'रिंकिया के पापा' का मजाक उड़ा केजरीवाल कर रहे पूर्वांचल के लोगों का उपहास- तिवारी

Bhasha  |   Updated On : January 23, 2020 06:06:58 PM
'रिंकिया के पापा' का मजाक उड़ा केजरीवाल कर रहे पूर्वांचल के लोगों का उपहास- तिवारी

'रिंकिया के पापा का मजाक उड़ा केजरीवाल कर रहे पूर्वांचलियों का उपहास' (Photo Credit : फाइल फोटो )

दिल्ली:  

भारतीय जनता पार्टी (BJP) की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष मनोज तिवारी ने आरोप लगाया है कि आम आदमी पार्टी और अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) 'रिंकिया के पापा' गाने का मजाक उड़ाकर पूर्वांचल के लोगों एवं उनकी संस्कृति का अपमान कर रहे हैं. मनोज तिवारी (Manoj Tiwari) ने पीटीआई भाषा को दिये साक्षात्कार में कहा कि दिल्ली में रहने वाले पूर्वांचल के लोग (पूर्वी उत्तर प्रदेश तथा बिहार के कुछ हिस्सों के लोग) केजरीवाल सरकार की ओर से दिये गए मुफ्त बिजली एवं पानी योजना में नहीं बहेंगे, क्योंकि उनमें से 98 फीसदी लोग भाजपा का समर्थन कर रहे हैं.

यह भी पढ़ेंः Delhi assembly elections 2020: मालवीय नगर सीट से क्या इस बार भी हैट्रिक लगा पाएंगे 'आप' के सोमनाथ भारती

भारतीय जनता पार्टी की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष तिवारी के बारे में उनके विचार पूछे जाने पर केजरीवाल ने हाल ही में भोजपुरी सिने जगत के जाने माने अभिनेता निशाना साधा था. हालांकि मुख्यमंत्री ने तिवारी को एक 'अच्छा गायक' करार दिया, जिन्होंने 'रिंकिया के पापा' गीत गाया है. तिवारी ने कहा कि दिल्ली चुनावों में पूर्वांचल के लोग भाजपा का समर्थन करेंगे क्योंकि केजरीवाल और उनकी पार्टी ने एक से अधिक बार उनका और उनकी संस्कृति का अपमान किया है. उन्होंने जोर देकर कहा कि गाने में 'रिंकिया' का आशय बेटियों से है. गाने का मजाक बना कर आप एवं केजरीवाल ने समाज में बेटियों एवं महिलाओं की भूमिका को नीचा दिखाया है.

तिवारी ने कहा, 'मुझे उनकी (केजरीवाल की) सोच पर दया आती है. ऐसे समय में जब देश में बेटी बचाओ के बारे में बात की जा रही है, तो वह उन पिताओं का मजाक उड़ा रहे हैं जिनकी बेटियां हैं. उन्होंने पूछा, 'रिंकिया के पापा एक गीत है....रिंकिया का आशय बेटियों से है, क्या किसी को बेटी होना अभिशाप है.' भाजपा नेता ने कहा कि राष्ट्रीय नागरिक पंजी के मामले में भी केजरीवाल ने पूर्वांचल के लोगों का अपमान किया है और उन्होंने यह बोलकर भी लोगों का अपमान किया है कि दिल्ली सरकार के अस्पतालों में बेहतर इलाज के लिए वे लोग यहां आते हैं.

यह भी पढ़ेंः Delhi Assembly Elections 2020: दिल्ली की सल्तनत को बदलने में यूपी-बिहार की बड़ी भूमिका

तिवारी ने कहा, 'वह (केजरीवाल) और उनकी पार्टी कहती हैं कि दिल्ली में अगर राष्ट्रीय नागरिक पंजी लागू हुआ तो मनोज तिवारी और पूर्वांचल के लोगों को दिल्ली छोड़ना होगा. वे कहते हैं कि पूर्वांचल के लोग 500 रुपये का टिकट खरीद कर दिल्ली सरकार के अस्पतालों में बेहतर इलाज के लिए चले आते हैं और इसके बाद वह अपने घर चले जाते हैं. अब वह मेरे गीत रिंकिया के पापा के लिए मेरा उपहास कर रहे हैं.' प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी दिल्ली में अगली सरकार बनाएगी और मुख्यमंत्री का चयन इसके विधायक करेंगे.

उन्होंने कहा, '(दिल्ली विधानसभा चुनाव में) भारतीय जनता पार्टी कम से कम 45 सीटें जीतेगी, जैसा हमारे सर्वेक्षणों में पता चला है. आम आदमी पार्टी और केजरीवाल हमेशा भाजपा के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के बारे में बातचीत करते हैं, इसका मतलब है कि वह हमारी जीत को स्वीकार कर रहे हैं. जहां तक हमारे मुख्यमंत्री की बात है तो हमारी पार्टी अगर दिल्ली में सरकार का गठन करेगी तो पार्टी के विधायक इसका चयन करेंगे.'

यह भी पढ़ेंः दिल्ली चुनाव में पाकिस्तान की एंट्री, कपिल मिश्रा बोले- 8 फरवरी को IND VS PAK

तिवारी ने दावा किया कि दिल्ली के लोग शांति एवं सुरक्षा के लिए मतदान केरेंगे न कि उनके पक्ष में जो संशोधित नागरिकता कानून का विरोध कर रहे हैं. उन्होंने कहा, 'दिल्ली के लोग हिंसा नहीं चाहते हैं. वह नहीं चाहते हैं कि आप एवं कांग्रेस पैसे बांट कर शाहीन बाग की सड़कों पर अराजकता फैलाये. वह एक सुरक्षित दिल्ली चाहते हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा बड़े अंतर से चुनाव जीतेगी.' उन्होंने कहा कि संशोधित नागरिकता कानून से किसी की नागरिकता नहीं जा रही है, जिस पर अब भी विरोध और हिंसा जारी है. तिवारी ने कहा, 'इसके पीछे कांग्रेस और आप हैं. हम लोगों के पास जायेंगे और उनसे पूछेंगे कि वह क्या चाहते हैं- सुरक्षित दिल्ली, विकसित दिल्ली अथवा यह हिंसा और अराजकता.' गौरतलब है कि दिल्ली विधानसभा की 70 सीटों के लिए आठ फरवरी को मतदान होगा और 11 फरवरी को मतों की गिनती की जाएगी.

First Published: Jan 23, 2020 06:06:58 PM

RELATED TAG:

न्यूज़ फीचर

वीडियो