ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC) का दिवाली तोहफा, कल से सस्ती हो जाएगी होम, ऑटो लोन की EMI

न्यूज स्टेट ब्यूरो  |   Updated On : October 09, 2019 03:51:22 PM
ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (Oriental Bank of Commerce-OBC)

ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (Oriental Bank of Commerce-OBC) (Photo Credit : फाइल फोटो )

नई दिल्ली:  

ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (Oriental Bank of Commerce-OBC) ने ग्राहकों को दिवाली (Diwali) का शानदार तोहफा दिया है. OBC ने सभी टेन्योर के मार्जिनल कॉस्ट लेंडिंग रेट (MCLR) में 0.5 से 0.10 फीसदी की कटौती करने की घोषणा की है. OBC के इस कदम के बाद सभी श्रेणी के ग्राहकों को जबर्दस्त फायदा होने जा रहा है. OBC की नई संशोधित दरें गुरुवार यानि 10 अक्टूबर से लागू हो जाएंगी. बैंक के इस कदम के बाद मौजूदा ग्राहकों की होम (Home) और ऑटो लोन (Auto Loan) की EMI सस्ती हो जाएगी. बैंक से मिली जानकारी के मुताबिक OBC का एक साल की अवधि के लिए MCLR अब 8.40 फीसदी से घटकर 8.35 फीसदी हो गया है.

यह भी पढ़ें: SBI ने सेविंग बैंक अकाउंट (Saving Bank Deposit) और फिक्स्ड डिपॉजिट (Fixed Deposit) को लेकर किया बड़ा फैसला

SBI ने MCLR में 0.10 फीसदी की कटौती की
SBI ने MCLR में 0.10 फीसदी की कटौती करने की घोषणा की है. बता दें कि SBI ने लगातार छठी बार ब्याज दरों में कटौती कर दी है. इस घोषणा के बाद होम (Home), ऑटो (Auto) और पर्सनल (Personal) लोन सस्ते हो जाएंगे. इसके अलावा नया लोन लेने वाले ग्राहकों को भी इसका फायदा मिलेगा. SBI की नई दरें गुरुवार यानि 10 अक्टूबर से लागू होंगी.

यह भी पढ़ें: अगर आपने SBI से होम (Home), ऑटो (Auto) या पर्सनल लोन (Personal Loan) लिया है तो ये खबर सिर्फ आपके लिए ही है

SBI से मिली जानकारी के मुताबिक त्यौहारों को देखते हुए अधिक से अधिक ग्राहकों को लाभ पहुंचाने के उद्देश्य से बैंक ने MCLR को घटाने का निर्णय लिया है. बता दें कि SBI ने सभी मैच्योरिटी वाले लोन के लिए MCLR की दर को 0.10 फीसदी घटा दिया है. बैंक के इस फैसले के बाद 1 साल के लिए नई MCLR दर 8.15 फीसदी से घटकर 8.05 फीसदी पर आ गई है.

यह भी पढ़ें: बैंक ऑफ बड़ौदा (Bank Of Baroda-BoB) ने होम, ऑटो और पर्सनल लोन को लेकर किया बड़ा फैसला

गौरतलब है कि RBI द्वारा रेपो रेट को घटाने के बाद SBI ने MCLR पर आधारित कर्ज की दरों को कम कर दिया है. मतलब ये हुआ कि अब हर महीने EMI के लिए 0.10 फीसदी कम पैसा चुकाना होगा. गौरतलब है कि MCLR घटने से मौजूदा लोन सस्ते हो जाते हैं. ग्राहकों को पुरानी EMI के मुकाबले घटी हुई EMI देनी पड़ती है.

यह भी पढ़ें: सातवां वेतन आयोग (7th Pay Commission): सरकारी कर्मचारियों के लिए बड़ा फैसला, नरेंद्र मोदी सरकार ने महंगाई भत्ता 5 फीसदी बढ़ाया

MCLR क्या है - What is MCLR
MCLR को मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट भी कहते हैं. इसके तहत बैंक अपने फंड की लागत के हिसाब से लोन की दरें तय करते हैं. ये बेंचमार्क दर होती है. इसके बढ़ने से आपके बैंक से लिए गए सभी तरह के लोन महंगे हो जाते हैं. साथ ही MCLR घटने पर लोन की EMI सस्ती हो जाती है.

First Published: Oct 09, 2019 03:51:22 PM
Post Comment (+)

LiveScore Live Scores & Results

न्यूज़ फीचर

वीडियो