BREAKING NEWS
  • तमिलनाडु के कांचीपुरम में बड़ा धमाका, एक आदमी की मौत और 4 घायल- Read More »
  • पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह से SPG सुरक्षा वापस ले सकती है सरकार- Read More »
  • Sensex Open Today 26 Aug: शेयर बाजार में जोरदार तेजी, सेंसेक्स 663 प्वाइंट उछला- Read More »

दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की ओर बढ़ रहा है भारत: राष्ट्रपति

PTI  |   Updated On : June 20, 2019 02:22 PM
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (फाइल फोटो)

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (फाइल फोटो)

ख़ास बातें

  •  GDP के संदर्भ में भारत दुनिया की पांचवीं बड़ी अर्थव्यवस्था बन सकता है: राष्ट्रपति
  •  भारत का 2024 तक 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने का लक्ष्य
  •  किसानों की आय 2022 तक दोगुना करने के लिए पिछले पांच साल में कई कदम उठाए

नई दिल्ली:  

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने गुरुवार को कहा है कि सकल घरेलू उत्पाद (GDP) के संदर्भ में देश दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की ओर बढ़ रहा है और हमारा 2024 तक 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने का लक्ष्य है. संसद के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति ने कहा कि उच्च आर्थिक वृद्धि दर को बनाये रखने के लिये सुधार प्रक्रिया जारी रहेगी.

यह भी पढ़ें: सातवां वेतन आयोग (7th Pay Commission): मध्य प्रदेश सरकार के इस फैसले से 7 लाख से ज्यादा कर्मचारियों को होगा बड़ा फायदा

2024 तक 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने का लक्ष्य
उन्होंने कहा कि GDP के संदर्भ में भारत दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने की ओर अग्रसर है और हमारा 2024 तक 5,000 अरब डॉलर की अर्थव्यवस्था बनने का लक्ष्य है. कोविंद ने कहा कि लोगों के जीवनस्तर में सुधार में आर्थिक विकास अहम भूमिका निभाता है. आज भारत दुनिया में तीव्र आर्थिक वृद्धि वाली अर्थव्यवस्थाओं में से एक है. मुद्रास्फीति कम है, राजकोषीय घाटा नियंत्रण में है. विदेशी मुद्रा भंडार बढ़ रहा है और ‘मेक इन इंडिया’ का प्रभाव बिल्कुल साफ है.

यह भी पढ़ें: Gold Price Today: सोने में करते हैं कारोबार या निवेश, जरूर पढ़ें ये खबर, 5 साल के रिकॉर्ड ऊंचाई पर दाम

किसानों की आय 2022 तक दोगुना करने के लिए कई कदम उठाए
कृषि के बारे में उन्होंने कहा कि किसानों की आय 2022 तक दोगुना करने के लिए पिछले पांच साल में कई कदम उठाए गए हैं. इनमें न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाना और खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र में 100 फीसदी प्रत्यक्षण विदेशी निवेश (FDI) की मंजूरी शामिल है. इसके अलावा दशकों से अटकी सिंचाई परियोजनाओं का पूरा किया गया है और फसल बीमा योजना लागू की गई है.

यह भी पढ़ें: कंगाल पाकिस्तान को शर्तों के साथ कर्ज दे IMF, अमेरिका की कड़ी प्रतिक्रिया

राष्ट्रपति ने कहा कि इस कड़ी में प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि महत्वपूर्ण है. इसके जरिए सिर्फ 3 महीने में 12,000 करोड़ रुपये वितरित किए गए हैं. इस योजना के दायरे में अब सभी किसानों को लाया गया है. इस पर सालाना 90,000 करोड़ रुपये का खर्च आने का अनुमान है.

यह भी पढ़ें: अपोलो म्यूनिख हेल्थ इंश्योरेंस में 51 फीसदी हिस्सेदारी खरीदेगी एचडीएफसी (HDFC Ltd)

राष्ट्रपति ने अपने अभिभाषण में कहा कि सरकार ने किसानों के लाभ के लिये कृषि नीति को उत्पादन के साथ आय केंद्रित बनाया है. उन्होंने कहा कि जीएसटी लागू होने से एक देश, एक कर, एक बाजार की सोच साकार हुई है. हम जीएसटी को और अधिक सरल बनाने के प्रयास जारी रखेंगे. प्रत्यक्ष लाभ अंतरण (डीबीटी) का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि डीबीटी की वजह से अब तक 1 लाख 41 हजार करोड़ रुपये गलत हाथों में जाने से बचे हैं. लगभग 8 करोड़ गलत लाभार्थियों के नाम हटा दिए गए हैं.

यह भी पढ़ें: फिर शुरू हुई एयर इंडिया (Air India) की बिक्री की तैयारी, नया प्रस्ताव तैयार कर रहा वित्त मंत्रालय

कोविंद ने कहा कि काले धन के खिलाफ शुरू की गई मुहिम को और तेज गति से आगे बढ़ाया जाएगा. पिछले 2 वर्ष में 4 लाख 25 हजार निदेशकों को अयोग्य घोषित किया गया है और 3 लाख 50 हजार संदिग्ध कंपनियों का पंजीकरण रद्द किया जा चुका है.

First Published: Thursday, June 20, 2019 02:17:30 PM
Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज,ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

RELATED TAG: Ram Nath Kovind, President, India, Gdp, Miilion Dollar Economy, Indian Economy, Latest News, Business News In Hindi,

डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

न्यूज़ फीचर

वीडियो