BREAKING NEWS
  • यूपी उपचुनावः रामपुर में पकड़े गए 7 फर्जी एजेंट, समाजवादी पार्टी के लिए कर रहे थे काम- Read More »
  • यूपी: सोशल मीडिया पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के मामले में 4 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज- Read More »

नरेंद्र मोदी सरकार के बड़े कदम उठाने के बावजूद पैसेंजर कारों की बिक्री घटी

सैयद आमिर हुसैन  |   Updated On : October 11, 2019 11:32:10 AM
कारों की बिक्री में गिरावट

कारों की बिक्री में गिरावट (Photo Credit : फाइल फोटो )

दिल्ली:  

नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) सरकार के बड़े कदम उठाने के बावजूद पैसेंजर कारों की बिक्री में गिरावट दर्ज की जा रही है. पैसेंजर कारों की बिक्री में 23.69 फीसदी की गिरावट देखने को मिल रही है. M&HCV कैटेगरी के कमर्शियल व्हीकल की बिक्री में 62.11 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है. वहीं पैसेंजर कैरियर व्हीकल्स की बिक्री में 23 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है. ताजा आंकड़ों के मुताबिक दो पहिया वाहनों की बिक्री में 22.09 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है. सितंबर के दौरान सभी कैटेगरी वाहनों की बिक्री में 22.41 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है. सोसाइटी ऑफ इंडियन ऑटोमोबाइल मैन्युफैक्चरर्स (SIAM) ने जारी किए आंकड़े.

यह भी पढ़ें: SBI के बाद Paytm Bank ने भी सेविंग अकाउंट (Saving Account) को लेकर किया बड़ा फैसला

सितंबर में पैसेंजर व्हीकल का उत्पादन घटा
लगातार 10 वें महीने ऑटोमोबाइल सेक्टर पर संकट जारी है. सेल्स और प्रोडक्शन में लगातार गिरावट देखने को मिल रही है. सितंबर महीने में पैसेंजर व्हीकल के प्रोडक्शन में 18.12 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है. सितंबर में कुल 2,79,644 पैसेंजर व्हीकल का प्रोडक्शन हुआ है, जबकि सितंबर 2018 में 3,41,539 पैसेंजर व्हीकल का उत्पादन हुआ था. पैसेंजर व्हीकल सेगमेंट में कारों के सेल्स में 33.40 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है.

यह भी पढ़ें: Gold Price Today: गोल्ड ईटीएफ (Gold ETF) में निवेशकों का रुझान बढ़ा

सितंबर महीने में पैसेंजर व्हीकल की सेल्स में 23.69 फीसदी की गिरावट देखने को मिल रही है. सितंबर 2019 में कुल 2,23,317 पैसेंजर गाड़ियों की बिक्री हुई, जबकि 2018 जुलाई में 2,92,660 गाड़ियों की बिक्री हुई थी.

यह भी पढ़ें: Gold Rate Today 11th Oct: सोने-चांदी में उठापटक की आशंका, जानकारों से जानें आज क्या बनाएं रणनीति

दोपहिया वाहनों का उत्पादन 17.98 फीसदी घट गया है. दोपहिया वाहनों की बिक्री में भी 22.09 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है. अप्रैल से सितंबर 2019 के दौरान गाड़ियों के प्रोडक्शन में 15.94 फीसदी की गिरावट आई है. ऑटो कंपनियों ने कुल 17,70,357 गाड़ियों का उत्पादन किया था, जबकि अप्रैल-सितंबर 2018 में कुल 21,06,019 गाड़ियों का उत्पादन हुआ था. अप्रैल से सितंबर 2019 तक में गाड़ियों के सेल्स में 23.56 फीसदी की गिरावट आई है, जिसमें पैसेंजर कारों की सेल्स में 30.30 फीसदी, टू व्हीलर के सेल्स में 16.18 फीसदी की कमी आई है.

यह भी पढ़ें: Rupee Open Today 11th Oct: 1 हफ्ते की ऊंचाई पर पहुंच गया रुपया, 24 पैसे बढ़कर खुला भाव

वाहनों की बिक्री में गिरावट की बड़ी वजहें
आर्थिक मंदी, कंज्यूमर सेंटीमेंट में कमी, यूपी, बिहार, महाराष्ट्र, केरल, मध्यप्रदेश के कई इलाकों में आए बाढ़, सुस्त ग्रामीण मांग और वाहन बीमा कॉस्ट में बढ़ोतरी की वजह से गाड़ियों की बिक्री प्रभावित हुई है.

यह भी पढ़ें: रिलायंस जियो (Reliance Jio) ने यूजर्स पर लगाया चार्ज, Vodafone-Idea ने कहा हम नहीं लेंगे

क्या है उम्मीद

  • सामान्य से बेहतर मॉनसून होने से किसानों की ओर से मांग में तेजी आने की संभावना
  • बीएस 6 इंजन वाली वाहनों के आने से बिक्री बढ़ेगी
  • रोड और इंफ्रास्ट्रक्चर बेहतर होने से भी बिक्री बढ़ने की उम्मीद
  • प्रतीक्षित स्क्रेपज पॉलिसी के आने से भी पड़ेगा प्रभाव
  • सरकार लगातार आर्थिक मंदी से उबारने के लिए कदम उठा रही है जिसका असर भी वाहनों की बिक्री में दिखेगा

First Published: Oct 11, 2019 10:59:32 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो