देखती रह गई कांग्रेस (Congress), हरियाणा (Haryana) में सरकार बनाने का बीजेपी (BJP) ने कर लिया जुगाड़

न्‍यूज स्‍टेट ब्‍यूरो  |   Updated On : October 25, 2019 12:04:57 PM
मनोहरलाल खट्टर, हरियाणा के मुख्‍यमंत्री

मनोहरलाल खट्टर, हरियाणा के मुख्‍यमंत्री (Photo Credit : File Photo )

नई दिल्‍ली :  

हरियाणा (Haryana) में त्रिशंकु विधानसभा (Hung Assembly) के हालात पैदा होने के बाद गोवा (Goa) और मणिपुर (Manipur) के राजनीतिक हालात की याद ताजा हो गई है. इन दोनों राज्‍यों में भी त्रिशंकु विधानसभा थी और बीजेपी दोनों ही राज्‍यों में कांग्रेस (Congress) से कही पीछे थी. फिर भी कांग्रेस (Congress) निष्‍क्रिय पड़ी रही और बीजेपी (BJP) ने दोनों जगह सरकार बना ली. हरियाणा में इस बार बीजेपी बहुमत से चूक गई है. उसे जरूरत से 6 सीटें कम मिली हैं, लेकिन बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह (BJP President Amit Shah) और कार्यकारी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) गुरुवार आधी रात तक बैठकें करते रहे. निर्दलीय विधायकों को साधने के लिए सांसद सुनीता दुग्‍गल (Sunita Duggal) को तैनात किया गया और उन्‍होंने वो काम किया भी. नतीजा बीजेपी का दावा है कि 5 निर्दलीय विधायक उसके साथ आ गए हैं. इसके उलट कांग्रेस नेताओं ने गंभीर प्रयास नहीं किया और एक बार फिर बीजेपी बाजी मारती दिख रही है.

यह भी पढ़ें : BJP के इस दांव से चक्‍कर में आ जाएंगे दुष्‍यंत चौटाला, टूटेगा किंगमेकर बनने का सपना

हरियाणा विधानसभा चुनाव (Haryana Assembly Election 2019) में त्रिशंकु विधानसभा की स्‍थिति होने पर निर्दलीय विधायकों और दुष्‍यंत चौटाला की पार्टी जननायक जनता पार्टी की चांदी हो गई है. हालांकि बीजेपी निर्दलीयों के भरोसे ही सरकार बनाकर चलती हुई दिख रही है. पार्टी सूत्रों का दावा है कि 5 निर्दलीय विधायकों ने बीजेपी को समर्थन देने का वादा किया है. हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला का कहना है कि निर्दलीय विधायक बीजेपी के साथ हैं और मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्व में हम फिर सरकार बनाएंगे.

न्यूज़ एजेंसी एएनआई के मुताबिक, सुभाष बराला ने कहा कि जनता का जनादेश बीजेपी को मिला है. हालांकि इस बात की भी हम समीक्षा करेंगे कि हमें इस बार पिछली बार की तुलना में सात सीटें कम क्यों मिलीं. पार्टी और मुझे स्वयं इस चुनाव के परिणामों से सीखने को मिलेगा. हम राज्य में पार्टी को मजबूत करने के लिए कदम उठाएंगे. सरकार बनाने की बात पर उन्होंने कहा कि हरियाणा के निर्दलीय विधायक बीजेपी के साथ हैं. मनोहर लाल खट्टर के नेतृत्व में सरकार बनेगी. वो आज चर्चा के लिए दिल्ली आ रहे हैं.

यह भी पढ़ें : बीजेपी (BJP) के चाणक्‍य बन गए मोदी सरकार (Modi Sarkar) के खेवैया, नतीजा हरियाणा चुनाव (Haryana Election) के रूप में सामने है

हरियाणा विधानसभा चुनाव के नतीजों में बीजेपी को 40, कांग्रेस को 31 तो दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी को 10 सीटें मिली हैं. इस तरह बीजेपी बहुमत से 6 सीट दूर रह गई है. हालांकि सिरसा से हरियाणा लोकहित पार्टी से चुनाव जीते गोपाल कांडा ने बीजेपी को समर्थन देने के संकेत दिए हैं. उनके साथ रानियां के निर्दलीय विधायक रणजीत सिंह चौटाला भी बीजेपी के साथ आ गए हैं, जैसा कि दावा किया जा रहा है. सांसद सुनीता दुग्गल इन विधायकों को लेकर गुरुवार की रात चार्टर प्लेन से दिल्ली आई थीं, जहां बीजेपी के कार्यकारी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा से उनकी मुलाकात कराई गई थी. इन विधायकों से मुलाकात के बाद जेपी नड्डा ने पार्टी अध्‍यक्ष अमित शाह से मुलाकात की थी.

First Published: Oct 25, 2019 11:27:38 AM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो