वर्ल्ड बैंक के बाद IMF ने भी भारत को दिया झटका, विकास दर अनुमान घटाते हुए 6.1% रहने की जताई उम्मीद

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : October 16, 2019 12:04:32 AM
अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष

अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (Photo Credit : न्यूज स्टेट )

नई दिल्ली:  

विश्व बैंक (world bank) के बाद अब अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (IMF) ने भी भारत के संभावित विकास दर (development ratio) को घटा दिया है. IMF ने भारत की उम्मीद पर पानी फेर दिया है. IMF ने भारत के विकास दर को लेकर अप्रैल में लगाए गए अनुमान में 1.2 फीसदी की कटौती कर दी है. उन्होंने सिर्फ 6.1 फीसदी रहने की संभावना जताई है. हालांकि IMF ने भारत को राहत देते हुए कहा है कि 2020 में ग्रोथ रेट 7 पर्सेंट रहने की उम्मीद है. IMF ने 2019 में वैश्विक आर्थिक वृद्धि (economy growth) दर का अनुमान घटाकर 3 प्रतिशत कर दिया है.

यह भी पढ़ें- Ayodhya Case: क्या आप जानते हैं अयोध्या में बनने वाले राम मंदिर का डिजाइन किसने तैयार किया है?

पिछले साल इसका अनुमान 3.8 प्रतिशत थी. भारत के लिए खुशी की एक बात यह है कि रफ्तार में कमी के बावजूद वह चीन के साथ 'सबसे तेज अर्थव्यवस्था' का तमगा फिर हासिल कर सकता है. 2020 में बड़ी कामयाबी हासिल करेगा. 2020 में पहले स्थान पर अकेले काबिज होगा. IMF ने अप्रैल में कहा था कि चालू वित्त वर्ष में भारत 7.3 फीसदी की गति से आगे बढ़ेगा. हालांकि 3 महीने बाद इसने अनुमान में 0.3 फीसदी की कटौती की थी.

यह भी पढ़ें- अयोध्या राम मंदिर निर्माण का काम 65 फीसदी पूरा, ग्राउंड फ्लोर के 106 खंभे भी तैयार

2018 में विकास दर 6.9 फीसदी रही थी. इससे पहले विश्व बैंक ने भारत की आर्थिक वृद्धि दर का अनुमान घटाकर रविवार को 6 प्रतिशत कर दिया. वर्ल्ड बैंक ने कहा कि महंगाई दर कम है और यदि मौद्रिक रुख नरम बना रहा तो वृद्धि दर धीरे-धीरे सुधर कर 2021 में 6.9 प्रतिशत और 2022 में 7.2 प्रतिशत हो जाने का अनुमान है.

First Published: Oct 15, 2019 10:16:05 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो