आखिर कोलकाता में नवजात के शव कैसे बन गए ड्राई आइस, पढ़ें 5 अनसुलझे सवाल

| Last Updated:

नई दिल्ली:

पश्चिम बंगाल की राजधानी कोलकाता से सटे हरिदेवपुर में कथित तौर पर 14 नवजात बच्चों का शव मिलने का मामला सामने आने के बाद मामला लगातार उलझता जा रहा है। पहले इसे नवाजत के उत्तकों और अंगों की बात सामने आई थी लेकिन फिर इसे मेडिकल गार्वेज बता दिया गया। घटना की जांच में जुटी पुलिस ने इस गार्वेज को ड्राई आइस बता दिया। हालांकि अभी तक पूरी जांच रिपोर्ट सामने नहीं आई है।

पुलिस ने प्लास्टिक बैग्स से 14 बच्चों का शव मिलने वाली रिपोर्ट को खारिज करते हुए बताया कि इन बैग्स से नवजात शिशुओं के शव या भ्रूण नहीं मिले हैं, इसमें से केवल ड्राई आइस मिली है।

रविवार को यह खबर सामने आई थी कि कोलकाता के हरिदेवपुर इलाके के एक प्लॉट में प्लास्टिक बैग्स से 14 नवजात के अंग मिले हैं। इस खबर के आने के बाद मामला गरमा गया। प्लास्टिक बैग में जो मिली है उसे जांच के लिए लैब में भेज दिया गया है लेकिन कई अलग अलग बयान से कई सवाल खड़े हो गए हैं।

ये हैं अनसुलझे सवाल

1. आखिर इस मामले में सरकार ने एक्टिव रोल क्यों नहीं निभा पाया

2. पहली नजर में नवजात के शव और ड्राई आईस में अंतर क्यों नहीं कर पाई पुलिस

3. जांच रिपोर्ट आने के पहले ही पुलिस क्यों बता रही है ड्राई आइस

इसे भी पढ़ेंः कोलकाता में 14 नवजात बच्चों का शव नहीं, प्लास्टिक बैग्स में केवल मेडिकल वेस्ट: पुलिस

4. बिना जांच रिपोर्ट आए पार्षद ने कैसे घोषित कर दिया मेडिकल गार्वेज

5. आखिर इस मामले की जांच में क्यों हो रही है देर।

First Published: