BREAKING NEWS
  • शिवसेना के संजय राउत बोले- उद्धव ठाकरे ने सीएम बनने के लिए दी अपनी सहमति- Read More »

PAK को भारत के साथ कारोबार बंद करना पड़ा भारी, अब इन चीजों के लिए चुकाने पड़ेंगे 35% ज्यादा दाम

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : August 11, 2019 08:06:20 PM
पीएम नरेंद्र मोदी और इमरान खान (फाइल फोटो)

पीएम नरेंद्र मोदी और इमरान खान (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में आर्टिकल 370 (Article 370) हटने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेश में विभाजित करने के बाद पाकिस्तान (Pakistan) ने भारत के साथ कारोबार बंद कर दिया है. लेकिन, पाकिस्तान का ये फैसला उसी पर भारी पड़ रहा है. कंगाल पाकिस्तान कई चीजों को लेकर भारत के भरोसे रहा है. भारत के साथ कारोबार बंद होने के बाद अब पाकिस्तान को चीन और कोरिया की ओर रुख करना पड़ेगा. ऐसे में इन चीजों का इम्पोर्ट करना पाकिस्तान को महंगा पड़ेगा.

यह भी पढ़ेंः भारत ने पाकिस्तान को दिया बड़ा झटका, दिल्ली और अटारी के बीच चलने वाली समझौता लिंक एक्सप्रेस रद्द 

पाकिस्तानी अखबार डॉन की रिपोर्ट के अनुसार, ऑल पाकिस्तान टेक्सटाइल प्रॉसेसिंग मिल्स एसोसिएशन के पूर्व चेयरमैन सलीम पारेख ने कहा कि भारत का सामान चीन और कोरियाई ब्रांड्स के मुकाबले 30 से 35 फीसदी तक सस्ता होता है. अन्य देशों के मुकाबले आने में काफी कम समय लगता है. सामान के ट्रांसपोर्टेशन का खर्च भी कोरिया और चीन के प्रोडक्ट्स से कम रहता है.

टेक्सटाइल प्रोसेसिंग मिलें भारतीय ब्रांडों के आदी हैं, लेकिन अब उन्हें चीनी और कोरियाई ब्रांडों को बदलने की जरूरत होगी. इसमें कुछ समय लगेगा. उन्होंने कहा कि देश की खातिर हम किसी भी तरह की चुनौती का सामना करने के लिए तैयार हैं. पाकिस्तान होजरी मैन्युफैक्चरर्स एंड एक्सपोर्ट्स एसोसिएशन के चेयरमैन जावेद बिलवानी ने कहा, वहां का टेक्सटाइल सेक्टर काफी हद तक भारत के केमिकल्स और डाई पर निर्भर है.

यह भी पढ़ेंःअखिल भारतीय संत समिति की बैठक के बाद सुब्रमण्यम स्वामी ने राम मंदिर को लेकर दिया ये बड़ा बयान

उन्होंने आगे कहा, कारोबार प्रतिबंधित किए जाने के बाद अब दुबई के रास्ते से भारत का सामान आने का डर है. इसकी वजह यह है कि भारतीय प्रोडक्ट्स चीन और अन्य देशों के मुकाबले 15 से 20 फीसदी तक सस्ते हैं.

पाकिस्तान को अब इन देशों का करेगा रुख

एफबी एरिया एसोसिएशन ऑफ ट्रेड एंड इंडस्ट्री के चेयरमैन खुर्शीद अहमद का कहना है कि टेक्सटाइल सेक्टर अब भारत के बजाये चीन और पूर्वी एशियाई देशों से इम्पोर्ट करेगा, लेकिन यह महंगा पड़ेगा. साथ ही पाकिस्तान चाय भी भारत से बड़े पैमाने पर निर्यात करता है. पाकिस्तान चाय एसोसिएशन (PTA) के चेयरमैन शोएब पराचा का कहना है कि पाकिस्तान को इसके विकल्प के लिए वियतनाम और अफ्रीकी देशों का रुख करना होगा. पाकिस्तान के कुल चाय इम्पोर्ट में 5 फीसदी हिस्सा भारत का है.

First Published: Aug 11, 2019 08:06:20 PM
Post Comment (+)

Live Scorecard

न्यूज़ फीचर

वीडियो