करप्शन के खिलाफ योगी आदित्यनाथ सरकार ने उठाया बड़ा कदम, 150 अधिकारियों के खिलाफ FIR दर्ज

| Last Updated:

लखनऊ:

यूपी में भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए गृह विभाग ने बड़ी कार्रवाई की है. सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर गृह विभाग ने 144 से ज्यादा भ्रष्टाचार के मामलों में करीब 150 भ्रष्ट अधिकारियों के खिलाफ FIR दर्ज करने के आदेश जारी किए है. ये सभी मामले उत्तर प्रदेश (UP) के विभिन्न जिलों में नगर निकाय में हुए भ्रष्टाचार, राशन और छात्रवृत्ति वितरण में हुई वित्तीय अनियमितताओं से जुड़े हुए है और पिछले 10 सालों से भी ज्यादा समय से लंबित थे.

लेकिन अब इन मामलों में FIR दर्ज करने के गृह विभाग के आदेश के बाद EOW अपने ही थानों में केस दर्ज कर वित्तीय अनियमितताओं की जांच करेगा और सभी आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई भी सुनिश्चित करेगा.

पढ़ें- योगी आदित्यनाथ के सामने बड़ी चुनौती- अफसरशाही को दुरूस्त करना!

गौरतलब है कि सीएम योगी ने 23 अगस्त को गृह विभाग की समीक्षा के दौरान राज्य स्तरीय सभी जांच एजेंसियों के 400 से ज्यादा लंबित मामलों पर नाराजगी जाहिर की थी और जल्द से जल्द इन सभी मामलों में कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए थे.

पढ़ें- योगी सरकार है अयोग्य, 50 साल नहीं 50 हफ्ते में सबक सिखाएगी जनताः अखिलेश यादव

सीएम के निर्देश पर ही मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक टास्क फोर्स गठित की गई है जो 2 महीने के तय समय मे राज्य की सभी जांच एजेंसियों EOW, विजिलेंस, सीबीसीआईडी और एंटी करप्शन के जरिए 400 से ज्यादा लंबित मामलों में कार्रवाई सुनिश्चित कराएगी.

गृह विभाग का ये आदेश इसी कड़ी में एक बड़ा कदम है और अब ये तय माना जा रहा है कि अपने रसूख के चलते कई साल तक भ्रष्टाचार के मामलों को लंबित रखने वाले आरोपी अधिकारियों पर कड़ी कार्रवाई देखने को मिलेगी.

First Published: