केंद्रीय बजट इस दशक को 'भारत का दशक' बनाएगा, उज्जवल भविष्य की नींव होगा

News State  |   Updated On : February 01, 2020 10:35:27 AM
केंद्रीय बजट इस दशक को 'भारत का दशक' बनाएगा, उज्जवल भविष्य की नींव होगा

सांकेतिक चित्र (Photo Credit : न्यूज स्टेट )

ख़ास बातें

  •  एक नए भारत का निर्माण करने के लिए तैयार करेगा बजट.
  •  राष्ट्रपति कोविंद ने भी 'नए दशक' विषय पर काफी जोर दिया.
  •  बजट संरचनात्मक सुधारों के जरिये अर्थव्यवस्था को उभारेगा.

नई दिल्ली:  

बजट सत्र की शुरुआत में राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM narendra Modi) द्वारा दिए गए व्याख्यान से संकेत मिला है कि आज पेश किया जाने वाला बजट (Budget 2020) भारत के लिए एक नए दशक की शुरुआत और एक नए भारत का निर्माण करने के लिए तैयार किया जा सकता है. प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार की सुबह संसद (Parliament Session) का बजट सत्र शुरू होने से पहले अपने प्रथागत वक्तव्य में भारत के लिए एक नए दशक की शुरुआत के संकेत दिए थे. इस दौरान मोदी ने सभी सांसदों से 'नए दशक में देश के उज्‍जवल भविष्य' के लिए एक मजबूत नींव रखने की दिशा में काम करने के लिए कहा.

यह भी पढ़ेंः Budget 2020: गृह मंत्री अमित शाह संसद भवन पहुंचे

भारतीय अर्थव्यवस्था को आगे ले जाना होगा
प्रधानमंत्री ने देश में आर्थिक मुद्दों पर व्यापक चर्चा करने और वर्तमान वैश्विक आर्थिक परिदृश्य में भारत को अधिकतम लाभ कैसे पहुंचाएं, इसका आह्वान किया. उन्होंने कहा, 'हमें इस सत्र में ज्यादातर आर्थिक मुद्दों पर ध्यान केंद्रित करना चाहिए. हमें यह देखने की कोशिश करनी चाहिए कि भारत वर्तमान वैश्विक आर्थिक परिदृश्य से सबसे अधिक लाभ कैसे उठा सकता है और देश की अर्थव्यवस्था को कैसे आगे ले जाया जा सकता है.'

यह भी पढ़ेंः क्रिकेट का सबसे बड़ा मुकाबला : पाकिस्तान भी सेमीफाइनल में पहुंचा, अब भारत से होगा सामना

नए दशक पर रहेगा जोर
इसके अलावा राष्ट्रपति कोविंद ने भी 'नए दशक' विषय पर काफी जोर दिया. इस दौरान उन्होंने इस सदी को भारत की सदी बनाने पर जोर दिया. राष्ट्रपति कोविंद ने संसद को अपने संबोधन में कहा, 'यह दशक भारत के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण है. इस दशक में हम अपनी स्वतंत्रता के 75 वर्ष पूरे करेंगे. इस दशक में हम सभी को एक नया भारत बनाने के लिए नई ऊर्जा के साथ काम करना होगा. सरकार के प्रयासों से पिछले पांच वर्षों में एक मजबूत नींव रखी गई है, ताकि इस दशक को भारत का दशक और इस सदी को भारत की सदी बनाया जा सके.'

यह भी पढ़ेंः शाहीन बाग के प्रदर्शनकारियों से बातचीत को मोदी सरकार तैयार, रविशंकर बोले- शंकाएं करेंगे दूर

संरचनात्मक सुधारों पर जोर
उन्होंने कहा, 'मैं 21वीं सदी के तीसरे दशक की शुरुआत में संसद के संयुक्त बैठक को संबोधित करते हुए प्रसन्न हूं. मैं एक बार फिर से नए साल की शुभकामनाएं देता हूं और संसद के सभी सदस्यों को इस ऐतिहासिक अवसर का गवाह बनने के लिए बधाई देता हूं.' भारत के लिए इस नए दशक पर ध्यान केंद्रित करने और वैश्विक आर्थिक अवसरों को भुनाने के साथ यह बजट संरचनात्मक सुधारों की ओर अग्रसर होते हुए अर्थव्यवस्था को उभारने का काम कर सकता है. शनिवार को पेश किए जाने वाले इस बजट का सभी को इंतजार है.

First Published: Feb 01, 2020 10:35:27 AM

न्यूज़ फीचर

वीडियो