मोदी सरकार ने जनधन खाते में बढाईं ये 3 सुविधाएं, मिलेगा दोगुना फायदा

| Last Updated:

नई दिल्‍ली:

मोदी सरकार की पहल से खुले जनधन खाताधारकों के लिए सरकार ने बड़ी घोषणा की है। इस घोषणा के तहत इन खाताधाकरों को 3 सुविधाओं का विस्‍तार किया गया है। इसके चलते संकत के वक्‍त खाताधारकों को अब ज्‍यादा फायदा मिल सकेगा। देश में इस वक्‍त करीब 32.41 करोड़ जनधन खाताधारक हैं।

ओवरड्राफ्ट की सीमा दोगुनी की
जनधन खाते पर मिलने वाली ओवरड्राफ्ट की सीमा को बढ़ाकर 10,000 रुपए कर दिया गया है। अभी तक जनधन खाते के छह महीने तक ठीक से चलने के बाद 5,000 रुपए तक के ओवरड्राफ्ट की सुविधा दी जाती थी। साथ ही सरकार ने 2000 रुपए तक के ओवरड्राफ्ट के लिए सभी तरह की शर्त को हटा लिया है।

दुर्घटना बीमा हुआ 2 लाख रुपए का
सरकार ने 28 अगस्त के बाद खुलने वाले जनधन अकाउंट पर के लिए मिलने वाले रूपे डेबिट कार्ड पर मुफ्त दुर्घटना बीमा की सीमा को भी बढ़ाकर 2 लाख रुपए कर दिया है। अभी तक इस पर जनधन अकाउंट पर 1 लाख रुपए का मुफ्त दुर्घटना बीमा मिल रहा था।

उम्र सीमा बढ़ाई
सरकार ने बतया है कि अब जनधन खाताधारक ओवरड्राफ्ट सुविधा का लाभ 65 साल की उम्र तक ले सकेंगे। पहले यह उम्र सीमा 18 से 60 साल के बीच की थी। इस प्रकार 5 साल ज्‍यादा तक लोग इस सुविधा का लाभ ले सकेंगे।

और पढ़े : 2 लाख रुपए सस्‍ती पड़ेगी कार, लोन भी नहीं लेना होगा

अभी तक 30 लाख लोग ले चुके हैं जनधन पर ओवरड्राफ्ट की सुविधा

जनधन योजना के तहत देश में अब तक 32.41 बैंक अकाउंट खुल चुके हैं और इनमें 81,200 रुपए जमा हुए हैं. साथ ही 30 लाख खाताधारक अपने जनधन खाते पर ओवरड्राफ्ट सुविधा का लाभ उठा चुके हैं. जेटली ने यह भी कहा कि जनधन योजना के खाताधारकों में 53 फीसदी महिलाएं हैं और 59 फीसदी खाते ग्रामीण और अर्धशहरी इलाकों में खुले हैं.

जानें फायदे एक नजर में
– किसी भी बैंक में जनधन खाता खोला जा सकता है.
– ब्याज की दर बैंकों में मौजूद सेविंग्स अकाउंट ब्याज दर के अनुरूप
– रूपे डेबिट कार्ड
– कोई मिनिमम मंथली बैलेंस अनिवार्यता नहीं
– नई घोषणा के बाद रूपे कार्ड पर 2 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा, प्रीमियम का भुगतान नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCIL) की ओर से
– छह माह तक खाते के सुचारू रूप से चलने के बाद 10,000 रुपये ओवरड्राफ्ट की सुविधा
– पेंशन व सरकारी योजनाओं की सब्सिडी प्राप्ति की सुविधा
– भारत में कहीं भी आसानी से मनी ट्रांसफर 

First Published: