हैप्पी बर्थडे गूगल, कितनी आसान कर दी जिन्दगी, है ना!

| Last Updated:

नई दिल्ली:

कहते हैं कि दुनिया में इंटरनेट में क्रांति लाई है लेकिन सर्च इंजन गूगल ने महाक्रांति लाकर दे दी। पिछले 20 सालों में गूगल ने दुनिया की पूरी आबादी को एक नई सोच और दिशा दे दी। आज के दिन यानी 4 सितंबर 1998 को ही गूगल की स्थापना google.stanford.edu के नाम से हुई थी। इंटरनेट पर अपना वर्चस्व कायम करने की शुरुआत आज से 20 साल पहले लैरी पेज और सर्जी ब्रिन ने कर दी थी।

रिपोर्ट्स के मुताबिक अपने 15वें जन्मदिन पर गूगल ने खुद कहा था कि कंपनी को नहीं पता कि गूगल का असली जन्मदिन कब है। गूगल चार तारीखों में (7 सितंबर, 8 सितंबर, 26 सितंबर और 27 सितंबर) को अपना जन्मदिन मनाया है।

कैलिफोर्निया के स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में पीएचडी के छात्र रहे लैरी पेज और सर्जी ब्रिन ने अपने रिसर्च प्रोजेक्ट के लिए इसे बनाया था। गूगल (Google) के बारे में एक दिलचस्प बात यह है कि इसका नाम 'Googol' शब्द की गलत स्पेलिंग के कारण रखा गया।

गुगल के लिए डोमेन रजिस्ट्रेशन 15 सितंबर 1997 को हुआ था और यह कंपनी के रूप में 4 सितंबर 1998 को दुनिया के सामने आ गई। अभी यह दुनिया की सबसे ताकतवर कंपनी बन चुकी है। जिसके 85,000 से भी ज्यादा कर्मचारी हैं।

रोजमर्रा की जिंदगी का हिस्सा बन चुका यह गूगल अब आपके साथ ही चलता रहता है और आप भी अपनी हर एक छोटी से लेकर बड़ी चीजों के लिए गूगल पर ही आश्रित हो चुके हैं। हालांकि गूगल साल 2006 से 27 सितंबर को ही अपना जन्मदिन मनाता आ रहा है।

और पढ़ें : Facebook डेढ़ घंटे के लिए हुआ ठप्प, यूजर्स ने ट्विटर पर दिखाया गुस्सा

इस ब्रह्मांड के हर चीजों की जानकारी के लिए गूगल सेकंड में आपको जानकारी देता है। हर एक क्लिक पर किसी भी व्यक्ति को आसानी से जानकारी उपलब्ध हो जाना 20वीं और 21वीं शताब्दी की सबसे महान खोजों में ही है। गूगल के वर्तमान सीईओ सुंदर पिचई भारतीय ही हैं जो पिछले तीन साल से इस पद पर कार्यरत हैं।

First Published: