दिल्ली चुनाव 2020: क्या मुफ्त की सौगातों से जीत दोहरा पाएंगे मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, देखें Exclusive Interview

News State Bureau  |   Updated On : January 28, 2020 11:59:23 PM
अरविंद केजरीवाल

अरविंद केजरीवाल (Photo Credit : न्यूज स्टेट )

नई दिल्ली:  

दिल्ली विधानसभा चुनाव 2020 को लेकर मुख्यमंत्री अऱविंद केजरीवाल ने न्यूज स्टेट के साथ खास बातचीत की. उन्होंने दिल्ली की जनता से आम आदमी पार्टी को जिताने के लिए निवेदन किया. इस दौरान उन्होंने दिल्ली से जुड़े तमाम मुद्दे पर बेबाकी से बात की. उन्होंने कहा कि मैं इस बार अपने काम पर वोट मांग रहा हूं. दिल्ली की जनता सिर्फ काम पर वोट करेंगे. इस बार आम आदमी पार्टी पूरे 70 सीट पर चुनाव जीत रही है. 

प्रश्न- दिल्ली के लिए आपने क्या काम किया

केजरीवाल : मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मैंने दिल्ली के लिए काम किया है. दिल्ली की जनता के लिए काम किया है. लोगों के दर्द को समझा है. मैंने बिजली, पानी, अस्पताल, महिलाओं के लिए फ्री सफर, शिक्षा समते कई काम किया है. केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली के बुजुर्गों को तीर्थ यात्रा कराने की जिम्मेदीरी दिल्ली सरकार ने ले लिए हैं. इसके लिए लोगों को अब भटकना नहीं पड़ता है. उन्होंने कहा कि जीवनदायिनी यमुना को इतना साफ करेंगे कि लोग अब उसमें डुबकी लगाते नजर आएंगे.

प्रश्न- बिजली के पैसे से राजस्व का नुकसान हो रहा है

केजरीवाल : दिल्ली की जनता से टैक्स के रूप में पैसे लेते हैं, उसे बिजली, पानी, स्वास्थ्य, शिक्षा के रूप में लौटा देता हूं. किसी के जेब में पैसा नहीं जा रहा है. लोगों का पैसा लोगों को मिल रहा है. 24 घंटे साफ पानी देने का वादा किया है. लोगों को 24 घंटे बिजली के साथ-साथ पानी भी मिलेगा. बीजेपी वालों के जेबें में पैसे नहीं जाते हैं इसलिए वे लोग ऐसी बात कर रहे हैं.

प्रश्न- मुफ्त की सौगातों से क्या जीत पाएंगे केजरीवाल

केजरीवाल : हम दिल्ली की जनता को मुफ्त में कुछ नहीं दे रहे हैं. दिल्ली की जनता हमें टैक्स देते हैं हम उसके विकास देते हैं. तो मुफ्त कहां है. जनता जिस उम्मीद से सरकार को टैक्स देती है, हम उसी को वापस कर देते हैं.

प्रश्न- आयुष्मान योजना दिल्ली में लागू क्यों नहीं हो सकती

केजरीवाल : आयुष्मान योजना का लाभ पूरे दिल्लीवासियों को नहीं मिलेगा. कुछ ही लोगों को मिलेगा. जिसके पास मोबाइल और मोटरसाइकिल भी है उसको इसका लाभ नहीं मिलेगा. लेकिन दिल्ली सरकार ने सभी दिल्ली वासियों को मुफ्त में इलाज करवा रही है. मुफ्त में ऑपरेशन हो रहे हैं. दवाइयां मिल रही है. अमीर गरीब देख के नहीं सभी को अच्छा स्वास्थ्य लाभ मिल रहा है.

प्रश्न- आपने जितने स्कूल बनाने का वादा किया था, उतना नहीं बनवाए

केजरीवाल : अमित शाह रोज दिल्लीवालों का अपमान करते हैं. हमने दिल्ली के सरकारी स्कूल में शिक्षा बेहतर किए हैं. सरकारी स्कूलों के नतीजे 96 प्रतिशत आए हैं. बीजेपी सरकारी स्कूलों का अपमान कर रही है. आज दिल्ली में बच्चों को अच्छी और सस्ती शिक्षा मिल रही है.

प्रश्न- दिल्ली के ट्रैफिक का समाधान क्या है

केजरीवाल : दिल्ली के अंदर ट्रैफिक बहुत हो गया है. जहां-जहां ट्रैफिक बढ़ा है उसकी लिस्ट बनाई जा रही है. इसकी लिस्ट एक एजेंसी बना रही है. इसको करीब 9 महीने लगेंगे. इसके बाद हम अमल करेंगे. सौ प्रतिशत ट्रैफिक का समाधान तो नहीं हो पाएगा, लेकिन इसमें काफी सुधार हो सकता है.

प्रश्न- आपकी सारी योजनाएं बीते 6 महीने में लागू हो रही है

केजरीवाल : ये हमारा काम है. जब चाहे तब लागू करें. पिछले एक साल में हमने तेजी से काम किए हैं. सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद हमारे कामों में तेजी आई है. अब एलजी के पास सिर्फ तीन फाइलें जाती हैं. बाकी फाइलें पर हम काम करते हैं. इसलिए कामों में तेजी आई है.

प्रश्न- आपने 15 लाख कैमरे लगाने का वादा किया था

केजरीवाल : हमने 15 लाख कैमरे लगाने का वादा कभी नहीं किया था. हमने ये कहा था कि दिल्ली के अंदर जितने कैमरे की जरूरत होगी हम उतना लगवाएंगे. 15 लाख का आंकड़ा अमित शाह के खोपड़ी से आया है. वे झूठ के फैक्ट्री हैं. झूठ पे झूठ बोलते हैं अमित शाह.

प्रश्न- शाहीन बाग पर क्या कहना चाहेंगे

केजरीवाल : बीजेपी नहीं चाहती है कि शाहीन बाग के धरने बंद हो, वहां के रास्ते खुले. अमित शाह को वहां जाना चाहिए. अमित शाह को रास्ता खुलवान चाहिए. केंद्र सरकार ने यह कानून लागू किया है उसे ही वहां जाकर उनलोगों से बात करनी चाहिए.

प्रश्न- प्रदूषण से दिल्ली त्रस्त है

केजरीवाल : दिल्ली के लिए यह गंभीर समस्या है. हालांकि दिल्ली में 25 प्रतिशत प्रदूषण कम हुए हैं. दिल्ली में अब जेनेटर नहीं चलते हैं. दिल्ली में हमने खूब पेड़ लगाए हैं. इसका फायदा हमें मिल रहा है. इस पर औऱ काम करने की जरूरत है.

प्रश्न- मुख्यमंत्री जब बीमार होते हैं तो बेंगलुरू चले जाते हैं

मुख्यमंत्री जब बीमार होते हैं तो बेंगलुरू चले जाते हैं, लेकिन जब दिल्ली की जनता बीमार होती है, तो मोहल्ला क्लिनिक जाती है. मैं पिछले 10 सालों से बेंगलुरू जाते हैं. मुझे मधुमेह की बीमारी है. मैं एक बार अन्ना हजारे को भी एकबार लेके गया था.

First Published: Jan 28, 2020 09:21:58 PM
Post Comment (+)

न्यूज़ फीचर

वीडियो