पश्चिम बंगाल में नहीं दिखा भारत बंद का असर, जन जीवन सामान्य

| Last Updated:

नई दिल्ली:

कांग्रेस और विपक्षी पार्टियों द्वारा तेल की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ बुलाए गए राष्ट्रव्यापी बंद का पश्चिम बंगाल में कोई खास असर देखने को नहीं मिल रहा है और यातायात सुचारू रूप से जारी है। सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) ने पहले हड़ताल का विरोध किया था और कहा था कि राज्य सरकार लोगों के जीवन को प्रभावित होने से बचाने के लिए हरसंभव कोशिश करेगी।

कोलकाता में अधिकतर दुकानें और बाजार खुले हैं। मेट्रो सेवा भी सामान्य रूप से जारी है। बड़ी संख्या में सार्वजनिक और निजी बसें शहर के श्यामबाजार, एस्पलेनेड क्रॉसिंग, जादवपुर और रूबी क्रॉसिंग जैसे मुख्य स्थलों पर परिचालित हो रही हैं।

पूर्वी रेलवे के अंतर्गत सियालदाह और हावड़ा सेक्शन में ट्रेन सेवा अस्थाई रूप से बाधित हुई क्योंकि हड़ताल समर्थकों ने जादवपुर और श्रीरामपुर स्टेशनों पर रेल परिचालन को अवरुद्ध कर दिया था हालांकि उन्हें आधे घंटे के भीतर पुलिस द्वारा हटा दिया गया।

इसे भी पढ़ेंः भारत बंद में हिस्सा लेने पहुंचे अखिलेश यादव , बोले - चीन को फायदा पहुंचाने के लिये लागू की गई नोटबन्दी और जीएसटी

अभी तक किसी अप्रिय घटना की खबर नहीं है। कांग्रेस ने सोमवार को केंद्र में बीजेपी की अगुवाई वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन सरकार के खिलाफ ईंधन की कीमत में भारी वृद्धि के खिलाफ बंद का आह्रान किया है।

First Published: