होंडा (Honda) ने बिहार में अपनी पहली BS-6 बाइक एसपी-125 पेश की

Bhasha  |   Updated On : December 18, 2019 11:41:15 AM
होंडा (Honda) ने बिहार में अपनी पहली BS-6 बाइक एसपी-125 पेश की

Honda Motorcycle and Scooter India Pvt Ltd-HMSI (Photo Credit : फाइल फोटो )

पटना:  

होंडा मोटरसाइकल एंड स्कूटर इंडिया प्रा. लिमिटेड (Honda Motorcycle and Scooter India Pvt Ltd-HMSI) ने मंगलवार को बिहार में अपनी पहली भारत चरण छह (बीएस छह) मोटरसाइकल एसपी-125 (SP-125) को पेश किया. कंपनी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष (बिक्री एवं विपणन) यादवेंदु सिंह गुलेरिया ने कंपनी की पहली बीएस-छह मोटरसाइकल को यहां पेश करते हुए बताया कि आज से ही बिहार में इसकी डिलिवरी शुरू कर दी गई है.

यह भी पढ़ें: जीएसटी काउंसिल (GST Council) की आज है अहम बैठक, सरकार ले सकती है बड़ा फैसला

उन्होंने कहा कि 19 पेटेंट एप्लिकेशन्स के साथ यह 16 प्रतिशत बेहतर माइलेज देती है और इसकी सर्टिफाइड एवरेज 72 किलोमीटर प्रति लीटर है. गुलेरिया ने बताया होंडा की नई एसपी 125 दो संस्करणों (ड्रम और डिस्क) और चार रंगों (स्ट्राइकिंग ग्रीन, मैट एक्सिस ग्रे, मैटेलिक, इम्पीरियल रेड मैटेलिक एवं पर्लसायरन ब्लू) में उपलब्ध होगी. इसकी शुरुआती कीमत 72,323 रुपये होगी. गुलेरिया ने बताया कि उनकी कंपनी ने पहली बार बीएस छह स्कूटर एक्टिवा 125 सितंबर से बेचना शुरू किया था और अब हम देश में पहली बीएस-छह मोटरसाइकिल एसपी 125 ग्राहकों के लिए लेकर आए हैं.

यह भी पढ़ें: अन्य नेटवर्क पर कॉल के लिए 6 पैसे प्रति मिनट का शुल्क जारी रहेगा

उन्होंने बताया कि बीएस-छह के इन दोनों वाहनों को मिलाकर इस महीने हम 50 हजार वाहनों की बिक्री का आंकड़ा पार कर लिया है. गुलेरिया ने कहा कि दोपहिया के मामले में बिहार में हमारी बाजार हिस्सेदारी पिछले साल की तुलना में दो प्रतिशत की वृद्धि के साथ 13 प्रतिशत पर पहुंच गई है.

टाटा मोटर्स को वाणिज्यिक वाहनों की बिक्री बढने की उम्मीद


टाटा मोटर्स को वाणिज्यिक वाहनों के व्यवसाय में अगले वित्त वर्ष की दूसरी छमाही से तेजी आने की उम्मीद है. कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने यह अनुमान जताते हुए कहा कि अभी कुछ महीने यह बाजार मंदा बना रहेगा. मांग की कमजोरी के कारण वह घरेलू बाजार में बीएस-छह उत्सर्जन मानक वाले वाणिज्यिक वाहनों को पेश करने अपनी गति धीमी रखेगी. टाटा मोटर्स के सीईओ और प्रबंध निदेशक, गुइंटर बुशेक ने बताया कि मेरा मानना ​​है कि अभी अगले वित्त वर्ष की पहली छमाही में विशेष रूप से वाणिज्यिक वाहनों के बाजार के बारे में कोई अनुमान व्यक्त नहीं किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि वाणिज्यिक वाहन उद्योग की वृद्धि का संबंध देश की अर्थव्यवस्था से होता है. उन्होंने कहा कि सरकार ने विभिन्न पहल शुरू की हैं. इन सभी कारकों से हमें लगता है कि अगले वित्त वर्ष की दूसरी छमाही में परिदृश्य सकारात्मक होगा.

First Published: Dec 18, 2019 11:40:56 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो