विकास समीक्षा यात्रा के दौरान नीतीश के काफिले पर हमला, तेजस्वी बोले राजनीतिक चरित्र की समीक्षा करें

तेजस्वी ने लिखा, 'मुख्यमंत्री नीतीश जी आत्ममनन और चिंतन करें कि हर जगह, हर समय और हर क्षेत्र के लोग उनका विरोध क्यों और किसलिए कर रहे है?

  |   Updated On : January 13, 2018 07:44 AM
तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)

तेजस्वी यादव (फाइल फोटो)

नई दिल्ली:  

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश सरकार पर पूर्व उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव का ज़ुबानी हमला थमने का नम नहीं ले रहा है। 

शुक्रवार को सीएम की समीक्षा यात्रा के दौरान पत्थरबाजी की घटना पर तेजस्वी यादव ने दुख व्यक्त किया है साथ ही नीतीश कुमार पर हमला भी बोला है।

तेजस्वी यादव ने पहले दुख ज़ाहिर करते हुए लिखा, 'माननीय मुख्यमंत्री के काफ़िले पर हमला बेहद चिंतनीय है। जिस दिन से समीक्षा यात्रा शुरू हुई उसी दिन से हर जिले मे मुख्यमंत्री को विरोध, प्रदर्शन और नारेबाज़ी का दुखद सामना करना पड़ रहा है। मैंने शुरू मे ही कहा था मुख्यमंत्री जी पहले अपने व्यक्तित्व और राजनीतिक चरित्र की समीक्षा करें।'

वहीं आगे तेजस्वी यादव ने मुख्यमंत्री पर हमला तेज़ करते हुए लिखा, 'पूरा सरकारी तंत्र शातिर तरीक़े से मुख्यमंत्री के विरुद्ध विरोध प्रदर्शन को कहीं कोई ख़बर नहीं बनने देता। कहीं जूता-चप्पल चल रहा है, हवाई फ़ायरिंग करनी पड़ रही है, कहीं पुलिसकर्मियों को निलंबित किया जा रहा है, दलितों को भगाया जा रहा है। नियोजित शिक्षको को दुत्कारा जा रहा है।'

उन्होंने लिखा, 'मुख्यमंत्री नीतीश जी आत्ममनन और चिंतन करें कि हर जगह, हर समय और हर क्षेत्र के लोग उनका विरोध क्यों और किसलिए कर रहे है? मुख्यमंत्री बताये किस असुरक्षा की भावना से ग्रस्त होकर वो शिक्षा,स्वास्थ्य,विकास और रोज़गार जैसे अतिज़रूरी और गंभीर मसलों को छोड़कर दूसरा राग अलाप रहे है?'

वहीं उप-मुख्यमंत्री सुशील मोदी पर हमला करते हुए तेजस्वी ने लिखा, 'बिहार में सरेआम मुख्यमंत्री पर हमला हो रहा है लेकिन महाजंगलराज पर कोई विमर्श नहीं क्योंकि जंगलराज अलापने वाले श्री श्री मंगलम श्री सुशील मोदी उपमुख्यमंत्री है।'

बता दें कि शुक्रवार को समीक्षा यात्रा के दौरान सीएम नीतीश कुमार जब बक्सर के नांदन गांव से गुजर रहे थे तो भीड़ ने काफिले पर पत्थरबाजी शुरू कर दी।

भीड़ के इस हमले में मुख्यमंत्री बाल-बाल बच गए जबकि उनके सुरक्षाकर्मियों को गंभीर चोटें आई हैं। इस हमले में डुमरांव थाने के थानाध्यक्ष का सिर फूट गया और लगभग एक दर्जन वाहनों के शीशे टूट गए।

पप्पू यादव ने की इस्तीफे की पेशकश, नीतीश सरकार पर लगाया आरोप, कहा- नहीं करने दे रहे काम

इस हमले में कई सीएम के काफिल में शामिल कई गाड़ियों के शीशे टूट गए। पुलिस का कहना है कि कुछ असामाजिक तत्वों ने सीएम के काफिले पर हमला बोल दिया और जमकर पत्थरबाजी की।

दरअसल, गांव में विकास कार्यों को लेकर स्थानीय लोग नीतीश कुमार से नाराज़ थे और उनकी मांग थी कि जहां विकास नहीं हुआ है वहां पर चलकर सीएम जायजा लें। इसी को लेकर विवाद बढ़ने से मामला गंभीर हो गया और पत्थरबाजी हो गई।

एक अधिकारी ने बताया कि ग्रामीणों के बीच कुछ असामाजिक तत्व घुस गए थे, जिन्होंने पथराव किया। लेकिन एक समाचार चैनल के मुताबिक, दलित बस्ती के लोगों ने मुख्यमंत्री से आग्रह किया कि वे उनकी बस्ती में भी जाएं और देखें कि वे किस हाल में रह रहे हैं।

वे चाहते थे कि नीतीश देखें कि विकास कार्य में उनके साथ किस तरह भेदभाव हो रहा है। लेकिन मुख्यमंत्री का काफिला दूसरी ओर मुड़ गया। इसके बाद कुछ महिलाओं ने काफिले पर ईंट-पत्थर बरसाना शुरू कर दिया।

हालांकि सीएम नीतीश कुमार के काफिले पर हुए हमले की जांच के लिए सरकार ने टीम का गठन कर दिया है।

बक्सर में सीएम नीतीश के काफिले पर हमला, सरकार ने जांच टीम गठित की

First Published: Saturday, January 13, 2018 07:28 AM

RELATED TAG: Nitish Kumar, Tejashwi Yadav, Stone Pelted, Samiksha Yatra,

देश, दुनिया की हर बड़ी ख़बर अब आपके मोबाइल पर, डाउनलोड करें न्यूज़ स्टेट एप IOS और Android यूज़र्स इस लिंक पर क्लिक करें।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

न्यूज़ फीचर

मुख्य ख़बरे

वीडियो

फोटो