बड़ा सवाल : तेल की कीमतों से परेशान जनता, क्या सरकार की गणित में फंसे आम लोग?

| Last Updated:

नई दिल्ली:

देश में लगातार बढ़ रही पेट्रोल और डीजल की कीमतों से आम जनता परेशान है लेकिन इससे निपटने के लिए सरकार कोई कदम उठाते नहीं दिख रही है। पहले से ही देश में महंगाई से जूझ रही आम जनता पेट्रोल और डीजल की कीमतों में हो रही बेतहाशा वृद्धि की मार कब तक झेल पाएगी? आज (मंगलवार) भी दिल्ली में पेट्रोल 14 पैसे की बढ़ोतरी के साथ 80.87 रुपये प्रति लीटर और डीजल 14 पैसे की बढ़ोतरी के साथ 72.97 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है। लेकिन बड़ा सवाल यह है कि तेल की बढ़ती कीमतों पर केंद्र सरकार चुप्पी क्यों साध रखी है?

इसी मुद्दे पर आज आपके लोकप्रिय चैनल न्यूज नेशन पर शाम पांच बजे खास शो 'बड़ा सवाल' में बहस होगी। इस बहस में आप भी ट्विटर और फेसबुक के जरिए हिस्सा लेकर एंकर अजय कुमार और मेहमानों से अपने सवाल पूछ सकते हैं।

इस महत्वपूर्ण मुद्दे पर बहस के लिए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय प्रवक्ता के के शर्मा हमारे साथ जुड़ेंगे और इस पर अपनी राय देंगे। वहीं मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस की तरफ से चरण सिंह सापरा, बिहार में एनडीए की सहयोगी जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) प्रवक्ता राजीव रंजन जुड़ेंगे।

आम लोगों के हितों से जुड़े इस मुद्दे पर अपनी राय के लिए समाजवादी पार्टी (सपा) प्रवक्ता अनुराज भदौरिया, अर्थशास्त्री यामिनी अग्रवाल और अमिटी यूनिवर्सिटी में अर्थशास्त्र विभाग के प्रमुख प्रोफेसर अखिल स्वामी अपनी राय रखेंगे।

पेट्रोल-डीजल की कीमत को लेकर परेशान जनता सरकार की गणित से उलझती जा रही है। इसलिए इस मुद्दे पर आप भी आज के शो में शामिल मेहमानों और विशेषज्ञों से राय सवाल पूछ सकते हैं। @NewsStateHindi के ट्विटर हैंडल और फेसबुक पेज पर ट्वीट पूछिए अपने सवाल।

और पढ़ें : शिवपाल ने भतीजे अखिलेश की तुलना कौरवों से की, खुद को पांडव बताकर कहा सीएम पद की लालसा नहीं

पेट्रोल-डीजल के दाम में बेतहाशा बढ़ोतरी को लेकर सोमवार को कांग्रेस समेत कई विपक्षी दलों ने पूरे देश में भारत बंद किया। बता दें कि सरकार लगातार तेल की कीमतों में वृद्धि के लिए अंतरराष्ट्रीय कारकों को जिम्मेदार बताती रही है, जबकि अंतरराष्ट्रीय बाजारों में पिछले कुछ महीनों में कच्चे तेल के दामों में गिरावट आई है।

First Published: