PMC Bank Scam: पीएमसी बैंक घोटाले में 3 और डायरेक्टर हुए गिरफ्तार, आज कोर्ट में पेश किया जाएगा

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : December 04, 2019 09:02:25 AM
पीएमसी बैंक घोटाले में 3 और डायरेक्टर हुए गिरफ्तार

पीएमसी बैंक घोटाले में 3 और डायरेक्टर हुए गिरफ्तार (Photo Credit : फाइल फोटो )

नई दिल्ली:  

PMC Bank Scam: पंजाब एंड महाराष्ट्र कॉर्पोरेशन बैंक (PMC Bank) घोटाले में 3 और डायरेक्टर को गिरफ्तार कर लिया गया है. गिरफ्तार किए गए डायरेक्टर में 2 महिलाएं हैं. डॉ तृप्ति बने रिकवरी कमिटी की मेंबर थीं, जबकि मुक्ति बावीसी लोआन एंड एडवांसेस कमिटी की मेंबर थीं. वहीं जगदीश मुखी ऑडिट कमिटी के मेंबर थे. गिरफ्तार किए गए तीनों डायरेक्टर्स को आज कोर्ट में पेश किया जाएगा.

यह भी पढ़ें: Gold Rate Today: जानकार आज लगा रहे हैं MCX पर सोने-चांदी में तेजी का अनुमान, जानें टॉप ट्रेडिंग कॉल्स

खाताधारकों को प्रमोटरों की जब्त संपत्ति की नीलामी से दिया जा सकता है पैसा
बता दें कि इससे पहले वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने लोकसभा में पंजाब एंड महाराष्ट्र कॉर्पोरेशन बैंक (PMC Bank) घोटाले को लेकर बड़ा बयान दिया था. उन्होंने कहा था कि हमने सुनिश्चित किया है कि प्रमोटरों की संलग्न संपत्तियां कुछ शर्तों के तहत RBI को दी जा सकती हैं. इसके अलावा उन संपत्तियों की नीलामी के जरिए मिले पैसे को जमाकर्ताओं (Depositors) को पैसा दिया जा सकता है. उन्होंने कहा कि पीएमसी बैंक के करीब 78 फीसदी खाताधारकों को अपने अकाउंट से पैसा निकालने की अनुमति दी जा चुकी है.

यह भी पढ़ें: Petrol Rate Today 4 Dec: आपके शहर में किस भाव पर मिल रहा है पेट्रोल, चेक करें पूरी रेट लिस्ट

मेडिकल इमर्जेंसी में बैंक से निकाल सकेंगे 1 लाख रुपये
बता दें कि इससे पहले पंजाब और महाराष्ट्र को ऑपरेटिव बैंक (PMC Bank) के खाताधारकों के लिए एक बड़ी राहत की खबर सामने आई थी. दरअसल, पीएमसी बैंक के खाताधारक अब आकस्मिक चिकित्सा (medical emergency) की स्थिति में 1 लाख रुपये तक की निकासी के लिए RBI द्वारा नियुक्त प्रशासक से संपर्क कर सकते हैं.

दिल्ली, मुंबई और चेन्नई समेत देश के बड़े शहरों के सोने-चांदी के आज के रेट जानने के लिए यहां क्लिक करें

यह भी पढ़ें: सरकार अर्थव्यवस्था में सुधार के अतिरिक्त उपायों के लिए प्रतिबद्ध, वित्त मंत्री का बयान

RBI ने पैसा निकालने पर लगी पाबंदियों को चुनौती देने वाली याचिकाओं के लिए हाईकोर्ट में दिए अपने हलफनामे में इसका जिक्र किया था. RBI ने हलफनामे में विवाह, शिक्षा, आजीविका सहित अन्य मुश्किलों वाली स्थितियों के लिए 50,000 रुपये तक की निकासी की भी जानकारी कोर्ट को दी है.

First Published: Dec 04, 2019 08:45:22 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो