हरियाणा में मॉब लिंचिंग का शिकार एक और युवक, मवेशी चुराने के शक पर पीट पीटकर हत्या

| Last Updated:

पलवल:

सुप्रीम कोर्ट के कड़े निर्देश और केंद्र सरकार की गाइडलाइंस के बावजूद मॉब लिंचिंग (भीड़ हत्या) की घटना थमने का नाम नहीं ले रही है। अब हरियाणा के पलवल में मवेशी चुराने के शक पर भीड़ ने एक व्यक्ति की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। घटना 2 अगस्त और 3 अगस्त के मध्यरात्रि की है जो पलवल के बेहरोला गांव में हुई है।

बताया जा रहा है कि गांव के लोगों ने ही उस व्यक्ति को पीट पीटकर मार डाला था। व्यक्ति के शव को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया है। उस व्यक्ति के साथ दो और शख्स थे जो घटनास्थल से फरार हो गए।

मॉब लिंचिंग की इस घटना में शामिल गांव के ही तीन भाईयों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। जिसमें एक को गिरफ्तार किया गया है।

पुलिस मामले की हर तरीके से पड़ताल कर रही है।

बता दें कि पिछले महीने ही राजस्थान के अलवर में गो तस्करी के आरोप पर भीड़ ने रकबर नाम के शख्स की हत्या कर दी थी। जिसके बाद राज्य और केंद्र की बीजेपी सरकार को तीखी आलोचनाओं का सामना करना पड़ा था।

और पढ़ें: मुजफ्फरपुर केस: तेजस्वी यादव ने CM नीतीश कुमार को लिखा खुला पत्र, चुप्पी पर निशाना

वहीं जून में ही महाराष्ट्र के धुले में बच्चा चोरी के शक पर भीड़ ने पांच लोगों की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। वहीं असम में भी बच्चा चोरी के अफवाह पर ही दो लोगों की भीड़ द्वारा हत्या कर दी गई थी।

मॉब लिंचिंग की बढ़ती घटनाओं पर सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद 23 जुलाई को केंद्र सरकार ने सख्त कदम उठाते हुए दो उच्चस्तरीय कमेटी गठित की थी जो इन घटनाओं से निपटने और कानूनी ढांचा तैयार करने पर 4 हफ्तों के अंदर सुझाव देगी।

First Published: