसी म्यूचुअल फंड (Mutual fund) की NAV वो कीमत है जिससे उस फंड की एक यूनिट खरीदी या बेची जा सकती है.

और पढ़ें : ये है करोड़पति बनने का तरीका, बस एक बार करना होगा निवेश

ऐसेट मैनेजमेंट कंपनी एसेट (Asset Management Company) (AMC) : मैनेजमेंट कंपनी वह कंपनी होती है जो अलग-अलग प्रकार की म्यूचुअल फंड (Mutual fund) स्कीम लेकर बाजार में आती हैं. जैसे रिलायंस ग्रोथ फंड (म्यूचुअल फंड स्कीम) को रिलायंस कैपिटल ऐसेट मैनेजमेंट लिमिटेड ने लॉन्च किया, जो एक एएमसी यानी ऐसेट मैनेजमेंट कंपनी है.

और पढ़ें : ये है घर बैठे MF में investment का तरीका, 1000 रु महीना बन सकता है 1 करोड़ रु

पोर्टफोलियो मैनेजर (Portfolio Manager) : एक बार अगर आपका पैसा म्यूचुअल फंड (Mutual fund) स्कीम में चला गया, तब उस धन का प्रबंधन पोर्टफोलियो मैनेजर करते हैं. वे आपके धन को शेयर या फिर बॉन्ड में निवेश करते हैं, यह निवेश आपकी स्कीम कैसी है उस पर निर्भर करता है. अगर स्कीम के नजरिये से देखा जाये तो उनके निर्णय बहुत महत्वपूर्ण होते हैं, क्योंकि वे सिर्फ आपका नहीं, बल्कि आपके जैसे हजारों लोगों के धन का प्रबंधन करता है.

म्‍युचुअल फंड इंट्री लोड (MF Entry load) : म्‍युचुअल फंड इंट्री लोड एक महत्वपूर्ण शब्द है, जो हर म्यूचुअल फंड (Mutual fund) निवेशक के सामने आता है. एंट्री लोड और एक्ज‍िट लोड यानी जब आप निवेश कर रहे हैं, उस वक्त पड़ने वाला शुल्क और जब आप स्कीम से बाहर निकल रहे हैं, उस वक्त पड़ने वाला शुल्क. जब आप म्चूचुअल फंड (Mutual fund) खरीदते हैं तब कई बार आपको एनएवी से ज्यादा पैसा देना पड़ता है. और बेचते वक्त हो सकता है आपको कम एनएवी मिले. हालांकि यह निवेशकों के लिये अच्छा नहीं होता.

और पढ़ें : 50 लाख रुपए तक का बीमा फ्री में पाने का मौका, म्‍युचुअल फंड कंपनियां लाईं ऑफर

म्‍युचुअल फंड पोर्टफोलियो (Mutual Fund Portfolio) : सभी शेयर और निवेश किया गया धन मिलकर पोर्टफोलियो बनता है. तो अगर कोई म्यूचुअल फंड स्कीम रिलायंस, आईसीआईसीआई बैंक, बजाज ऑटो, आईडीबीआई बैंक और कुछ सरकारी बॉन्ड खरीदते हैं तो ये सभी एकत्र होकर एक पोर्टफोलियो बनते हैं.

एयूएम (AMU) : पूर्ण धन जो निवेश किया गया है, उस कुल धन को एसेट्स अंडर मैनेजमेंट यानी एयूएम कहते हैं. एयूएम (AMU) बाजार के वातावरण और निवेशकों के निवेश व धन निकालने की तीव्रता के हिसाब से घटता बढ़ता रहता है.

और पढ़ें : ऐसे मिलता है Petrol Pump का लाइसेंस, होती है लाखों की कमाई

सिप (SIP) : ज्यादातर ओपन एंडेड में आप हर महीने छोटे-छोटे निवेश कर सकते हैं. या फिर तिमाही, छहमाही या सालाना भी. इसे सिस्टेमेटिक इंवेस्टमेंट प्लान (SIP) कहते हैं. यह बैंक के आवर्ती जमा की तरह कार्य करता है.

और पढ़ें : ये है Mutual funds SIP का फंडा, 1000 रुपए महीना बन जाएगा 32 लाख

एनएफओ न्यू फंड ऑफर (NFO) : म्यूचुअल फंड (Mutual fund) के नये ऑफर होते हैं जिनकी फेस वैल्यू 10 रुपए होती है. 

First Published: Dec 25, 2018 02:01:09 PM
Post Comment (+)

LiveScore Live Scores & Results

न्यूज़ फीचर

वीडियो