सबसे बड़ा मुद्दा : क्या सीएम योगी आदित्यनाथ की सख्ती से गन्ना किसानों को मिलेगा बकाया?

| Last Updated:

लखनऊ:

उत्तर प्रदेश में गन्ना किसानों का मुद्दा हमेशा चर्चा का विषय रहता है। गन्ना उत्पादन, उसे पैदा करने वाले किसान और चीनी मिलों पर गन्ना किसानों के बकाये को लेकर प्रदेश की राजनीति हमेशा गरमायी रहती है। इसी को लेकर अब सीएम योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को हिदायत दी है कि 15 अक्टूबर तक प्रदेश के सभी गन्ना किसानों का बकाया भुगतान करा दी जाय और ऐसा नहीं हुआ तो इसकी गाज अधिकारियों पर गिरेगी। लेकिन क्या वाकई योगी आदित्यनाथ की सख्ती से चीनी मिल मालिक भुगतान के लिए तैयार होंगे? इसी मुद्दे पर आज अपने पसंदीदा चैनल न्यूज स्टेट (उत्तर प्रदेश/उत्तराखंड) पर शाम 08:30 बजे देखिए 'सबसे बड़ा मुद्दा' में बड़ी बहस और आप भी ट्विटर और फेसबुक के जरिए अपने सवालों को उठा सकते हैं।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने इस दौरान किसानों को गन्ने की परंपरागत खेती छोड़कर और भी फसलों की खेती करने की सलाह दी और अब उनके इसी बयान को लेकर विपक्ष यूपी सरकार पर गन्ना किसानों की अनदेखी का आरोप भी लगा रहा है।

उत्तर प्रदेश की राजनीति में गन्ने की हैसियत सालों से बरकरार है। लेकिन गन्ना किसानों की हालत और उनका बकाया हमेशा सरकारों के लिए गले की फांस और विपक्ष के लिए बड़ा मुद्दा रहता है चाहे प्रदेश में किसी भी पार्टी की सरकार हो।

और पढ़ें : सबसे बड़ा मुद्दा : क्या योगी आदित्यनाथ की चेतावनी के बाद सुधरेगी यूपी की अफसरशाही?

ऐसे में 2019 से पहले केंद्र और यूपी सरकार भी भुगतान के जरिये गन्ना किसानों को अपने पाले में लाने की कोशिश कर रही है। यही वजह है कि सीएम ने अब भुगतान के लिए डेडलाइन तय कर दी है। लेकिन क्या सिर्फ डेडलाइन से गन्ना किसानों को उनका बकाया मिल जाएगा? जुड़िए न्यूज स्टेट के साथ रात 08:30 बजे अनुराग दीक्षित के साथ।

First Published: