BREAKING NEWS
  • भारत और चीन के संबंध शर्तों की मोहताज नही- चीनी राजदूत सन वेइदॉन्ग- Read More »
  • चीनी ऐप टिकटॉक (TikTok) ने निखिल गांधी (Nikhil Gandhi) को बनाया इंडिया हेड- Read More »
  • 24 घंटे में पुलिस ने सुलझाया कमलेश तिवारी हत्याकांड, रशीद पठान था मास्टरमाइंड- Read More »

बीजेपी हरियाणा में फिर से बनाएगी सरकार, मनोहर लाल खट्टर ने किया दावा

आईएनएस  |   Updated On : September 22, 2019 12:06:58 AM
मनोहर लाल खट्टर (फाइल फोटो)

मनोहर लाल खट्टर (फाइल फोटो) (Photo Credit : )

नई दिल्ली:  

हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने शनिवार को उम्मीद जताई कि भाजपा फिर से राज्य में अगली सरकार बनाएगी. चुनाव आयोग द्वारा राज्य की 90 सीटों पर 21 अक्टूबर को विधानसभा चुनाव की घोषणा करने के कुछ घंटों बाद खट्टर ने ट्वीट किया, 'लोकतंत्र के इस महापर्व के लिए हमारी पार्टी पूरी तरह तैयार है.'

उन्होंने कहा, 'हमारी सरकार ने प्रदेश के विकास और प्रदेशवासियों के हित में निष्पक्ष भाव से कार्य किए हैं. हमें पूरा विश्वास है कि इस बार भाजपा परिवार के सदस्य जीत के पटाखों के साथ दिवाली मनाएंगे.'

इससे पहले यहां मीडिया को संबोधित करते हुए खट्टर ने सरकार बनाने का विश्वास व्यक्त किया. उन्होंने कहा कि विपक्ष विभाजित है और उनकी पार्टी कुल 90 में से 75 सीटों पर जीत हासिल करेगी.

इसे भी पढ़ें:गगनयान देश के लिए काफी महत्वपूर्ण, इसरो चीफ के. सिवन ने कही बड़ी बात

मुख्यमंत्री ने कहा कि नामांकन प्रक्रिया शुरू होने से पहले भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अपने चुनाव लड़ने वाले उम्मीदवारों के नामों को अंतिम रूप दे देगी.

खट्टर ने दोहराया कि हरियाणा राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर (एनआरसी) को लागू करेगा, क्योंकि यह राष्ट्रहित में है.

नई दिल्ली में चुनाव की घोषणा के बाद कांग्रेस नेता कुलदीप बिश्नोई के चचेरे भाई दुरा राम यहां खट्टर की उपस्थिति में भाजपा में शामिल हो गए.

दुरा राम 2005 से 2009 तक फतेहाबाद से विधायक थे और पिछली भूपेंद्र सिंह हुड्डा सरकार में संसदीय सचिव रहे.

और पढ़ें:नहीं बाज आ रहा पाकिस्तान, मेंढर सेक्टर के बालाकोट में किया सीजफायर का उल्लंघन

इंडियन नेशनल लोकदल (इनेलो) के वरिष्ठ नेता रामपाल माजरा भी भाजपा में शामिल हो गए हैं.

भाजपा ने 2014 के विधानसभा चुनाव में 47 सीटों पर जीत दर्ज करते हुए पहली बार प्रदेश में अपने बलबूते सरकार बनाई थी. पार्टी ने 2009 में मिली चार सीटों के बाद अप्रत्याशित जीत दर्ज की थी. पिछले विधानसभा चुनाव में इनेलो को 19 और कांग्रेस को 15 सीटों पर संतोष करना पड़ा था.

First Published: Sep 21, 2019 08:01:16 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो