कोरोना वायरस : 1,50,00,00,00,00,000 रुपये का राहत पैकेज दे सकती है मोदी सरकार

News State Bureau  |   Updated On : March 26, 2020 12:03:38 PM
Narendra modi

PM Narendra Modi (Photo Credit : ANI Twitter )

नई दिल्ली :  

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कोरोना वायरस के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए पूरे देश में लॉकडाउन कर दिया है. लॉकडाउन (Lockdown) का अर्थव्यवस्था पर विपरीत प्रभाव पड़ना लाजिमी है. लॉकडाउन को देखते हुए रहत पैकेज की भी ममाज होने लगी है. कांग्रेस ने इसी बहाने 'न्याय स्कीम (Nyay Scheme)' को लागू करने की मांग तेज कर दी है. लॉकडाउन और कोरोना वायरस के प्रभाव को देखते हुए मोदी सरकार रहत पैकेज पर काम कर रही है. बताया जा रहा है कि मोदी सरकार 1.5 लाख करोड़ के राहत पैकेज का ऐलान कर सकती है.  आज गुरूवार दोपहर को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण प्रेस कॉन्फ्रेंस भी करने वाली हैं.

यह भी पढ़ें : स्पेन के उप प्रधानमंत्री कोविड-19 से संक्रमित, चीन ने महामारी से बचाव में की सहायता

वित्त मंत्री जिस राहत पैकेज का ऐलान करने वाली हैं, उसमे सबसे बड़ा ऐलान दिहाड़ी मजदूरों के लिए होने वाला है. इकोनॉमिक टाइम की खबर के अनुसार मोदी सरकार 1.5 लाख करोड़ रुपये के आर्थिक प्रोत्साहन पैकेज की घोषणा संभव है. बताया जा रहा है की राहत पैकेज के लिए प्रधानमंत्री कार्यालय, वित्त मंत्रालय और भारतीय रिजर्व बैंक के बीच बातचीत चल रही है.

एक वरिष्ठ अधिकारी ने तो यहाँ तक कहा कि राहत पैकेज 2.3 लाख करोड़ रुपये तक का भी हो सकता है. राहत पैकेज के इन पैसों को  10 करोड़ जनता के अकाउंट में सीधे ट्रांसफर करने की रणनीति पर काम चल रहा है. राहत पैकेज का दूसरा हिस्सा लॉकडाउन से सबसे ज्यादा प्रभावित कारोबार की मदद करने के लिए जारी किया जा सकता है. पीएम नरेंद्र मोदी ने मंगलवार रात 12 बजे से 21 दिनों के लिए लॉकडाउन की घोषणा की है. इसके बाद देश की 130 करोड़ आबादी अपने घर से नहीं निकल पा रही है. कोरोना वायरस से मुकाबले के लिए यह दुनिया का सबसे लॉकडाउन है.

यह भी पढ़ें : अमेरिका में कोरोना वायरस से 1000 से अधिक लोगों की मौत, 65,000 से अधिक मामले सामने आए

190 देश कोरोना वायरस की चपेट में

कोरोना वायरस भले ही एशियाई देशों में शक्ति का केंद्र बन चुके चीन के वुहान शहर से निकला हो, लेकिन इसने देखते ही देखते पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया. चीन ने भले ही किसी तरीके से संक्रमित और मृतकों के आंकड़े को थामने में सफलता हासिल कर ली है, लेकिन दुनिया तेजी से इसकी चपेट में आने से खुद को रोक नहीं सकी है. फिलवक्त दुनिया भर के 190 देश कोरोना वायरस से होने वाले संक्रमण की चपेट में हैं. इसके कारण मरने वाले लोगों की आंकड़ा भी 21 हजार के पार जा चुका है.

यह भी पढ़ें : इमरान खान को हाईकोर्ट की कड़ी फटकार, कोरोना वायरस से निपटने नहीं दिखाई गंभीरता

यूरोप में सबसे ज्यादा मौतें

सबसे ज्यादा 7,503 मौतें यूरोप में हुई हैं. स्पेन और इटली भी कोरोना वायरस की जबर्दस्त चपेट में हैं. अमेरिका में भी संक्रमण की वजह से मरने वालों का आंकड़ा 900 के पार जा पहुंचा है. फ्रांस में कोरोना वायरस के संक्रमण से 231 और लोगों की मौत के साथ ही इस खतरनाक वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 1,331 पहुंच गई है. देश के शीर्ष स्वास्थ्य अधिकारी जेरोम सालोमोन ने बताया कि अभी तक इस वायरस से 11,539 लोग अस्पताल में भर्ती हैं. भारत में अबतक कोरोना वायरस के 629 केस सामने आ चुके हैं. इसके अलावा इस व्यक्ति के संपर्क में आने वाले 4 लोग भी पॉजिटिव पाए गए हैं.

First Published: Mar 26, 2020 11:39:09 AM

न्यूज़ फीचर

वीडियो