BREAKING NEWS
  • महिला सुरक्षा को लेकर मोदी सरकार का बड़ा फैसला, रेप से जुड़े मामले में 2 महीने में मिलें न्याय- Read More »

IITF 2019: 14 नवंबर से शुरू हो रहा है अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला, इन विषयों पर रहेगा फोकस

Bhasha  |   Updated On : November 12, 2019 03:26:36 PM
India International Trade Fair-IITF 2019

India International Trade Fair-IITF 2019 (Photo Credit : फाइल फोटो )

दिल्ली:  

India International Trade Fair-IITF 2019: प्रगति मैदान में 14 नवंबर से लगने वाले 39वें भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला (आईआईटीएफ- 2019) में ‘कारोबार सुगमता’ पर विशेष जोर होगा. सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उद्यम (एमएसएमई) मंत्री नितिन गडकरी मेले का उद्घाटन करेंगे. इस साल बिहार, झारखंड को फोकस राज्य जबकि अफगानिस्तान को भागीदार देश और दक्षिण कोरिया को ‘फोकस देश’ बनाया गया है.

यह भी पढ़ें: Gold ETF: निवेशकों ने अक्ट्रबर में गोल्ड ईटीएफ से 31 करोड़ रुपये निकाले

मेले की आयोजक संस्था भारतीय व्यापार संवर्धन संगठन (इटपो) की यहां जारी विज्ञप्ति के अनुसार प्रगति मैदान में निर्माण कार्य जारी रहने की वजह से मेले का आयोजन स्थल छोटा होगा. प्रदर्शनी स्थल के हाल नंबर सात से लेकर 12 और 12ए तथा पांच बड़े हैंगर में प्रदर्शनी आयोजित की जायेगी. इटपो प्रवक्ता ने बताया कि अगले साल नवंबर तक प्रदर्शनी स्थल पूरी तरह तैयार हो जाने की उम्मीद है और 2020 का व्यापार मेला अब तक का सबसे बड़ा मेला होगा. इस बार मेले की मुख्य विषयवस्तु ‘‘कारोबार सुगमता’’ रखी गई है.

यह भी पढ़ें: ब्रू एस्टेट की विस्तार के लिए एक करोड़ डॉलर जुटाने की योजना, 2022 तक 30 आउटलेट खोलेगी

कारोबार सुगमता रैंकिंग में भारत 63वें स्थान पर
उल्लेखनीय है कि विश्व बैंक की कारोबार सुगमता रैंकिंग में भारत 63वें स्थान पर पहुंच गया है. पिछले पांच साल में भारत विश्व बैंक की कारोबार सुगमता रैंकिंग में 134वें स्थान से तेजी से आगे बढ़कर 2019 में 63वें स्थान पर पहुंच गया. वर्ष 2014 में इस रैंकिंग में भारत का स्थान 134वें पायदान पर था. वर्ष 2017 में भारत 100वें पर पहुंचा और 2019 में 63वें स्थान पर पहुंच गया. आईआईटीएफ 2019 में बिहार और झारखंड को ‘फोकस राज्य’ बनाया गया है जबकि अफगानिस्तान को ‘भागीदार देश’ और दक्षिण कोरिया को ‘फोकस देश’ बनाया गया है.

यह भी पढ़ें: आधार कार्ड (Aadhaar Card) में गलत जन्मतिथि को इस तरीके से कर सकते हैं अपडेट

व्यवसायियों के लिये प्रवेश टिकट 500 रुपये प्रति व्यक्ति
इन देशों के अलावा आस्ट्रेलिया, बहरीन, भूटान, चीन, मिस्र, हांग कांग, ईरान सहित कई अन्य देशों की कंपनियां मेले में भाग लेंगी. विज्ञप्ति के अनुसार व्यापार मेले के पहले पांच दिन (14 से 18 नवंबर) केवल कारोबारी दर्शकों के लिये होंगे. व्यवसायियों के लिये प्रवेश टिकट 500 रुपये प्रति व्यक्ति जबकि पूरे सत्र का एकमुश्त टिकट 1800 रुपये होगा. आम दर्शकों के लिये 19 नवंबर से मेला खुलेगा. कार्यदिवसों के दौरान वयस्कों के लिये 60 रुपये और बच्चों का 400 रुपये का प्रवेश टिकट होगा.

यह भी पढ़ें: वोडाफोन (Vodafone) के इस सस्ते प्लान में मिल रहा है रोजाना 3GB डेटा

शनिवार, रविवार और सार्वजनिक अवकाश के दिन वयस्कों के लिये 120 रुपये और बच्चों का टिकट 60 रुपये का होगा. मेले में 19 नवंबर से वरिष्ठ नागिरकों और दिब्यांगों के लिये प्रवेश निशुल्क रखा गया है. विज्ञप्ति में कहा गया है कि व्यापार मेले में प्रवेश केवल भैरों मार्ग से गेट नंबर एक और प्रगति मैदान मेट्रो स्टेशन के पास गेट नंबर 10 से ही होगा. प्रदर्शनी स्थल के किसी भी गेट पर टिकट की बिक्री नहीं होगी. भीड़ भाड़ और सुरक्षा को ध्यान में रखते हुये प्रगति मैदान के मेट्रो स्टेशन पर भी टिकट नहीं बेचे जायेंगे. हालांकि, दिल्ली के अन्य 66 मेट्रो स्टेशन पर यह उपलब्ध होंगे. इसके अलावा ‘बुकमाईशो.कॉम’ पर ई-टिकट लिये जा सकेंगे.

First Published: Nov 12, 2019 03:20:14 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो