Sanju Movie Review: 'देश के गद्दार' से 'मुन्ना भाई' बनने तक का सफर, संजय दत्त की परछाईं बने रणबीर कपूर

| Last Updated:

मुंबई:

फिल्म स्टार संजय दत के जीवन पर आधारित फिल्म 'संजू', जिसका दर्शकों को लंबे समय से इंतज़ार था, आख़िरकार आज (शुक्रवार) रिलीज़ हो गई। 

'पीके', '3 इडियट्स', 'मुन्नाभाई एमबीबीएस' और 'लगे रहो मुन्नाभाई' जैसी ब्लॉकबस्टर फिल्म देने वाले राजकुमार हिरानी ने इस फ़िल्म का निर्देशन किया है। हिरानी अपनी साफ-सुथरी फिल्मों के लिए जाने जाते हैं और मूवी के आख़िर में हमेशा एक सकारात्मक संदेश छोड़ देते हैं।  

'संजू' में भी कुछ ऐसा ही हुआ है। इस फिल्म में स्टार परिवार से ताल्लुक रखने वाला एक शख़्स पहले अपनी ज़िदंगी बर्बाद करता है और बाद में फिर अपनी ही ग़लतियों से सबक लेते हुए एक नई शुरुआत करता है। 

'संजू' फिल्म में संजय दत्त का किरदार निभाते हुए रणबीर कपूर ने अपने करियर का सबसे बेहतरीन परफॉर्मेंस दिया है।

ये भी पढ़ें: #Flashback: हेयरस्टाइल से बॉडी बिल्डिंग तक, संजू ने सेट किए थे ट्रेंड

ये है फिल्म की कहानी

फिल्म की कहानी शुरू होती है, समुद्र के एक सीन से। संजय दत्त को 5 साल जेल की सजा सुनाई जाती है। इसी बीच वह अपनी लाइफ पर बुक लिखने के लिए मशहूर राइटर विनी (अनुष्का शर्मा) से मिलते हैं और यहीं से अपनी कहानी सुनाते हैं।

सुनील दत्त (परेश रावल) और नरगिस दत्त (मनीषा कोइराला) के घर में संजू (रणबीर कपूर) का जन्म होता है। उन्हें बचपन में किस वजह से बोर्डिंग स्कूल भेजा गया, फिर उन्हें ड्रग्स की लत कैसे लगी, नरगिस की हालत बिगड़ना और दोस्त कमलेश (विक्की कौशल) से मुलाकात के बाद मस्ती करना, रॉकी फिल्म में डेब्यू, मां का निधन, फिल्में ना मिलने पर मानसिक तनाव, रिहैब सेंटर जाना, जेल के चक्कर लगाना और फिर अपने माथे से 'देशद्रोही' न होने का दाग साफकर नई जिंदगी की शुरुआत करना... । इन सभी परिस्थितियों को बखूबी से पर्दे पर उतारा गया है।

दमदार एक्टिंग ने जीता दिल

इस फिल्म में शुरुआत से ही रणबीर कपूर की एक्टिंग की तारीफ की जा रही है। उन्हें स्क्रीन पर देखकर आपको संजय दत्त की परछाई नजर आएगी। हूबहू हेयरस्टाइल, बात करने और चलने का तरीका, मस्त-मौला अंदाज, डर, जिल्लत... रणबीर ने अपने चेहरे से सब कुछ बयां किया है। परेश रावल, विक्की कौशल ने भी शानदार काम किया है। इनके अलावा अनुष्का शर्मा, सोनम कपूर, मनीषा कोइराला, दिया मिर्जा, करिश्मा तन्ना और जिम सरभ जैसे कलाकारों ने भी उम्दा एक्टिंग की है।

राजकुमार का कमाल का डायरेक्शन

डायरेक्शन की बात करें तो राजकुमार हिरानी की फिल्में अलग हटकर होती हैं। वह गंभीर मुद्दों को मजाकिया अंदाज में पेश करने का टैलेंट रखते हैं। 'संजू' में भी उन्होंने संजय की जिंदगी के उतार-चढ़ाव को बिना बनावट के पेश किया है। वहीं, अभिजात जोशी ने खूबसूरती से सीन्स लिखे हैं, जिसे देखकर आप रोएंगे और हसेंगे भी।

ये भी पढ़ें: #Sanju: रणबीर और संजय दत्त को लेकर खुला राज़, रिलीज़ से पहले लीक हुई फुटेज

फिल्म के गानें और कमियां

'संजू' में कहानी को आगे कहने के लिए गानों का सहारा लिया गया है। 'मैं बढ़ियां तू भी बढ़ियां', 'रूबी-रूबी' और 'कर हर मैदान फतह' जैसे गानें आपको अच्छे लगेंगे। फिल्म की कमी की बात करें तो इसकी लंबाई थोड़ी ज्यादा है। फिल्म के फर्स्ट हाफ को थोड़ा छोटा किया जा सकता था। इसके अलावा मूवी में कमी निकालना नामुमकिन-सा है।

संजय दत्त एक ऐसा चेहरा है, जो हमेशा से पब्लिक में रहा है। आप उनकी जिंदगी के बारे में जितना जानते हैं, जैसे- मां नरगिस का निधन, ड्रग्स की लत, विदेश में इलाज और आतंकवादी होने का ठप्पा, यह सब कुछ आपको फिल्म में देखने को मिलेगा। अब आप सोच रहे होंगे कि जब सब पता है तो मूवी देखने क्यों जाएं?

इस सवाल का जवाब हैं- राजकुमार हिरानी। जी हां, उन्होंने जिस तरीके से संजू की जिंदगी को दर्शकों के सामने पेश किया है, वो काबिले तारीफ है। संजय की लाइफ में मां-पिता, बहनों और दोस्तों का कितना बड़ा योगदान रहा है। कैसे वह हर परीक्षा को पास करते चले गए... यह सब जानने के लिए आपको फिल्म देखने जाना ही पड़ेगा।

यहां देखें फिल्म का ट्रेलर:

ये भी पढ़ें: PICS: आकाश-श्लोका की प्री-इंगेजमेंट पार्टी, प्रियंका-निक और शाहरुख-गौरी समेत ये सितारे हुए शरीक

First Published: