देश के इस बड़े कारोबारी घराने में बंटवारे का साया, जमीन को लेकर शुरू हुआ विवाद

News State Bureau  |   Updated On : June 27, 2019 03:23:38 PM
गोदरेज समूह (Godrej Group)

गोदरेज समूह (Godrej Group) (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

देश के बड़े कारोबारी घराने गोदरेज में बंटवारे की बात सामने आ रही है. बता दें कि गोदरेज परिवार की इंडस्ट्री में तो तूती बोलती ही है. इसके अलावा इन्हें मुंबई का लैंडलॉर्ड भी कहते हैं. दरअसल, मुंबई में गोदरेज परिवार के पास सबसे ज्यादा जमीने हैं. मीडिया में आई खबरों के मुताबिक गोदरेज परिवार ने बिजनेस में हिस्सेदारी के पुनर्गठन के लिए सलाहकारों और लॉ फर्म से संपर्क किया है.

यह भी पढ़ें: Instagram के ई-बिजनेस में आने की योजना से अमेजन को खतरा

गोदरेज परिवार के पास कुल 3,400 एकड़ जमीन जमीन
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मुंबई के विखरोली में गोदरेज परिवार के पास 1,000 एकड़ का एक भूखंड है. मौजूदा समय में इसकी मार्केट वैल्यू करीब 20 हजार करोड़ रुपये है. बता दें कि विखरोली में गोदरेज परिवार के पास कुल 3,400 एकड़ जमीन जमीन है.

यह भी पढ़ें: सातवां वेतन आयोग (7th Pay Commission): नरेंद्र मोदी सरकार के बजट में सरकारी कर्मचारियों को मिल सकती है बड़ी खुशी

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जमीन के बंटवारे के लिए गोदरेज ऐंड बॉयस के चेयरमैन जमशीद गोदरेज ने जेएम फाइनेंशि‍यल से जुड़े इनवेस्टमेंट बैंकर निमेश कम्पानी और एजेबी पार्टर्नस के वकील जिया मोदी से संपर्क किया है. वहीं गोदरेज समूह के चेयरमैन आदि गोदरेज और गोदरेज एग्रोवैट के चेयरमैन नादिर गोदरेज ने भी लॉ फर्म से संपर्क किया है.

करीब 1 लाख करोड़ रुपये हो सकती है वैल्यु
जानकारों के मुताबिक अगर विखरोली की जमीन को रियल एस्टेट प्रॉपर्टी के तौर पर विकसित करें तो इसकी वैल्यु करीब 1 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच सकती है. मौजूदा समय में इस एरिया में 1 एकड़ जमीन की कीमत 20 करोड़ रुपये के करीब है.

यह भी पढ़ें: कैफे कॉफी डे (CCD) में बड़ी हिस्सेदारी खरीद सकती है कोका-कोला

इसी जमीन को लेकर है विवाद
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक गोदरेज परिवार में इस जमीन को लेकर ही मतभेद है. दरअसल, इस जमीन को किस तरह से विकसित किया जाए इसी बात पर मतभेद है. जमशीद गोदरेज का परिवार इस जमीन पर रियल एस्टेट के बहुत ज्यादा विकास के पक्ष में नहीं है. वहीं आदि और नादिर गोदरेज का परिवार इस जमीन पर रियल एस्टेट का विस्तार चाहता है.

First Published: Jun 27, 2019 03:14:10 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो