कोलकाता पुल हादसा : मरने वालों की संख्या बढ़कर हुई 3, सीएम ममता ने कहा किसी को नहीं बख्शेंगे

| Last Updated:

कोलकाता:

दक्षिण कोलकाता के माझेरहाट में पुल ढहने की घटना में जान गंवाने वाले एक और शख्स का शव गुरुवार को बरामद किया गया। अब दुर्घटना में मरने वालों की संख्या तीन हो गई है। पुलिस ने कहा कि बचाव कार्य बीती रात जारी रहा और शव सुबह करीब 6.30 बजे बरामद किया गया। पुलिस ने कहा, 'यह शव मलबे के नीचे फंस गए गौतम मोंडोल का है।'

उन्होंने संदेह जताया कि वह उन दो मजदूरों में एक हैं जो मंगलवार दोपहर बाद पुल के ढहने के बाद से लापता थे। बचाव दल ने बुधवार देर रात प्रणब डे का शव बरामद किया था।
दोनों पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले से हैं। राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) के एक अधिकारी ने कहा, 'बचाव कार्य समाप्त हो चुका है।'

हादसे को लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि जो शुरुआती रिपोर्ट PWD के मुख्य इंजीनियर की तरफ से दिया गया है उसमें बताया गया कि मेट्रो का निर्माण कार्य की वजह से पुल की नींव कमजोर हुई। सीएम बनर्जी ने कहा इसमें जिसकी भी गलती है उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी और किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा।

Primary report has been given by PWD chief engineer which suggests the bridge got affected due to metro construction work. Strong action will be taken against those found guilty, no one will be spared: West Bengal CM Mamata Banerjee on #MajerhatBridgeCollapse pic.twitter.com/HZoM1SR4Hu

— ANI (@ANI) September 6, 2018

इस दुर्घटना में करीब 19 लोग घायल हुए और इनमें से ज्यादातर को अस्पताल से छुट्टी मिल गई है। दो लोगों की स्थिति गंभीर बनी हुई है। राज्य सरकार ने मृतकों के प्रत्येक परिवारों को 5-5 लाख रुपये रुपये मुआवजा देने जबकि गंभीर रूप से घायल प्रत्येक व्यक्ति को एक-एक लाख रुपये देने की घोषणा की है।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को दुर्घटनास्थल का दौरा किया। दुर्घटना की जांच एक उच्च स्तरीय समिति करेंगी जिसकी अगुवाई राज्य के मुख्य सचिव मलय डे करेंगे। ममता ने कहा कि मंगलवार को 54 साल पुराने पुल के ढहने की घटना में मारे गए सौमेन बाग के परिवार को पहले ही मुआवजे का चेक भेजा चुका है।

First Published: